आयुक्त ने शासन से किया भू-अर्जन के लिये धनराशि अवमुक्त करने का अनुरोध

0
705

मेरठ 5 सितंबर। प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के चहुंमुखी विकास के लिये अनेक योजनायें चलायी जा रही हैं। जनपद में इनर रिंग रोड का निर्माण इन्हीं में से एक है। 34.380 कि.मी.लम्बी व 45 मीटर चैड़ी इनर रिंग रोड का निर्माण 02 चरणों में पूर्ण होगा। प्रथम चरण के भू-अर्जन के लिये आयुक्त डा.प्रभात कुमार ने शासन को रु. 160.602 करोड़ अवमुक्त करने का अनुरोध किया है। उन्होंने कहा कि मेरठ में रिंग रोड की अत्यन्त आवश्यकता है, इनर रिंग रोड का निर्माण हो जाने से शहर का ट्रैफिक लोड कम होगा, जिससे यातायात प्रबन्धन में सहायता मिलेगी तथा आमजन को सुविधा होगी। आयुक्त डा0 प्रभात कुमार ने अपर मुख्य सचिव, लोक निर्माण विभाग श्री सदाकान्त को लिखे पत्र में परियोजना की स्वीकृति देते हुए प्रथम चरण के भू-अर्जन के लिये ० 160.602 करोड़ अवमुक्त करने का अनुरोध किया है, ताकि भू-अर्जन की कार्यवाही तत्काल प्रारम्भ की जा सके। आयुक्त डा0 प्रभात कुमार ने बताया कि इनर रिंग रोड की कुल प्रस्तावित लम्बाई 34.380 कि०मी० है। इसका निर्माण दो चरणों में किया जाना प्रस्तावित है, जिसमें प्रथम चरण में 15.050 कि०मी० तथा द्वितीय चरण में 19.330 कि.मी. निर्माण प्रस्तावित है। प्रथम चरण में 4.100 कि.मी. का निर्माण मेरठ विकास प्राधिकरण तथा आवास विकास परिषद् द्वारा निर्माणाधीन है, अवशेष
10.950 कि.मी. का निर्माण लोक निर्माण विभाग द्वारा किया जाना प्रस्तावित है। आयुक्त ने बताया कि प्रथम चरण में अवशेष लम्बाई 10.950 कि.मी. की कुल लागत 375.92 करोड़ रुपये है।
आयुक्त डा. प्रभात कुमार ने बताया कि प्रथम चरण में जिसकी कुल लम्बाई 15.050 कि.मी. है में मेरठ हापुड़ मार्ग (एनएच 235) से दिल्ली हरिद्वार बाईपास (एनएच 58) तक कुल लम्बाई 10.950 किमी है का निर्माण लोनिवि द्वारा किया जाएगा तथा मेरठ गढ मार्ग (एसएच 14) से मेरठ हापुड़ मार्ग (एनएच 235) तक कुल लम्बाई 4.100 किमी है का निर्माण मेरठ विकास प्राधिकरण व आवास विकास परिषद द्वारा किया जा रहा है। द्वितीय चरण में जिसकी कुल लम्बाई 19.330 किमी है में मेरठ गढ मार्ग (एसएच 14) से दिल्ली हरिद्वार मार्ग (एनएच 58) तक होगा यह कार्य लोनिवि द्वारा किया जाएगा।
आयुक्त डा0 प्रभात कुमार ने बताया कि इनर रिंग रोड के निर्माण के अन्तर्गत दो फलाई ओवर जिसमें एक मेरठ से परतापुर मार्ग पर व द्वितीय मेरठ से हापुड़ रोड पर बनाया जाएगा तथा दो आरओबी भी बनायें जायेंगे जिसमें से एक दिल्ली मेरठ रेलवे लाइन पर तथा दूसरा मेरठ हापुड़ रेलवे लाइन पर बनाया जाएगा।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here