आयुक्त ने की मण्डलीय कानून एवं शान्ति व्यवस्था की समीक्षा मेरठ में सरकारी भूमि पर सर्वाधिक अवैध कब्जे होने पर आयुक्त नाराज भू, खनन, शराब आदि माफियाओं को चिन्हित कर भेजे जेल-मण्डलायुक्त असामाजिक तत्वों व वैमन्सय फैलाने वालों को प्रदेश व मण्डल के बाहर भेजें-डा0 प्रभात कुमार

0
640

आयुक्त ने व्यक्त की मेरठ सहित मण्डल के तीन जनपदो में भूमाफिया चिन्हिकरण न होने पर अपनी कड़ी नाराजगी
एससी व एसटी वर्ग व वरिष्ठ नागरिकों की समस्याओं को गम्भीरता से लें-आयुक्त

मेरठ : आयुक्त सभागार में कानून एवं शान्ति व्यवस्था की मण्डलीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए आयुक्त डा0 प्रभात कुमार ने पुलिस अधिकारियों को पुलिस की सकारात्मक छवि को आमजन के बीच बनाने, अपराधों पर नियंत्रण रखने, सतत पेट्रोलिंग करने, छोटी से छोटी घटना को भी गम्भीरता पूर्वक लेने घटना स्थल पर अधिकारी स्वंय पहुंचे यह सुनिश्चित करने, भू, खनन, शराब आदि माफियाओं को चिन्हित कर जेल भेजने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि बढते अपराध से सरकार की छवि धूमिल होती है। उन्होंने जनपद मेरठ में सरकारी भूमि पर अवैध कब्जे के सर्वाधिक मामले प्रकाश में आने पर अपनी नाराजगी व्यक्त की।
आयुक्त ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि एससी व एसटी वर्ग के व्यक्तियों से सम्बंधित मामलों को प्राथमिकता पर लेकर उनका निस्तारण करें तथा उनको तय नियमों के अन्तर्गत क्षतिपूर्ति समय से मिले यह भी सुनिश्चित करें तथा कहा कि आम आदमी को सहुलियत महसूस हो ऐसा वातावरण तैयार करें। उन्होंने असामाजिक तत्वों व वैमन्सय फैलाने वालों को प्रदेश व मण्डल के बाहर भेजने के लिए निर्देशित किया।
उन्होंने घरेलू हिंसा की शिकार महिलाओं की हर सम्भव सहायता करने,महिलाओं की समस्याओं प्रति संवेदनशील बनने, वरिष्ठ नागरिकों की समस्याओं के लिए अलग से सेल बनाने, व वरिष्ठ नागरिकों की संतानों द्वारा प्रताड़ित करने से सम्बंधित मामलों को गम्भीरता पूर्वक लेने व भरण पोषण अधिनियम के अन्तर्गत उनको मुआवजा दिलाने के लिए निर्देशित किया।
उन्होंने अतिक्रमण पर प्रभावी कार्रवाई करने, भू, खनन, परिवहन, शराब, पशु, वन आदि माफियाओ को चिन्हित कर जेल भेजने के लिए निर्देशित किया न्होंने अधिकारियों से पूछा कि भू-माफियाओं पर अब तक उनके स्तर से क्या कार्रवाई की गयी है इसकी आख्या दें। उन्होंने भूमाफियाओं को चिन्हित करने के कार्यो में मेरठ, बुलन्दशहर व बागपत की प्रगति शून्य होने पर अपनी कडी नाराजगी व्यक्त की।
उन्होंने फर्जी पाॅवर आॅफ अटार्नी के जरिए भूमि या अन्य सम्पत्ति लेने वालों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई करने, एंटी रोमियों स्कायड को और प्रभावी ढंग से लागे करने व इस हेतु सीबीएसई आईसीएसई आदि स्कूलों के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त कर छेड़छाड़ की घटनाओं पर लगाम लगाने व स्कूलों के आसपास की पान आदि खोको की दुकानों को वहां से हटवानें के लिए निर्देशित किया ताकि वहां असामाजिक तत्वों का जमघट न हो सकें।
अपर आयुक्त जय शंकर दुबे ने बताया कि माह फरवरी 18 में मण्डल में कुल 3352 अपराध घटित हुए जबकि वर्ष 2017 में इसी अवधि में 2860 अपराध घटित हुए तथा विगत 03 वर्षो के सापेक्ष इस अवधि में मण्डल में शीलभंग एवं अपहरण के मामलों में वृद्धि हुई जबिक लूट व चेन स्नेचिंग के मामलों में कमी आयी है। उन्होंने बताया कि मण्डल में फरवरी 2018 में गुण्डा एक्ट के अन्तर्गत 219 अपराधिकयों को, गैैगस्टर एक्ट के अन्तर्गत 34 अपराधियों को, व रासूका के अन्तर्गत एक अपराधी को निरूद्ध किया गया।
इस अवसर पर आईजी मेरठ राम कुमार, डीएम मेरठ अनिल ढंीगरा, गौतमबुद्धनगर बीएन सिंह, बुलन्दशहर डा0 रोशन जैकब, बागपत ऋषिरेन्द्र कुमार, गाजियाबाद रितु माहेश्वरी, हापुड़ कृष्ण करूणेश, एसएसपी मेरठ मंजिल सैनी, बुलन्दशहर मुनिराज जी, एसपी बागपत जय प्रकाश, हापुड़ हेमन्त कुटियाल आदि सम्बंधित पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित रहे।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here