सजने लगे शहर के मंदिर: अभेद सुरक्षा व्यवस्था के बीच काली पल्टन मंदिर में जलाभिषेक करेगे भक्त लगभग 2 लाख भक्तों के आने की उम्मीद: डाॅ. बंसल

0
189

किया रूट डायवर्जन, सुबह 4ः30 बजे से चढ़ेगा जल,14 को व्रत रखना होगा शुभ

मेरठ 12 फरवरी। महाशिवरात्रि पर्व 13 को मनाया जायेगा या 14 को यह संशय लगभग समाप्त हो रहा है क्योकि शहर के प्रमुख मंदिरों औघड़नाथ मंदिर सहित 14 फरवरी को भगवान शिव पर सुबह 4ः30 बजें से रात्रि तक चढ़ाया जायेगा पवित्र जल। इस संदर्भ में शहर की यातायात व्यवस्था बनी रहे इसके लिए उच्च अधिकारियों से विचार विमर्श कर यातायात प्लाॅन तय कर दिया गया है।

गत दिवस प्रातः 11 बजें कालीपल्टन मंदिर कमेटी कार्यालय में एडीएम सिटी श्री मुकेश चंद्र की अध्यक्षता में मंदिर समिति के पदाधिकारियों व सदस्यों तथा अफसरों की एक बैठक हुई जिसमें एसपी सिटी श्री मानसिंह चैहान, एएसपी कैंट सतपाल, सीईओ ट्रैफिक श्री राम अर्ज, इंस्पेक्टर सदर प्रशांत कपिल आदि मौजूद रहे तथा सुरक्षा के लिए क्या क्या व्यवस्थाएं की जायेगी यह तय किया गया। जिसके अनुसार मंदिर पर ड्रोन कैमरों से नजर रखी जायेगी। बाहर बेरी कैंटिग लगभग हो चुकी है तथा सीसीटीवी कैमरे लगाये गये है। मंदिर के आसपास के यातायात को बदलने का प्लाॅन भी तय हो चुका है। जलअभिषेक शुरू होने से पहले ही डाॅग स्कवायड सहित सर्च अभियान चलाया जायेगा तथा 13 फरवरी को ही मंदिर और उसके आसपास सुरक्षा बल तैनात किये जायेगे। मंदिर समिति के अध्यक्ष डाॅ. महेश बसंल के अनुसार लगभग 2 लाख शिव भक्तों द्वारा जल अभिषेक किया जायेगा और उसी को दृष्टिगत रख तैयारियां की जा रही है। मंदिर पर फूलों और बिजली की झालरों की सजावट की जा रही है। पूर्व की भांति मंदिर में काॅवड़ियों की चिकित्सा सुविधा उपलब्ध होगी। पुलिस कंट्रोल रूम तथा अधिकारियों आदि के बैठने हेतु मंदिर के सामने कैंप लगाये जा रहे है। गंगाजल की उपलब्धता शिवभक्तों के लिए की जा रही है। एक प्रश्न के उतर में डाॅ. बंसल ने बताया की श्री राधा कृष्ण मंदिर के पास एलईडी रोशनी के लिए लगायी जा रही है। डाॅ. बंसल का कहना है की इस अवसर पर 5 आरती होगी 14 फरवरी की रात्रि को 11 और 3 बजें आरती की जायेगी। तथा शिव भक्तों का जल सुविधा जनक रूप से चड़वाने के लिए 25 सदस्य मंदिर कमेटी और 50 सहयोगी सदस्य निरंतर सक्रिय रहेगे। मुख्य रूप से मंदिर गेट और गर्भ गृह में सुरक्षा के पूर्ण इंतजाम किये गये है। कांवड़ियों के वेश मे मौजूद रहेगे पुलिसकर्मी एडीएम सिटी श्री मुकेश चंद्र ने इस संदर्भ में पूछे गये एक प्रश्न के उतर में बताया की मंदिर के सामने नही लगेगी दुकानें।

भगवान शिव का अभिषेक सिर्फ गंगाजल से किया जायेगा। दुध शहद गन्ने का रस आदि भक्त नही उपयोग कर पायेगे। मंदिर के मुख्य पुजारी श्रीधर त्रिपाठी के अनुसार महाशिव रात्रि पर 10 सालों के बाद ऐसा विशेष योग बना है।

सुरक्षा व्यवस्था बनाये रखने के लिए मंदिर में पुलिस कंट्रोल रूम बनाया जा रहा है यहां 5 थाना प्रभारी, 10 उपनिरीक्षक, 2 महिला उपनिरीक्षक, 50 कांस्टेबिल, 20 महिला कांस्टेबिल तथा 2 प्लाटून पीएसी मौजूद रहेगी।

एसपी ट्रैफिक संजीव वाजपेयी ने बताया कि टैंक चैराहा से माल रोड होकर एवं जादूगर चैराहा से सोफिया स्कूल की ओर मुड़कर रजबन और हनुमान चैक पहुंचने वाले वाहनों को रोक दिया जाएगा। नैन्सी चैराहा सर्कलर रोड, श्री बाला जी मंदिर मोड़ वेस्ट एंड रोड, मिलिट्री अस्पताल वेस्ट एंड रोड आर्मी एरिया से रूट डायवर्ट कर दिया है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × two =