नोडल अधिकारी ने किया ब्लाॅक मेरठ, आश्रय गृह व खड़ौली का निरीक्षण ,पात्रों को लाभ, आवासहीनों को आवास तथा स्वच्छ एवं स्वस्थ महौल प्रदान करना शासन का दृढ संकल्प-रमा रमण ,समयान्तर्गत हो आॅडिट आपत्तियों का निस्तारण- नोडल अधिकारी

0
34

मेरठ ।विकास खण्डों की कार्यशैली, निर्माण कार्यो की गुणवत्ता तथा जनपद की सफाई व्यवस्था के दृष्टिगत आज अपर मुख्य सचिव, हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग/जनपद नोडल अधिकारी रमा रमण ने विकास खण्ड मेरठ, आश्रय गृह, व ग्राम खड़ौली का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि सरकार की मंशा है कि हर पात्र को जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ, आवासहीनों को आवास, स्वस्थ एवं स्वच्छ माहौल मिले जिसकों प्रदान करने के लिए शासन पूर्ण रूप से दृढ संकलिप्त है। उन्होंने कहा कि शासन के सबका साथ सबका विकास का सपना तभी साकार होगा जब हम समाज के हर अन्तिम व्यक्ति को विकास की मुख्य धारा में जोड़ेगे। इस अवसर पर नोडल अधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी द्वारा विकास खण्ड मेरठ में पौधारोपण भी किया गया।
यह विचार आज अपर मुख्य सचिव, हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग/जनपद नोडल अधिकारी रमा रमण विकास खण्ड मेरठ, आश्रय गृह, व ग्राम खड़ौली के निरीक्षण के दौरान व्यक्त किये। विकास खण्ड मेरठ के निरीक्षण के दौरान उन्होंने कार्यालय व परिसर का भ्रमण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया तथा बरसात के दिनों में परिसर से पानी की निकासी समस्या के निजात हेतु पानी निकासी की स्थायी व्यवस्था करने निर्देश दिए। सबसे पहले उन्होंने स्टाफ की अद्यतन स्थिति व रिक्त पदों के भरने के संबंध में की जाने वाली कार्यवाही, अधिकारियों एवं कर्मचारियों को सेवा अभिलेखो में समय से प्रविष्टियों का बारिकी से अवलोकन किया जो पूर्ण पाया। उन्होंने सभी सेवाअभिलेखों के सही एवं सुरक्षित रख-रखाव के भी निर्देश पटल सहायकों को दिए। उन्होंने आडिट आपत्तियों के निस्तारण हेतु निर्देश दिए कि समुचित अध्ययन उपरान्त समयान्तर्गत आपत्तियों का निस्तारण करें और आॅडिट पूर्ण करायें।
उन्होंने विकास खण्ड के अधिकारियों को निर्देश दिये कि वह अपने दायित्वों को समझते हुए आने वाले ग्रामीणों के साथ बेहतर समन्वय बनायें तथा उन्हें जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दें। उन्हांेने महिला स्वंय सहायता समूह द्वारा ब्लाॅक में संचालित प्रेरणा जलपान गृह का भी अवलोकन कर समूहो के प्रतिनिधियों से वार्ता की तथा उसके संचालन व आमदनी आदि को भी जाना । उन्होंने कहा कि समूहों के माध्यम से जीवकोपार्जन का उपयोगी माध्यम है,जिसके लिए अधिकाधिक समूह गठित कर कार्य किए जाने हेतु संबंधित अधिकारी कार्य करें ।
जनपद नोडल अधिकारी ने निरीक्षण के दौरान प्रधानमंत्री आवास योजना की प्रगति में वर्ष के लक्ष्य 31 के अनुरुप पात्र लाभार्थियों का चिन्हित कर लिया गया है, शौचालय निर्माण से विकासखण्ड के सभी ग्राम व पूर्ण जनपद ओडीएफ है, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, मनरेगा योजना, राज्य वित्त आयोग योजना प्रगति, शादी अनुदान, खरीफ बीज वितरण, मृदा परीक्षण कार्ड वितरण, वृक्षारोपण प्रगति, राजकीय नलकूपों की स्थिति, आदि की प्रगति को भी जाना।
वहीं अपर मुख्य सचिव ने राष्ट्रीय शहरी आजिविका मिशन के अन्तर्गत बराल परतापुर में स्थापित आश्रय गृह (शेल्टर हाऊस) का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने आश्रय गृह निर्माण के संबंध में डूडा व कार्यदायी संस्था सीएण्डडी से जानकारी प्राप्त की। उन्होंने आश्रय गृह का निर्माण हेतु निर्धारित एस्टीमेट व मानक के अनुरुप आश्रय गृह के निर्माण मे कोई कमी आदि के संबंध में निरीक्षण कर उन्हें रिर्पोट देने के निर्देश दिए।
इससे पूर्व अपर मुख्य सचिव ने बाईपास स्थित खडौली ग्राम में मलिन बस्ती की सफाई व्यवस्था एवं डूडा द्वारा निर्माणाधीन प्रधानमंत्री आवासों का निरीक्षण किया तथा लाभार्थियों से भी बात कर जानकारी ली। निरीक्षण में उन्होंने खडौली सफाई व्यवस्था व कूडा उठान की स्थिति को सही पाया और निगम अधिकारियों को निर्देश दिये कि साफ-सफाई व कूडा उठान आदि कार्य नियमित रुप से करायें।
मुख्य विकास अधिकारी आर्यका अखौरी ने बताया कि विकास खण्ड मेरठ में कुल 21 ग्राम है, जिनमें कुल 5096 कृषकों के सापेक्ष्य 4671 किसान क्रेडिट कार्ड उपलब्ध है शेष किसान क्रेडिट कार्ड के अनिछुक है। विकास खण्ड स्तर पर तथा विभिन्न माध्यम से प्राप्त शिकायतों का निस्तारण शतप्रतिशत किया जा रहा है, जिनका अकंन पंजिका में दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि आश्रय गृह निरीक्षण के दौरान उन्होंने बताया कि आश्रय गृह का निर्माण 2015 में स्वीकृत हुआ था, जिसकों 178.02 लाख लागत व्यय से निर्माण कार्य पूर्ण है।
इस अवसर पर परियोजना निदेशक भानूप्रताप सिंह, जिला विकास अधिकारी दिगविजय नाथ तिवारी,जिला संख्या एवं अर्थ अधिकारी अजया चैधरी, बी.डी.ओ मेरठ महेश कुमार काण्डपाल ,पी0ओ0डूडा,नगर निगम सहित संबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

