शिप्रा व सुधीर रस्तोगी भी लड़ सकते हैं मेयर पद का चुनाव

0
213

मेरठ 16 मई। नगर निगम के 90 वर्डाें में से लगभग सभी में ही बीएलओ के न पहुंचने और वोट बनाने में हेराफेरी करने के ढंके छिपे या सीधे सीधे आरोप लगाए जा रहे हैं। सांसद और विधायक वोट बनाने और वार्ड परिसीमन की प्रकिया से प्रभावित हुए हैं। अब आरोप प्रत्यारोप के दौर में चुनाव लड़ने के इच्छुक उम्मीदवारों की निगाह वार्डाें तथा मेयर की सीट पर लगी है कि वो आरक्षित होगी या जनरल रहेगी यह घोषित होते ही किस पार्टी का नेता किस वार्ड से या मेयर का चुनाव लड़ेगा यह स्थिति पूरी तौर पर ल्द ही साफ हो जाएगी।
लेकिन मजबूत उम्मीदवारों ने चुनाव लडने की अपनी प्लानिंग को कार्यरूप देना शुरू कर दिया है। वार्ड में लड़ने के इच्छुक हो या मेयर का चुनाव। अपने समर्थकों में अपनी दावेदारी नेताओं की जाने लगी हैं इसके पीछै दो कारण बताए जाते हैं। एक तो समर्थकों को यह पता रहे कि फंला व्यक्ति चुनाव लड रहा है दूसरे पार्टी सिंबल पर चुनाव होते हैं तो नेताओं की निगाह में नाम बना रहे की फंला कार्यकर्ता व नेता भी चुनाव लडने के लिये इच्छुक है इसके बारे में आरक्षण और मेयर पद की स्थिति साफ हो जाने के बाद सब कुछ सामने आ जाएगा लेकिन फिलहाल शिविर पालिका कैंट बोर्ड की उपाध्यक्ष रही शिप्रा रस्तोगी अगर मेयर की सीट महिलाओं के लिये आरक्षित होती है तो वो चुनाव लड़ने के लिये भाजपा में अपनी मजबूत दावेदारी पेश कर सकती है और अगर महिला सीट नहीं होती है तो जनरल हो जाती है उनके पति समाज के विभिन्न क्षेत्रों में सक्रिय रूप से कार्यरत सुधीर रस्तोगी मेयर का चुनाव लडने का पक्का मन बना चुके हैं। फिलहाल महानगर के बस्ती पल्लवपुरम क्षेत्र के शिलकुंज कालोनी में सुधीर रस्तोगी निवास करते हैं। और वहां के साथ साथ शहर के गली मोहल्लों अपने मिलने वालों रिश्तेदारों व्यापारियों तथा मेयर का टिकट दिलाने में सक्षम भाजपा नेताओं से सुधीर रस्तोगी अपना संपर्क लगातार बनाए हुए हैं। उनके समर्थकों का मौखिक रूप से कहना है कि शिप्रा रस्तोगी का पांच साल का कैंट बोर्ड का कार्यकाल बहुत अच्छा रहा। और उसमे भाभी जी के साथ साथ भाई साहब की भी भुमिका रही थी। वर्तमान में वो शहरी क्षेत्रों में काफी सक्रिय हैं। अगर मौका मिल गया तो वो चुनाव लड़ सकते हैं। इस संदर्भ में जब सुधीर रस्तोगी से बात की गई तो उनका कहना था कि पार्टी का सिपाही हूं। भाजपा के लिये मैं शिप्रा और मेरा परिवार पूरी तौर पर समर्पित है। चुनाव लड़ना चाहता हूं अगर पार्टी ने सिंबल दिया तो जितने के लिये चुनाव लड़ूंगा या लड़वाएंगा।
प्रतिनिधि

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

10 − two =