कृष्ण जन्माष्टमी पर 5.25 हजार साल बाद मध्य रात्रि को बन रहा अद्भुत योग

0
66

मेरठ, 22 अगस्त।     कृष्ण जन्माष्टमी पर इस बार वही योग बन रहे हैं जो करीब सवा पांच हजार साल पूर्व कृष्ण जन्म पर बने थे। भगवान कृष्ण का जन्म प्राकट्य सवा पांच हजार वर्ष पूर्व भाद्रपद कृष्ण पक्ष की अष्टमी व्यापनी अर्धरात्रि में 12ः00 बजे हुआ था।

उस समय चंद्रमा अपनी उच्च की वृष राशि और रोहिणी नक्षत्र में था। समय लग्न वृष था। सूर्य अपनी स्वयं की सिंह राशि और शनिदेव उच्च की तुला राशि पर थे। कृष्ण जन्म के समय कालसर्प योग विराजमान था। ज्योतिषाचार्य भारत ज्ञान भूषण और इंडियन काउंसिल ऑफ एस्ट्रोलाॅजी के संयुक्त सचिव आचार्य कौशल वत्स के अनुसार, इस वर्ष भी लगभग यही योग 23 अगस्त की मध्य रात्रि में 12ः12 बजे पर बन रहे हैं।
मेरठ में इस्काॅन मंदिर की ओर से इस बार 23 और 24 अगस्त को दो स्थानों पर भव्य आयोजन होंगे। इसमें सुपरटेक स्पोर्ट्स सिटी और गढ़ रोड स्थित मंडप में कार्यक्रम होगा। कार्यक्रम में राॅक बैंड, कृष्ण लीला, 56 भोग आदि का आयोजन होगा। कार्यक्रम का बजट करीब बीस लाख रुपये तय किया गया है।

मेरठ के इन मंदिरों में होंगे भव्य आयोजन
कुटी चैराहा दुर्गा मंदिर, मयूर विहार शिव मंदिर, जयदेवीनगर गोल मंदिर, जागृति विहार मंशा देवी मंदिर, वैशाली काॅलोनी राधा कृष्ण मंदिर, सम्राट पैलेस राज राजेश्वरी मंदिर, नौचंदी चंडी देवी मंदिर, सूरजकुंड मनोहर नाथ मंदिर, फूलबाग काॅलोनी स्थित मंदिर, सूरजकुंड सती मंदिर, मोहनपुरी महाकाली मंदिर, बच्चा पार्क कंठी माता मंदिर, भाटवाड़ा दुर्गा मंदिर, बजाजा शिव मंदिर, रेलवे रोड विश्वनाथ महादेव मंदिर, दुर्गा मंदिर दिल्ली रोड, धानेश्वर नाथ मंदिर सदर, वामन भगवान आदि मंदिरों में आयोजन होंगे।

धूमधाम से मनाई जाएगी कृष्ण जन्माष्टमी
पल्लवपुरम स्थित कृपा मंदिर में पहली बार कृष्ण जन्माष्टमी महोत्सव धूमधाम से मनाया जाएगा। मंदिर के संरक्षक निश्चल त्यागी ने कहा कि 22 अगस्त को संकीर्तन कृष्ण जन्मोत्सव को कलाकारों द्वारा प्रस्तुत किया जाएगा।
23 अगस्त को गरबा रासलीला दही हांडी का कार्यक्रम होगा। 23 की रात 12 बजे महाभिषेक, महाभोग, महाआरती का आयोजन किया जाएगा।

बाबा औघड़नाथ मंदिर में सजेगा फूलबंगला
बाबा औघड़नाथ राधा कृष्ण मंदिर में वृंदावन के कारीगर फूल बंगला सजाएंगे। सजावट के लिए कोलकाता से फूल मंगाए गए हैं। मंदिर में बैरिकेडिंग का काम पूर्ण हो चुका है। मंदिर समिति अध्यक्ष डाॅ. महेश बंसल ने बताया कि प्रसाद के लिए 850 किलो सेब, एक हजार केले, तीन सौ किलो पेड़े प्रसाद स्वरूप बांटे जाएंगे।

महामंत्री सतीश सिंघल ने बताया कि मंदिर आने वाले बच्चों को बांसुरी और गेंद दी जाएगी। राधा गोविंद मंदिर में पंडित मनोज शर्मा अभिषेक के बाद 11ः35 पर आरती करेंगे। 24 अगस्त को नंदोत्सव मनाया जाएगा। एलइडी लाइट के साथ डिस्पले टीवी भी लगाया गया है। 14 सीसीटीवी लगाए गए हैं। दर्शन एकेडमी से मंदिर तक और नैंसी चैराहे तक लाइटिंग की जाएगी।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 + 1 =