सरधना में पेपर मिल के कैमिकल युक्त पानी से कृषि भूमि को नुकसान, नागरिकों के स्वास्थ्य को है खतरा

0
196

सरधना/मेरठ, 10 जून (प्र) वैसे तो पेपर मिल इंडस्ट्रीज काफी फायदे का सौदा बताई जाती है लेकिन इसके संचालकों द्वारा निर्धारित नियमों और नीतियों का पालन न किए जाने से यह नागरिकों के लिए बीमारियों और कई परेशानियों का कारण बन रही हैं। चर्चा अनुसार इसके उदाहरण के रूप में मेरठ रोड स्थित एक पेपर मिल का गंदा कैमिकल युक्त पानी नालों में पड़ने से कस्बे और आसपास के गांवों में बीमारियां पैदा होने को लेकर कई तरह की चर्चाएं व्याप्त है मगर पता नहीं प्रदूषण विभाग कौन सी गहरी नींद में सोया हुआ है कि उसे इनसे होने वाला प्रदूषण और सरकारी नीतियों का उल्लंघन नजर नहीं आता। बीते दिनों एसडीएम अमित कुमार भारतीय को भाकियू बलराज के पदाधिकारियों द्वारा ज्ञापन सौंपा गया जिसमें जांच कराकर पेपर मिल के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई। भाकियू बलराज की राष्ट्रीय महिला मोर्चा अध्यक्ष रेखा सिवाल द्वारा इस संदर्भ में कई आरोप लगाते हुए मढ़ियांई, नानू, भलसोना, बाड़म आदि गांवों में इसके गन्दे पानी में कृषि भूमि को हो रहे नुकसान को लेकर सवाल उठाए गए। बताते चलें कि मिल मालिक ने गंदा पानी को फिल्टर करने और इसे बहने के लिए पानी चलाने की भी पूर्ण व्यवस्था नहीं की बताई गई है। मौखिक रूप से नागरिकों का कहना था कि मिल मालिक के साथ साथ प्रदूषण विभाग के अधिकारियों आदि के खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए क्योंकि उन्हें नागरिकों के स्वास्थ्य से हो रहे खिलवाड़ का यह मामला दिखाई क्यों नहीं देता।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

15 − 3 =