आयुक्त ने की गौ सेवा केंद्रों की मंडल स्तरीय समीक्षा

0
35

मेरठ (सू0वि0) :माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश की प्राथमिकता वाले निराश्रित गोवंश संरक्षण केंद्र में मंडल में बनाए जा रहे स्थाई व अस्थाई गौ सेवा केंद्रों की मंडल स्तरीय प्रगति की आयुक्त सभागार में आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए आयुक्त अनीता सी मेश्राम ने वित्तीय वर्ष 2018.19 में स्वीकृत मंडल के छह स्थाई गौशाला केंद्रों का निर्माण आगामी 30 सितंबर तक पूर्ण करने व मंडल के सभी जनपदों में 1 . 1 मॉडल गो सेवा केंद्र बनाए जाने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने गत 6 जून 2019 को आयोजित मंडल स्तरीय बैठक में अनुपालन आख्या अधिकारियों द्वारा ना दिए जाने पर अपनी कड़ी नाराजगी व्यक्त की तथा निर्देशित किया कि अगले 2 दिनों के अंदर अपनी अनुपालन आख्या न दें देने पर प्रतिकूल प्रविष्टि दी जाएगी।आयुक्त सभागार में आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए आयुक्त अनीता सी मेश्राम ने कहा कि मंडल के सभी पशु चिकित्सा अधिकारी यह प्रमाण पत्र दें कि उनके जनपद में बनाए जा रहे गौ सेवा केंद्रों में गोबर से कंपोस्टिंग बनाने की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने कहा कि गौ सेवा केंद्रों में साफ-सफाई, प्रकाश व्यवस्था, साफ पानी की व्यवस्था, अच्छे चारे की व्यवस्था की जाए तथा गोवंशों का नियमित स्वास्थ्य परीक्षण भी आवश्यक रूप से किया जाए साथ ही सभी गोवंशों की टैगिंग भी की जाए ।उन्होंने कहा कि जो अस्थाई गौ सेवा केंद्र जमीनी स्तर से थोड़ा नीचे हैं वहां मिट्टी आदि का भराव मनरेगा योजना से कराकर उसको ठीक कराया जाए, उन्होंने कहा कि गौ सेवा केंद्रों में चारा व भूसे का कम से कम 1 माह का स्टॉक अवश्य होना चाहिए। उन्होंने गो आश्रय स्थलों को स्वावलंबी बनाए जाने के लिए गोबर से गमला, गोबर व मूत्र से औषधि तथा गोबर से कंपोस्टिंग आदि बनाए जाने के लिए कहा साथ ही गौशालाओं में वृक्षारोपण आवश्यक रूप से कराने तथा जहां बाउंड्री वाल नहीं है वहां बाउंड्री वाल बनाए जाने की व्यवस्था करने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने पूछा कि अपने पशुओं को छुट्टा सड़क पर छोड़ देने वालों के विरुद्ध अब तक क्या-क्या कार्यवाही जनपद स्तरीय अधिकारियों द्वारा की गई है उन्होंने निर्देशित किया कि अपने गोवंश को छुट्टा सड़क पर छोड़ने वालों के विरुद्ध कार्यवाही की जाए तथा उनसे निर्धारित अर्थदंड भी वसूला जाए।
मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी मेरठ व प्रभारी अपर निदेशक पशु चिकित्सा डॉक्टर ए के सिंह ने कहा कि शासन द्वारा निराश्रित गौ गोवंश की सेवा करने वाले व्यक्तियों को एक व्यक्ति को चार पशु तक देने की व्यवस्था की गई है ऐसे पशुपालकों को ₹30 प्रतिदिन प्रति गोवंश के हिसाब से दिया जाएगा।उन्होंने कहा कि 24 जुलाई 2019 तक गौ सेवा केंद्रों में संरक्षित पशुओं में से ही पशु दिए जाएंगे। उन्हें बताया कि पशु चिकित्सा अधिकारी व पंचायत कमेटी के प्रमाण के बाद ही ऐसे पशुपालकों का भुगतान किया जाएगा। बताया कि मंडल स्तरीय बैठक हर 3 माह में होती है।
