संदीप ब्रार के गीतों पर लोहड़ी उत्सव में खूब नाचे दर्शक

0
90

मेरठ 15 जनवरी। कैंट बोर्ड के पार्षद विपिन सोढी एडवोकेट दुर्गेश गुलाठी द्वारा गठित पंजाबी समाज मेरठ द्वारा एडवोकेट सपन सोढ़ी के सहयोग से गत रात्रि को वेस्ट एंड रोड स्थित जीटीबी स्कूल में लोहड़ी उत्सव का शानदान आयोजन किया गया। शाम सात बजे से शुरू हुआ उत्सव देर रात तक चलता रहा। धार्मिक उत्सव के मुख्य अतिथि असम के राज्यपाल महामहिम जगदीश मुखी जी की गरिमामय उपस्थिति सहित श्री दर्शन लाल अरोड़ा संघ संचालक पउप्र मेरठ, सीसीएसयू के कुलपति प्रोफेसर एनके तनेजा, विनोद भारती महानगर संघ संचालक, समाज सेवी सतीश सहानी आदि के द्वारा तालियों की गड़गड़ाहट के बीच पूर्व महापौर हरिकांत अहलुवालिया उदघाटन किया गया। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में राजवीर सिंह, विकास ,राजीव खन्ना, प्रदीप मल्होत्रा, अवीनाश आदि विशेष रूप से मौजूद रहे।
सांसद राजेंद्र अग्रवाल महिमहिम राज्यपाल जगदीश मुखी आदि को प्रतीक चिंह देकर सम्मानित किया गया। श्रीमति अमरजीत कौर, श्रीमति मेहर सलवान, अंजू खन्ना, रिमा सरीन आदि द्वारा दीप प्रज्वजलन के बाद लोहड़ी जलाई गई । तत्पश्चात मशहूर पंजाबी सिंहगर संदीप ब्रार के गीतों ने उपस्थितिों को नाचने के लिये मजबूर कर दिया। उत्साह से भरे दर्शक मंच पर पहुंच गए और डांस करने के अतिरिक्त सेल्फी भी खूब ली।
संदीप बंरार ने मेरठ के युवाओं की खुलकर तारिफ की तो गौरा न इश्क देखा तेरी दोस्ती ने आदि गानों से वो समां बांधा जिसके चलते दर्शक आखिर तक जमे रहे। संदीप बरार ने यह कहकर की मुंडो और कुड़ियों में सेल्फी लेने का खासा जोश है इसलिये समारोह का नाम बदलकर सेल्फी नाईट रख लेते हैं।
आयोजन अत्यंत सफल रहा। जिसमे अध्यक्ष सतीश सहानी, मंच संचालक एसके सूरी, पंजाबी समाज के संस्थापक एडवाकेट विपिन सोढी, एडवोकेट सपन सोढी, अमर जीत कौर, अंजू खन्ना, दुर्गेश गुलाटी, सरदार हरविंद्र सिंह, राकेश बाठला, तरूण चोपड़ा, संरक्षक सीएल रामदास एडवोकेट, सरदार नानक सिंह, सोमनाथ, पूरन चंद आदि की गरिमा में उपस्थिति में लोहड़ी पूजन, श्रीमति प्रेम मंुखी पत्नी राज्यपाल जगदीश मुंखी द्वारा किया बताया गया।
आयोजित समारोह की सफलता में डा. पुनीत भसीन, डा. अनिल तनेजा, डा. मनजीत सिंह, श्री मनोज सपरा, सुनील अरोड़ा, अमोल गंभीर, संजय मग्गू, संदीप चोधरी, प्रेम सागर, संजय कुकरेजा, आकाश, अजय दीवान, तरूण चावला, डा विनीत नंदा, डा एसके सूरी, पूरन चंद चैधरी, विजय भोला, इंद्रजीत सिंह, कुलभूषण महाजन, सुदेश पुरी, सतीश चरनजीत लाल रामदास आदि का विशेष सहयोग रहा।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

18 − 13 =