वीसी दें ध्यानः क्यों नहीं रूक पा रहे अवैध निर्माण?

0
225

उपाध्यक्ष व सचिव ने विभाग की आर्थिक स्थिति में सुधार, कर्मचारियों की समय से उपस्थिति के शुरू किये प्रयास इंजीनियरों के क्षेत्र में किया बदलाव

मेरठ 13 दिसंबर। मेरठ मंडलायुक्त डा. प्रभात कुमार द्वारा अवैध निर्माणों के प्रति अपनाए जा रहे सख्त रूप के बाद भी विभाग के इन्हे रोकनेे से संबंध कुछ जोन प्रभारियों व जेई एईयों के कारण भले ही अवैध निर्माण रोकने के बजाए बढ़ रहे हो लेकिन वर्तमान वीसी साहब सिंह व सचिव राज कुमार द्वारा पूरे प्रयास कर आॅफिस की व्यवस्था सुधारने के साथ साथ कर्मचारियों में अनुशासन विभाग की आर्थिक स्थिति मजबूत करने और ईमेज सुधारने के लिये भरपूर प्रयास किये जा रहे हैं।
आए दिन समाचार पत्रों में इनकी कार्यप्रणाली से संबंध छपने वाली खबरों व विभाग में एमडीए से संबंध अपनी समस्या को लेकर जाने वाले नागरिकों में होने वाली चर्चा के अनुसार उनकी बात सेके्रटी व वीसी ध्यान से सुन रहे हैं और उनका समाधान करा रहे हैं और नेट पर मानचित्र पास किये जाने की योजना भी सफलता के साथ चल रही है। जब से यह लागू हुई तब से कितने ही लोग यह बता चूके हैं कि उनके मानचित्र आसानी से पास हो गए हैं
इंडस वैलीगु्रप केे श्री मिश्रा का कहना है कि अब तक हमने जितने नक्शे नेट पर डाले वो समय के अनुसार पास हो गए। किसी में कोई कमी दिखी तो वो सही करने के बाद तुरंत पास हो गए। दूसरी ओर एमडीए वीसी द्वारा विभाग की संपत्तियों से आवटियों के हो रहे मोह भंग पर रोक लगाने और उन्हे आकर्षित करने के प्रयासों के साथ साथ जो अपना पैसा रिफंड चाहते हैं उसको जल्द और समय से बिना किसी परेशानी से पैसा वापस करने के लिये एक जांच समिति ऐसे आवेदनों के लिये गठित कर दी गई। तो वेदव्यासपुरी के सेक्टर 4 स्थित अंसल लैंडमार्क टाउनशिप लिमिटेड से संबंध अधिकारियों को बुलाकर उसने संबंध मामलों का निस्तारण का प्रयास भी शुरू कर दिया गया है। इतना ही नहीं समय से अधिकारी व कर्मचारी कार्यालय पहुंचे इसके लिये बायोमीट्रिक व्यवस्था से सबकी उपस्थिति दर्ज हो रही है। जिससे कार्यालय में समय से अधिकारी व कर्मचारी की उपस्थिति हो सकें। गत दिवस कौन कब आया। यह पता करने के साथ साथ वीसी ने कार्यालय का भ्रमण कर व्यवस्था को जांचा। इसके अलावा अवैध निर्माणों पर अंकुश लगाने आदि के दृष्टिकोण से 15 इंजीनियरों के क्षेत्रों में कार्य बदलाव किया गया है।
देर से आने वाले कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई शुरू
जब सरकारी कार्यालयों में हालात सुधारने के लिए बायोमीट्रिक व्यवस्था ध्वस्त होती जा रही है। ऐसे में सरकारी विभागों में अफसरों और कर्मियों पर लगाम लगाने की तमाम कवायदें दम तोड़ रही हैं। एमडीए उपाध्यक्ष ने औचक निरीक्षण किया तो 129 कर्मचारी सुबह 11 बजे तक अनुपस्थित मिले। वहीं सुबह 10.15 बजे के बाद 36 कर्मचारी पहुंचे। सरकारी कार्यालयों में लेटलतीफी, अफसर-कर्मियों का न बैठना व जनसुनवाई न होने की शिकायतों में सुधार के लिए बायोमीट्रिक उपस्थिति की व्यवस्था लागू की गई लेकिन कार्यालयों का ढर्रा अभी सुधरने का इसलिये नाम नहीं ले रहा है। विलंब से आने