वीसी एमडीए के निर्णय से विभाग की अर्थिक स्थिति होगी मजबूत तथा शासन की निर्माण नीति का होने लगेगा पालन

0
186

सील लगे भवनों, रहन रखी सम्पतियों अवैध निर्माणों की गहन जांच शुरू कम्पाउंड शुल्क रिपोर्ट की उच्च अधिकारी करेगे समीक्षा

मेरठ विकास प्राधिकरण कार्यालय में मौखिक रूप से होने वाली चर्चा अनुसार वीसी श्री साहब सिंह द्वारा लिये जा रहे निर्णयों और उठाये जा रहे कदमों के अनुसार अगर कार्य होता रहा तो जल्द ही प्राधिकरण की आर्थिक स्थिति मजबूत होगी और एमडीए द्वारा विकसित काॅलोनियों में रहने वाले एलाटियों को भी जरूरी सुविधाएं प्राप्त हो सकेगी एवं शासन की निर्माण नीति के तहत कार्य भी शुरू हो सकते है।
एक मौखिक सूत्र के अनुसार आज उपाध्यक्ष साहब सिंह वर्मा द्वारा सचिव और चीफ इंजीनीयर आदि को निदेश दिये गये बताते गये है की वह आठ दिन में जांच कराकर रिपोर्ट दे की किस जोन में कितनी निर्माणों और भवनों पर दफ्तर के रिकार्ड में सील लगी हुई है और मौके पर उनकी क्या स्थिति है तथा सील क्यो लगायी गयी थी और लगायी गयी थी तो नियमों का पालन हुआ या नही।
इसके अलावा यह चर्चा भी की उपाध्यक्ष ने यह रिपोर्ट भी मांगी है की किस किस बिल्डर ने कौन कौ से जोर में विभाग के पास जमीनें बंधक रखी थी इनकी संख्या कितनी है तथा कितनी बंधक जमीने वापस हुई और उनकी एवज में जो विकास शुल्क आदि जमा होने थे वो नियमनुसार पूरे हुए या नही तथा जो ड्राफ्ट आदि पूर्व में समन शुल्क आदि के विभाग में जमा कराये गये उनका भुगतान विभाग के खातों में हुआ या नही बाकी बंधक रखी जमीनों की मौके पर क्या स्थिति है इसकी भी रिपोर्ट लिखित रूप में दी जाये।
इसके अलावा बताया गया है की वीसी ने अराध्या हाईट दिल्ली रोड आनंद हाॅस्पिटल गढ़ रोड के.एल. इंटरनेशनल स्कुल जागृति विहार और पीएल शर्मा रोड स्थित किंग बेकरी के संदर्भ में पूर्ण विवरण के साथ रिपोर्ट मांगी गयी है की अगर इनका नक्शा पास हुआ तो कितनी जगह में हुआ और क्या क्या बनाने के लिए हुआ वर्तमान में क्या स्थिति है बेसमेंट या कोई नया निर्माण किया गया तो उसका पुन नक्शा पास कराया गया नही तथा समन योग्य निर्माण से अभी तक कम्पाउड शुल्क क्यो नही वसूली गयी कितनी बैठती है इसके अलावा वीसी द्वारा चर्चित अवैध निर्माणों कमिश्नर निवास से अब्दुल्ला पुर जाने वाली रोड पर पेट्रोल पम्प के पास हुए लैकमें सैलून के अवैध निर्माण लालकुर्ती टेलीफोन एक्सचेज के निकट हो रहे भव्य काॅमशियल तथा दिल्ली रोड पर गोपाल गौशाला के बाहर पीएल शर्मा रोड पर यूकों बैंक के बराबर हरे नीम के पेड़ काटकर हुए अवैध निर्माण इसी रोड पर किंग बेकरी आदि के अवैध निर्माण की पूर्व में चल रही जांच मंे क्या हुआ और अभीतक मंडलायुक्त और पूर्व वीसी द्वारा कार्यवाही के दिये गये निदे्रश का पालन क्यो नही हुआ तथा किंग बेकरी और मोहनपुरी नाले पर बने फ्लैटों एवं अराध्या हाईट की सब तरफ से जांच कर रिपोर्ट दे की इस अवैध निर्माण के खिलाफ क्या कार्यवाही हुई और अभी तक कम्पाउड शुल्क वसूलने और जो समन नही हो सकता उसे तोड़ने की कार्यवाही क्यो नही की गयी तथा इन भवनों की पूरी रिपोर्ट भी एक निश्चित सीमा में मांगी गयी बतायी जा रही है।
वीसी साहब सिंह से समाचार लिखे जाने तक कोई बात नही हो पायी इसलिए किसी किसी मामले की जांच करा रहे है यह पता नही चल पाया लेकिन अगर जो चर्चा थी उसके हिसाब से जांच हो गयी तो अवैध निर्माणों से कम से कम कई सौ करोड़ का समन शुल्क प्राप्त हो सकता है।
यह भी पता चला की दोनो अधिकारियों को पत्र लिखा गया है की कम्पाउड शुल्क की मौक पर उच्च अधिकारी जाचं करेगे और नीचे से आयी रिपोर्ट की पूर्ण समीक्षा करके ही अवैध निर्माण जो समन हो सकता है वो किया जायेगा और कही गलती हो तो प्रथम रिपोर्ट कर्ता के विरूध होगी। – संवाद सूत्रों पर आधारित, दैनिक केसर खुशबू टाईम्स से सहभार

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five + 6 =