Saturday, July 20

आरआरटीएस स्टेशनों से मिलेगी सिटी ट्रांसपोर्ट की बसें

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 13 जून (प्र)। एनसीआरटीसी ने नमो भारत के यात्रियों की लास्ट माइल कनेक्टिविटी को बेहतर बनाने के लिए गाजियाबाद सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विसेज के साथ मिलकर गाजियाबाद के सभी आरआरटीएस स्टेशनों पर इलेक्ट्रिक बस सेवा उपलब्ध कराई है। इसके लिए आरआरटीएस स्टेशनों के प्रवेश-निकास द्वारों के पास ही इन इलेक्ट्रिक बसों के लिए बस स्टॉप निर्धारित किए गए हैं। आरआरटीएस स्टेशनों के पास निर्धारित स्टॉप पर ये बस सेवाएं उपलब्ध होंगी, जिसकी मदद से यात्री बसों और नमो भारत ट्रेनों के बीच आसानी से आवागमन कर सकेंगे।

अभी ये सुविधा गाजियाबाद के सात अलग-अलग मार्गों के लिए उपलब्ध होंगी, जिसके लिए इन रूट्स पर लगभग 50 से अधिक इलेक्ट्रिक बसें संचालित की जा रही हैं। इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए यात्री आरआरटीएस कनेक्ट मोबाइल ऐप और आधिकारिक आरआरटीएस वेबसाइट के माध्यम से इन इलेक्ट्रिक बसों के रूट्स और टाइम टेबल की जानकारी भी मिलेगी। अभी वर्तमान मे साहिबाबाद, गाजियाबाद, गुलधर और दुहाई स्टेशनों को इन इलेक्ट्रिक बस के रूटों के साथ एकीकृत किया गया है। इसके साथ ही मुरादनगर, मोदीनगर साउथ और मोदी नगर नॉर्थ स्टेशनों को भी इन सिटी बसों से जोड़ने के लिए बातचीत प्रक्रिया चल रही है।

इन बसों के उपयोग से मंडोला, लोनी, दादरी और मसूरी आदि क्षेत्रों के निवासी अपने निकटतम आरआरटीएस स्टेशन तक पहुंचकर दिल्ली और मेरठ जैसे प्रमुख शहरी केंद्रों तक अधिक सुविधाजनक तरीके से पहुंच सकते हैं। इसके अतिरिक्त, एनसीआरटीसी ने यात्रियों की लास्ट माइल कनेक्टिविटी की दिशा में साहिबाबाद और गाजियाबाद आरआरटीएस स्टेशनों पर आॅटो-रिक्शा, 2-व्हीलर बाइक टैक्सी के साथ-साथ 4-व्हीलर कैब आदि कैब सेवाएं प्रदान करने के लिए रैपिडो के साथ करार किया है।

वर्तमान में दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ आरआरटीएस कॉरिडोर के साहिबाबाद और मोदी नगर नॉर्थ के बीच 34 किलोमीटर का खंड यात्रियों के लिए संचालित है, जिसमें साहिबाबाद, गाजियाबाद, गुलधर, दुहाई, दुहाई डिपो, मुराद नगर, मोदी नगर साउथ और मोदी नगर नॉर्थ कुल 8 स्टेशन शामिल हैं। दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ आरआरटीएस कॉरिडोर के शेष हिस्सों पर निर्माण तेजी से आगे बढ़ रहा है। दिल्ली से मेरठ तक 82 किमी लंबे आरआरटीएस कॉरिडोर पर जून, 2025 की निर्धारित समयसीमा तक ट्रेनों का संचालन आरंभ करने का लक्ष्य है।

Share.

About Author

Leave A Reply