मा0 मुख्यमंत्री जी निराश्रित व बेसहारा गौवंश के संरक्षण के प्रति बेहद संवेदनशील – अपर आयुक्त

0
71

मेरठ, 25 फरवरी। आयुक्त सभागार में निराश्रित/बेसहारा गौवंशॉ के संरक्षण के संबंध में गठित मण्डलीय समिति की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुये अपर आयुक्त उदयी राम ने कहा कि मा0 मुख्यमंत्री जी निराश्रित व बेसहारा गौवंश के संरक्षण के प्रति बेहद संवेदनशील है। उन्होने कहा कि इस महत्वूपर्ण कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही व शिथिलता बर्दाष्त नहीं की जायेगी। उन्होेने कहा कि गौवंशॉ को अपने परिवार का सदस्य मानते हुये उनकी सेवा करे। उन्होने सभी अधिकारियों से कहा कि आपके द्वारा किये जा रहे प्रयास धरातल पर दिखना चाहिए।

अपर निदेशक पशुपालन राजेश कुमार ने बताया कि मंडल में निराश्रित गौवंश हेतु गौ-आश्रय स्थल निर्माण/संचालन में कुल 274 अस्थायी गौवंश आश्रय स्थल है, जिसमें से ग्रामीण क्षेत्र में 223 तथा शहरी क्षेत्र में 51 गौवंश आश्रय स्थल है, जिसमें ग्रामीण क्षेत्र में 14305 पषु तथा शहरी क्षेत्र में 8144 कुल 22449 पषु संरक्षित है। जबकि मेरठ में कुल 15 अस्थायी गौवंश आश्रय स्थल है जिसमें से ग्रामीण क्षेत्र में 12 तथा शहरी क्षेत्र में 03 गौवंश आश्रय स्थल है, जिसमें ग्रामीण क्षेत्र में 1644 पषु तथा शहरी क्षेत्र में 246 कुल 1890 पषु संरक्षित है। उन्होने बताया कि मंडल में ठंड से किसी भी गौवंश की मृत्यु नहीं हुयी है।

अपर निदेषक पशुपालन राजेश कुमार ने बताया कि मंडल में कान्हा गौशालाओं की कुल संख्या 03 है जो शहरी क्षेत्र में है, जिसमें कुल 824 पशु संरक्षित है। जबकि मेरठ में कान्हा गौशालाओं की कुल संख्या 01 है जो शहरी क्षेत्र में है, जिसमें कुल 400 पशु संरक्षित है। मंडल में कांजी हाउस की कुल संख्या 08 है, जिसमें ग्रामीण क्षेत्र में 06 तथा शहरी क्षेत्र में 02 है, जिसमें ग्रामीण क्षेत्र में 120 पषु तथा शहरी क्षेत्र में 17 पषु कुल 137 पषु संरक्षित है। जबकि मेरठ में कांजी हाउस की कुल संख्या 06 है, जिसमें ग्रामीण क्षेत्र में 04 तथा शहरी क्षेत्र में 02 है, जिसमें ग्रामीण क्षेत्र में 51 पषु तथा शहरी क्षेत्र में 17 पषु कुल 68 पषु संरक्षित है। मंडल मेें वृहद गौ संरक्षण केन्द्र/गौ संरक्षण केन्द्र/गौवंष वन्य विहार की संख्या कुल 05 है जो ग्रामीण क्षेत्र में है, जिसमें कुल 1332 पषु संरक्षित है।
अपर निदेषक पषुपालन राजेष कुमार ने बताया कि वर्ष 2018-19 में मंडल में 06 वृहद गौ संरक्षण केन्द्र की स्थापना रू0 715.380 लाख की धनराषि से की गयी, जिसमें कुल 732 पशु संरक्षित है। वर्ष 2019-20 में मंडल में 06 वृहद गौ संरक्षण केन्द्र की स्थापना के लिए कार्यदायी संस्था को रू0 655.000 लाख की धनराषि अवमुक्त की गयी, जिसमें कुल 500 पशु संरक्षित है, जिसमें से हापुड व बागपत का कार्य पूर्ण हो चुका है शेष का कार्य प्रगति पर है।

अपर निदेषक पषुपालन राजेष कुमार ने बताया कि वर्ष 2018-19 में मंडल में 05 कान्हा गौषाला कुल रू0 456.930 लाख के सापेक्ष रू0 395.840 की धनराषि अवमुक्त की गयी, जिसमें कुल 824 पशु संरक्षित है, जिसमें से बागपत, गाजियाबाद व मेरठ के कान्हा गौषाला बराल, परतापुर नगर निगम मेरठ का कार्य पूर्ण हो चुका है शेष का कार्य प्रगति पर है। वर्ष 2019-20 में मंडल में 05 कान्हा गौषालाएं रू0 867.820 लाख से बनायी जा रही है, जिसका कार्य प्रगति पर है।

मुख्य पषु चिकित्सा अधिकारी डा0 अनिल कंसल ने बताया कि पूर्व में 24 जुलाई 2019 तक संरक्षित किये गये पषुओं को इच्छुक पषुपालको की सुपुर्दगी में दिये जाने के आदेष प्राप्त हुये थे लेकिन सरकार ने इसकी सीमा को बढाते हुये 30 नवम्बर 2019 तक संरक्षित किये पषुओं को इच्छुक पषुपालको को दिये जाने का निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि मंडल में मा0 मुख्यमंत्री जी निराश्रित/बेसहारा गौवंष सहभागिता योजना के अंतर्गत गौवंष को इच्छुक कृषको/पषुपालको/अन्य व्यक्तियों की सुपुर्दगी किये जाने का कुल लक्ष्य 8042 के सापेक्ष कुल 2885 गौवंषों को इच्छुक कृषको/पषुपालको/अन्य व्यक्तियों को सुपुर्द किये गये। मेरठ में 859 लक्ष्य के सापेक्ष 792 गौवंषों को इच्छुक कृषको/पषुपालको/अन्य व्यक्तियों को सुपुर्द किया गया।

मुख्य पषु चिकित्सा अधिकारी डा0 अनिल कंसल ने बताया कि पषुओं के निराश्रित/बेसहारा छोडने पर रोक लगाने के लिए मंडल के नगर निगम/नगर पालिका/नगर पंचायत एवं जिला पंचायत व गौतमबुद्ध नगर के नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण द्वारा रू0 384300 का आर्थिक दंड लगाया है। उन्होने बताया कि गौवंषों का संरक्षण व पालन करना मा0 मुख्यमंत्री जी की प्राथमिकताओं में से एक है। निराश्रित गौवंषों को संरक्षण व पालन के लिए लेने वाले पषुपालको को 30 रू0 प्रतिदिन प्रति पषु की दर से भुगतान भी किया जा रहा है।

इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी प्रषासन राम चन्द्र, सहायक नगर आयुक्त ब्रज पाल सिंह, मुख्य पषु चिकित्सा अधिकारी बागपत डा0 रविन्द्र कुमार, बुलंदषहर डा0 लक्ष्मी नारायण, हापुड डा0 प्रमोद कुमार, गौतमबुद्ध नगर डा0 वी0के0 श्रीवास्तव सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

 

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × 4 =