दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे : नि:शुल्क आवागमन जल्द समाप्त, टोल दर व उससे संबंधित अधिसूचना को राजमार्ग मंत्रालय ने दी मंजूरी

0
1812

मेरठ, 1 दिसंबर। देश के पहले टोल प्लाजा मुक्त एक्सप्रेस-वे यानी दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर नि:शुल्क आवागमन की सुविधा समाप्त होने वाली है। टोल वसूली की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। टोल दर व उससे संबंधित अधिसूचना को राजमार्ग मंत्रालय ने मंजूरी दे दी है। एक सप्ताह में इसकी अधिसूचना प्रकाशित होने के बाद टोल दरें तय हो जाएंगी। इसमें छूट व अन्य नियमों की भी जानकारी दी जाएगी। अधिसूचना प्रकाशित होने के अगले दिन से टोल वसूली शुरू हो जाएगी।

बता दें की टोल वसूली का ठेका पाथ लिमिटेड कंपनी को मिला है। हालांकि यहां कंट्रोल रूम व संबंधित उपकरण पहले से स्थापित हैं। अब कंपनी को अपना साफ्टवेयर इंस्टाल कर वसूली शुरू करनी है। इसी बीच कंपनी ट्रायल भी करेगी।

बताते चलें की दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर टोल प्लाजा भले ही बना है लेकिन इसके बूथों का कोई उपयोग नहीं होगा। जब एक्सप्रेस-वे बना था, तब यह तय नहीं हो पाया था कि टोल प्लाजा मुक्त हाईवे या एक्सप्रेस-वे की घोषणा को कब से लागू किया जाएगा। वसूली के हिसाब से बूथ और उसी के अनुसार बूथों पर बैरियर लगाए गए थे। ये बैरियर वाहनों के आने-जाने पर उठेंगे-गिरेंगे नहीं। यानी वाहन बिना रुके आ-जा सकेंगे।

अगर आपके वाहन में अभी फास्टैग नहीं है और इस एक्सप्रेस-वे से जाना है तो अभी समय है। फास्टैग लगवा लें। एक्सप्रेस-वे पर बिना फास्टैग के भी आ-जा सकते हैं, लेकिन ऐसा करने पर अर्थदंड लगेगा। जिन वाहनों का टोल नहीं कटेगा, उनके घर पर चालान पहुंचेगा। इस एक्सप्रेस वे पर टोल वसूली की प्रक्रिया आटोमेटिक नंबर प्लेट रीडर के आधार पर होगी।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here