विरोध के बीच मायादेवी को मिला लाड़ली मंदिर में सेवा पूजा का अधिकार

0
91

बरसाना. बरसाना के विश्व प्रसिद्ध लाड़ली मंदिर में हर बार सेवापूजा के अधिकार को लेकर विवाद गहराता है। इस बार मायादेवी के पक्ष में अदालत ने आदेश दिया है। अदालत के आदेश के बाद मायादेवी को सेवा पूजा का अधिकार दिलाने बुधवार को पहुंचे पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों को विरोध का सामना करना पड़ा। एसएसपी के कड़े रुख के बाद उन्हें मंदिर जाकर चार्ज दिलाया गया। कस्बे के अक्षयराम थोक के स्व. हरवंश गोस्वामी की दो साल में छह माह की सेवा पूजा आती है। हरवंश गोस्वामी की दो पत्नी थीं। एक पक्ष से रासबिहारी गोस्वामी, जबकि दूसरे पक्ष से मायादेवी सेवा पूजा का अधिकार मांग रही थीं। सिविल जज जूनियर डिविजन छाता ने छह मई को मायादेवी के पक्ष में सेवा पूजा का अधिकार देने का आदेश दिया। सात मई को पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी अधिकार दिलाने पहुंचे लेकिन रासबिहारी गोस्वामी पक्ष ने अधिकार नहीं दिया। 10 मई को सिविल जज जूनियर डिवीजन ने फिर बरसाना थाना प्रभारी और एसएसपी को आदेश की अनुपालना को कहा। गत दिवस थाना प्रभारी मुकेश मलिक पुलिस बल के साथ दोपहर में राधारानी मंदिर पहुंचे। आज भी रासबिहारी गोस्वामी ने सेवा देने से मना कर दिया। पुलिस लौट आई। इस पर माया देवी व उनके स्वजन ने थाने में हंगामा किया। पुलिस पर दूसरे पक्ष से मिलीभगत के आरोप लगाए। एसएसपी डा. गौरव ग्रोवर ने अदालत के आदेश की अनुपालना के निर्देश दिए। इस पर थाना प्रभारी दोबारा भारी पुलिस बल के साथ मंदिर पहुंचे। मंदिर सेवायतों ने गेट नहीं खोले। थाना प्रभारी पुलिस बल के साथ रसोई के गेट से मंदिर के अंदर घुसे। यहां नोकझोंक के बीच पुलिस ने मायादेवी को चार्ज दिलाया। माया देवी पक्ष से सेवा पूजा का चार्ज सेवायत चंदर गोस्वामी व हेमंत गोस्वामी ने लिया।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here