उन्होंने बताया कि मंडल में 280 अस्थाई गोवंश आश्रय स्थल हैं जिनमें से 14 जनपद मेरठ में है मंडल में इन अस्थाई गोवंश आश्रय स्थलों में 20634 गोवंशो को संरक्षित किया गया है, उन्होंने बताया कि मंडल में पांच कान्हा गौशाला बनाई गई हैं जिनमें से दो मेरठ में है इन पांच गौशालाओं में 769 पशुओं को संरक्षित किया गया है। उन्होंने बताया कि मंडल में सात काजी हाउस है जिनमें से 6 जनपद मेरठ में बनाए गए हैं इन सात काजी हाउस 136 पशुओं को संरक्षित किया गया है।
उन्होंने बताया कि मंडल में वहृद गौ सेवा केंद्र की स्थापना के लिए वित्तीय वर्ष 2018.19 में मंडल के प्रत्येक जनपद में एक-एक वहृद गौ सेवा केंद्र बनाए जाने की स्वीकृति शासन द्वारा दी गई थी जिसमें 6.45 करोड़ रुपए से 6 वहृद गौ संरक्षण केंद्र बनाए जाने बनाए जा रहे हैं।उन्होंने बताया कि मेरठ में 1.20 करोड रुपए से केंद्र बनाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जनपद गाजियाबाद, जनपद बागपत व जनपद बुलंदशहर में यह कार्य पूर्ण हो चुका है तथा शेष का कार्य आगामी 30 सितंबर तक पूर्ण करा लिया जाएगा।उन्होंने बताया कि मंडल में 7.20 करोड रुपए से वित्तीय वर्ष 2019.20 में मंडल के प्रत्येक जनपद में एक एक वृहद गौ संरक्षण केंद्र बनाए जाने के लिए शासन द्वारा धनराशि भी अवमुक्त कर दी गई है ,जिसका कार्य प्रगति पर है।
इस अवसर पर पुलिस महानिरीक्षक आलोक सिंह, अपर नगर आयुक्त नगर निगम गाजियाबाद आरएन पांडे,उपनिदेशक पंचायत नंदिनी जैन, अपर जिला अधिकारी हापुड़ जयनाथ यादव, संयुक्त कृषि निदेशक सुनील कुमार अग्निहोत्री, संयुक्त विकास आयुक्त रामपाल यादव, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी बागपत डॉक्टर रविंद्र कुमार, बुलंदशहर डॉ लक्ष्मीनारायण, हापुड़ प्रमोद कुमार, उप मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी मेरठ डॉक्टर केके राय, उप मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी गाजियाबाद डॉ अरुण कुमार, राजपाल सिंह, शिवकुमार कौशिक सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

एलईडी वेन के माध्यम से होगा सरकार की ढाई वर्ष की उपलब्धियों का प्रचार प्रसार
मेरठ :प्रदेश सरकार द्वारा अपनी ढाई वर्ष की उपलब्धियों को जनमानस तक विभिन्न माध्यमों से पहुंचाया जा रहा है।जनपद में 18 सितंबर से 2 अक्टूबर तक 15 दिनों के लिए एक एलईडी वेन के माध्यम से सरकार की योजनाओं का प्रचार प्रसार किया जाए किया जा रहा है ,एलईडी वेन को आज कलेक्ट्रेट से अपर जिलाधिकारी वित्त सुभाष चंद्र प्रजापति ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। एलईडी वेन जनपद के विभिन्न प्रमुख स्थानों पर सरकार की ढाई वर्ष की उपलब्धियों का प्रचार प्रसार करेगी। इस अवसर पर जिला सूचना अधिकारी आशुतोष चंदोला अन्य अधिकारी व आमजन उपस्थित रहे।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

8 + eleven =