युद्ध स्तर पर हिंडन की सफाई योजना के लिये कमिश्नर ने शुरू किया अभियान निर्मल हिंडन, कल कल हिंडन से जुड़ने की मंडलायुक्त ने की अपील हिंडन कोष में मदद को आगे आएं लोग, वृद्ध स्तर पर होगा वृक्षारोपण

0
196

मेरठ 22 जुलाई। मेरठ, हापुड़, गाजियाबाद, बुलंदशहर, मु.नगर आदि जनपदों के नागरिकों को स्वच्छ वातावरण और ताजी हवा तथा शुद्ध पानी उपलब्ध कराने के दृष्टिकोण से हिंडन नदी को साफ सुथरा बनाने के लिये प्रयासरत मेरठ मंडलायुक्त डा. प्रभात कुमार द्वारा इस संदर्भ में एक समिति का गठन किया गया है। जिससे हर क्षेत्र में सक्रिय सेवाभावी नागरिक जिस तरह भी हो सके निर्मल हिंडन कल कल योजना से जुड़कर अपना पूर्ण सहयोग दें।

आज दिन में साढे बारह बजे मेरठ मंडलायुक्त कार्यालय के सभागार में कमिश्नर की अध्यक्षता और इसके लिये बनी समिति के सचिव सिंचाई विभ्ज्ञाग से संबंध एचएन सिंह तथा प्रमुख सदस्य जल संग्रह योजनाओं से जुड़े रमन त्यागी की उपस्थिति में एक बैठक हुई जिसमे मंडलायुक्त द्वारा बडे ही विस्तार से योजना के बारे में बताते हुए कहा गया कि हिंडन को निर्मल और स्वच्छ बनाने के लिये इसके किनारे बसे गांवों के प्रधानों व जागरूक नागरिकों को इस काम में सक्रिय किया जाएगा। तथा वृक्षारोपण कराकर उसके रखरखाव की जिम्मेदारी भी उन्हे सौंपी जाएगी।

मेरठ मंडलायुक्त डा. प्रभात कुमार ने बताया कि निर्मल हिंडन योजना के लिये एक फंड भी स्थापित किया गया है जिसमें जीडीए और एमडीए सहित विकास से संबंध विभागों द्वारा पूर्ण सहयोग दिये जाने का आश्वासन दिया गया है। तथा जो भी मीडियाघराना, उद्योगपति, व्यापारी, समाजसेवी संगठन आदि इसमे आर्थिक और व्यक्तिगत सहयोग करना चाहे तो उनका स्वागत है। और वो उसमे मदद करना चाहते हैं तो उन्हे योजना के बारे बता दी जाएगी और उसके माध्यम से वो कर सकते हैं सब तरह से सहयोग।

उन्होंने कहा कि हर रविवार इस योजना को बढ़ावा देने के लिये हिंडन डें मनाया जाएगा तथा इस दिन आम नागरिकों को जागरूक करने और इसमे सहयोग देने के लिये प्रेरित किया जाएगा और समझाने का काम किया जाएगा कि स्वच्छ हिंडन होने से कितना फायदा होगा। और इसके लिये सबसे सहयोग लिया जाएगा तथा नमानी गंगे योजना से जुडे़ प्रमुख अधिकारियों ने भी सहयोग का आश्वासन दिया है। एक प्रश्न के उत्तर में डा. प्रभात कुमार ने बताया कि काली नदी सहित हिंडन से संबंध सभी जिलों के नाले नालियों की सफाई का काम प्रमुखता से कराया जाएगा। तथा उसमे कूड़ा या किसी भी प्रकार की गंदगी डालने वालों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई की जाएगी।

एक अन्य प्रश्न के उत्तर में उनका कहनाथा कि यह भी पता लगाया जा रहा है कि हिंडन कहां से चलकर कहां तक पहुंच रही है। योजना में किसी भी प्रकार की गड़बड़ न हो इसके लिये नियम बनाने के साथ साथ अलग अलग लोगों के गु्रप बनाए जाएंगे ओर पूरे कार्य की समीक्षा के लिये भी माॅनटरिंग कमेटी गठित की जाएगी जिससे कहीं भी कोई गडबड का अंदेशा न रहें। शासन व सरकार के साथ साथ आम नागरिकों को जहां भी रहें वहां हर सुविधा और साफ महौल उपलब्ध कराने के लिये प्रयासरत रहें। कमिश्नर प्रभात कुमार का कहना था कि हम हर चीज के लिये सरकार के आदेशों और माननीय न्यायालय द्वारा दियेे जाने के निर्देशों का इंतजार क्यों करे उससे पहले ही हम रचनात्मक रूख अपना लें तो हिंडन नदी की सफाई के साथ ही चलाए तो वो जनहित में होगा।

उन्होंने बताया कि इस योजना को चलाने के लिये कमिश्नरी कार्यालय में ही इसका आॅफिस बनाया जाएगा। और इस योजना को फीता काटने या बुके भेंट करने और कालीन आदि बिछवाने से दूर रखा जाएगा। मैंने सभी जिलाधिकारियों को कहा है कि वो गुलदस्ते आदि के चक्कर में न पउकर अगर देना चाहे तो एक फूल बहुत है सम्मान के रूप में। लेकिन फिजुल खर्चाें के बजाए उस पर व्यय होने वाला पैसा नदी की सफाई में लगाए तो बेहतर होगा। एक अच्छी जनहित की योजना पर आज जनजागरण हेतु पत्रकारों को बुलाकर कमिश्नर द्वारा दी गई जानकारी के दौरान उन्होंने बताया कि हिंडन की सफाई से संबंध पूरा प्लान तैयार कर लिया गया है बरसात का पानी ज्यादा से ज्यादा उसमे पहुंचे इसके साथ ही जो पानी कहंीं बचेगा वो हिंडन में डलवाने का प्रयास किया जाएगा जिससे यह साफ बनी रहें। और निर्मल हिंडन कल कल योजना वास्तविक रूप ले सकें।

उन्होंने कहा कि जो भी चाहे इस योजना से जिस रूप में भी चाहे जुड़ सकता है। इसके लिये फंड की आवश्यकता पडेगी। इसलिये मीडिया गु्रप जिस प्रकार अन्य मामलों में धनसंग्राह करते हैं मदद के लिये इस योजना में भी सहयोग दें।
उन्होंने बताया कि शीघ्र ही इस बारे में एक कार्यशाला भी आयोजित करने जागरूकता के लिये। और हम कोई कमी किसी भी स्तर पर इस काम में नहीं रखेंगे। वार्ता के दौरान सूचना अधिकारी आशुतोष चंदोला भी मौजूद थे।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × five =