ज्योतिरादित्य सिंधिया को बेशर्म के फूल थमाने वाले NSUI नेता समेत 10 पर केस दर्ज

0
271

ग्वालियर. भाजपा के सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को बेशर्म का फूल थमाने वाले NSUI नेताओं के खिलाफ रविवार को ग्वालियर पुलिस ने लॉकडाउन उल्लंघन का मामला दर्ज किया है. गोला का मंदिर थाने में NSUI के चार नामजद और 6-7 अन्य लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. शनिवार को एयरपोर्ट जाते समय सिंधिया को NSUI कार्यकर्ताओं ने ज्ञापन की आड़ में बेशर्म के फूल थमाए थे.

लॉकडाउन के उल्लंघन का मामला दर्ज
बीजेपी के राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को ज्ञापन की आड़ में बेशर्म के फूल थमाने वाले NSUI कार्यकर्ताओं के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. गोला का मंदिर थाना पुलिस ने सिंधिया को बेशर्म के फूल थमाने वाले वीडियो के आधार पर स्वतः संज्ञान लेते हुए मामला दर्ज किया है. शनिवार को घटना का वीडियो वायरल हुआ था. इस वायरल वीडियों के आधार पर गोला का मंदिर पुलिस ने NSUI के राष्ट्रीय संयोजक सचिन द्विवेदी, जिला अध्यक्ष वंश महेश्वरी, यतेंद्र दोहरे और सचिन भदौरिया के साथ 6-7 अन्य लोगों के खिलाफ लॉकडाउन के उल्लंघन का मामला दर्ज किया है. गोला का मंदिर थाना प्रभारी विनय शर्मा ने बताया कि जिले में कलेक्टर ने ‘रूल ऑफ सिक्स’ का आदेश लागू कर रखा है. ऐसे में गोला का मंदिर इलाके में NSUI नेता सचिन सहित 10-12 लोग जुटे और नारेबाजी की. लॉकडाउन उल्लंघन के चलते सभी पर धारा 188 सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया गया है.

अपना कार्यकर्ता समझकर सिंधिया ने रोकी थी कार
अपना 2 दिवसीय दौरा खत्म कर ज्योतिरादित्य सिंधिया शनिवार को दिल्ली जाने के लिए महल से एयरपोर्ट के लिए रवाना हुए थे. इसी दौरान गोला का मंदिर चौराहे के पास कुछ युवाओं के रोकने पर सिंधिया ने अपना काफिला रोका. इन युवाओं में NSUI के राष्ट्रीय संयोजक सचिन द्विवेदी भी शामिल थे. काफिला रुकते ही युवाओं का दल सिंधिया के पास पहुंचा, गाड़ी में बैठे सिंधिया के हाथों में पहले सूत की मालाएं दीं, उसके बाद एक ज्ञापननुमा कागज थमाया और उस पर बेशर्म के फूल रख दिए. NSUI नेता सचिन ने कहा कि जब लोग कोरोना संक्रमण से जूझ रहे थे, तब सिंधिया नहीं आए. कोरोना वायरस चला गया तो अब भोपाल से लेकर ग्वालियर-चंबल के दौरे पर आए हैं. सिंधिया जी राजनीति में भी अवसर तलाश रहे हैं.

सिंधिया ने फूल लौटा दिए
सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को जब पता लगा कि ज्ञापननुमा कागज देने वाले NSUI के कार्यकर्ता हैं तो सिंधिया ने सूत की मालाएं लीं, ज्ञापननुमा कागज लिया, लेकिन बेशर्म के फूल लौटा दिए. सिंधिया ने सूत की मालाएं अपने सुरक्षाकर्मी को दे दीं, वहीं NSUI के पत्र को अपने पास रखा और फिर सिंधिया का काफिला एयरपोर्ट रवाना हुआ.

NSUI ने सिंधिया के खिलाफ विरोध की कर रखी थी तैयारी
ग्वालियर में पुलिस को सिंधिया के विरोध की आशंका पहले से थी. सिंधिया के दौरे से एक दिन पहले कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता ने सिंधिया के खिलाफ पोस्टर लगाए थे. इसके बाद विरोध की आशंकाएं थीं. यही वजह है कि सुगबुगाहट होने बाद पुलिस ने शुक्रवार को NSUI के नेता वंश माहेश्वरी को नजरबंद कर लिया था. वहीं NSUI नेता सचिन द्विवेदी को तलाश किया जा रहा था. लेकिन पुलिस का इंटेलिजेंस फेल हो गया और विरोध की यह घटना सामने आई.

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eleven + 11 =