15 सितम्बर से चलेगा पषुओं के टीकाकरण का अभियान,41 टीमें प्रतिदिन लगायेंगी लगभग 16400 टीेेके-सीवीओ

मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डा0 ए.के. सिह ने बताया कि जनपद मेरठ में खुरपका मुंहपका रोग नियंत्रण कार्यक्रम (एफ0एम0डी0सी0पी0) अन्तर्गत 23वां चरण दिनांक 15.09.2018 से प्रारम्भ होने जा रहा है। उन्होंने बताया कि जनपद मेरठ में खुरपका मुहपका की 7.73 लाख वैक्सीन प्राप्त हो चुकी है जिसे विकास खण्डवार वितरित करा दिया गया है। उन्होंने बताया कि खुरपका मुहपका अभियान के अन्तर्गत जनपद मेरठ के समस्त गोवंशीय, महिषवंशीय पशुओं में खुरपका मुहपका रोग से बचाव हेतु टीकाकरण पशुपालकों के द्वार पर जाकर निःशुल्क कराया जायेगा।
उन्होंने जनपद के सभी पशुपालकों से अपील करते हुए कहा है कि वह इस टीकाकरण अभियान में अपना पूर्ण सहयोग प्रदान करें। उन्होंने बताया कि इस टीकाकरण के लिए जनपद में 41 टीमें गठित की गयी है जो निर्धारित रोस्टर के अनुसार गांव-गांव जाकर निःशुल्क टीकाकरण करेंगे। उन्होंने बताया कि प्रत्येक टीम प्रतिदिन 400 से 500 टीका लगायेगी।
उन्होंने बताया कि टीकाकरण करने से पूर्व जनपद के 10 चयनित ग्रामों से 10 पशुओं का रक्त का नमूना लिया जायेगा तथा टीकाकरण के पश्चात् उन्ही पशुओं का पुनः रक्त एकत्रित कर प्रयोगशाला में भेजा जायेगा, जिससे पशुओं में टीकाकरण से उत्पन्न प्रतिरोधक क्षमता का आंकलन किया जायेगा। उन्होंने बताया कि यह टीका 4 माह से कम उम्र के पशु (बच्चे) एवं 8 माह से अधिक गर्भित पशुओं को नहीं लगाया जाता है।
उन्होंने बताया कि टीकाकरण अभियान के सम्बंध में अधिक जानकारी प्रदान करने के लिए उप मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा0एन0के0शर्मा को नोडल अधिकारी-दूरभाष संख्या 7007937364, उ0मु0प0चि0अ0 (सदर) मेरठ डा0वेद प्रकाश को सहप्रभारी-दूरभाष संख्या 8750856853 एवं प0चि0अ0 ग्राम समूह मेरठ डा0बिजेन्द्र प्रताप सिंह यादव दूरभाष संख्या 9359002200 सम्पर्क किया जा सकता है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × 1 =