दीवान पब्लिक स्कूल में मारपीट पर दोनों ओर से हो रही अफसरों की घेराबंदी

0
1051

मेरठ : दीवान पब्लिक स्कूल में सोसायटी की मीटिंग के दौरान दीवान परिवार के लोगों में हुई मारपीट पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। दोनों पक्षों की ओर से अफसरों की घेराबंदी की जा रही है। एसएसपी ने एक पक्ष की ओर से मिली तहरीर पर जांच के बाद कार्रवाई का आदेश दिया है। अजय दीवान का आरोप है कि राजेश दीवान स्कूल में घुसकर सबूत मिटा रहे हैं।

दीवान पब्लिक स्कूल के चेयरमैन जगदीश दीवान का 23 नवंबर-2016 को निधन हो गया था। जगदीश दीवान के बेटे राजेश दीवान का आरोप है कि पांच दिसंबर को राजकुमार दीवान के बेटे अजय दीवान और सचिन दीवान ने सोसायटी की मीटिंग कर नए सदस्य बना दिए, जिसके चलते 22 सदस्य हो गए। मीटिंग में जगदीश दीवान के भाई केएल दीवान को नया चेयरमैन बना दिया गया।

राजेश दीवान ने इसे हाईकोर्ट में चुनौती देते हुए स्टे ले लिया। उनका कहना था कि पिता जगदीश दीवान के पद पर बेटे राजेश दीवान का हक है। राजेश के मुताबिक, दो मार्च को रजिस्ट्रार कार्यालय में मीटिंग के दौरान पांच दिसंबर को हुई मीटिंग को निरस्त कर दिया गया। राजेश का आरोप है कि दोबारा से रजिस्ट्रार से साठगांठ करने के बाद पांच दिसंबर को हुई मीटिंग को वैध दिखाते हुए केएल दीवान को चेयरमैन बना दिया।

सचिव प्रसन्नता दीवान ने स्कूल के अंदर सोसायटी की मीटिंग की थी। सचिन दीवान का कहना है कि राजेश दीवान और भाई राजीव दीवान ने मीटिंग के दौरान मारपीट की। जिसकी तहरीर सदर बाजार थाने में दे दी। राजेश दीवान परिवार के साथ एडीजी प्रशांत कुमार से मिले, जबकि सचिन और अजय दीवान कप्तान से मिले थे। पुलिस ने इंस्पेक्टर सदर बाजार को जांच के आदेश दिए है। इंस्पेक्टर प्रशांत कपिल का कहना है कि जांच के बाद ही कार्रवाई की जाएगी।

srcdj

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here