की फितरत कर्मियों में भीतर तक पैठ बना चुकी है इसमें सुधार की तमाम गुंजाइशें खत्म होती दिख रही हैं। एमडीए उपाध्यक्ष साहब सिंह द्वारा गत मंगलवार को कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। इसमें कर्मचारियों के साथ ही अफसर भी निर्धारित समय से काफी विलंब तक नहीं पहुंचे। उनका कहना है कि सुबह 10.15 बजे के बाद 36 कर्मचारी उपस्थित हुए। वहीं सुबह 11 बजकर आठ मिनट तक 129 कर्मचारी अनुपस्थित मिले ।उपाध्यक्ष ने कहा कि मालियों की ड्यूटी जोन में पार्कों के रख-रखाव में लगाई गई है। ऐसे में उन्हें बायोमीट्रिक उपस्थिति से दूर रखा गया है। उद्यान निरीक्षक उनकी ड्यूटी प्रमाणित करेंगे। वहीं रोजाना विलंब से आने वाले कर्मचारी व अफसरों से लिखित स्पष्टीकरण मांगा जाएगा। सचिव व प्रभारी अधिष्ठान को आदेश जारी करते हुए कहा है कि निर्धारित समय में स्पष्टीकरण न मिलने असंतोषजनक जवाब देने वालों के विरुद्ध वेतन काटने से लेकर सर्विस ब्रेक व चार्जशीट की कार्रवाई भी कठोरता से अमल में लाई जाए।
अवैध निर्माण पर अंकुश लगाने के लिये बदले जेईयों के कार्य क्षेत्र
एमडीए में पंद्रह जूनियर इंजीनियरों को इधर से उधर कर दिया गया। एमडीए उपाध्यक्ष साहब सिंह ने जूनियर इंजीनियरों के जोन में बदलाव किया है। इसमें रामकुमार तोमर को अधिशासी अभियंता राजीव सिंह से संबद्ध किया गया है। वेद प्रकाश वर्मा, नीरज शर्मा, कुमदेश कुमार शर्मा, रवींद्र कुमार गुप्ता को पीपी सिंह, राकेश कुमार पंवार, पीयूष कुमार त्यागी, अनिल कुमार सिंह व प्रदीप कुमार शर्मा को डीसी तोमर के साथ संबद्ध किया गया है। इसके अलावा भानु प्रकाश वर्मा, उमा शंकर सिंह, सर्वेश कुमार गुप्ता व अविनाश चंद्र को अधिशासी अभियंता के साथ संबद्ध किया गया है। अब्दुल वाहिद अंसारी मुख्य अभियंता कार्यालय से संबद्ध रहेंगे और सुबोध कुमार सिन्हा, मुख्य अभियंता कार्यालय में जेईटी का कार्य करेंगे।
18 को बुलाया अंसल लैंडमार्क के अधिकारियों ने: वेदव्यासपुरी सेक्टर 4 स्थित अंसल लैंडमार्क टाउनशिप लिमिटेड के बिल्डर को किसी ने एमडीए में 18 तारीख को तलब किया है। इनके साथ ही 605 आवंटियों के प्रतिनिधि भी बुलाए गए हैं। एमडीए ने 15 बड़े बकाएदारों की सूची बीते दिनों सार्वजनिक की थी। इन पर प्राधिकरण का करोड़ों रुपया बकाया है।
एमडीए वीसी साहब सिंह द्वारा बताया गया कि वेदव्यासपुरी सेक्टर चार में कालोनी के लिए जमीन लेने वाले मैसर्स अंसल लैंड मार्क पर करीब 29 करोड़ बकाया है। बिल्डर को यह रकम देने के लिए नोटिस दिया गया है। उधर बिल्डर ने यहां आवंटियों से 95 फीसदी रकम वसूल ली है पर उन्हें प्लाॅटों पर कब्जा नहीं दिया।
गत शुक्रवार को आवंटी विपिन मेहता, अतुल सिरोही, विनोद, केपी सिंह आदि का
प्रतिनिधिमंडल मिला था। एमडीए वीसी से इन लोगों ने बिल्डर को बुलाकर आमने-सामने वार्ता कराने की मांग की थी। इस पर एमडीए वीसी ने बिल्डर को नोटिस जारी करके 18 तारीख में हाजिर होने को कहा है। इस दिन आवंटियों को भी बुलाया गया है। एमडीए वीसी ने कहा कि यह अंतिम मौका है, इसके बाद सख्त एक्शन लिया जाएगा।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

thirteen + sixteen =