Friday, July 19

27 से पूरी तरह से बंद होगा दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे,  इस बार सिर्फ कांवडियें चलेंगे

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 09 जुलाई (प्र)। कांवड़ यात्रा के लिए इस बार दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे को पूरी तरह से बंद रखा जाएगा। इस पर सिर्फ कांवड़िये ही चलेंगे। पिछली बार एक तरफ से खुला रखा गया था। इसका नतीजा अच्छा नहीं आय था। ट्रैफिक जाम हो गया था। डाक कांवड़ियों को भी परेशानी हुई थी। इसे देखते हुए इस बार व्यवस्था बदली गई है। इसके तहत एक्सप्रेसवे पर 22 से भारी वाहनों का चलना बंद हो जाएगा। 27 से हल्के वाहनों का रूट भी बदल दिया जाएगा। कांवड़ यात्रा की व्यवस्था में कुछ और परिवर्तन किए गए हैं। पिछली बार डाक कांवड़ मेरठ रोड से आई थीं। इस बार सभी डाक कांवड़ दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे से आएंगी पुलिस आयुक्त अजय कुमार मिश्र ने बताया कि इस बार दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर ट्रैफिक डायवर्जन प्लान शुरू से ही लागू कर दिया जाएगा। यह मार्ग सिर्फ कांवड़ियों के लिए रहेगा तो इसका पूरा ट्रैफिक आसानी से मेरठ रोड पर शिफ्ट हो सकेगा।

उन्होंने बताया कि पिछली बार 30 से 35 फीसदी डाक कांवड़ दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे से ही आई थीं। इससे अन्य वाहनों को परेशानी हुई। ट्रैफिक जाम हुआ। बाकी डाक कांवड़ मेरठ रोड से आई। इससे यह रूट भी पूरी तरह से अन्य वाहनों के लिए खाली नहीं रहा। कांवड़ के लिए दो रूट के बजाय एक ही रूट होने से दोहरा फायदा होगा। कांवड़ियों को अलग रूट मिल जाएगा। अन्य वाहनों के लिए मेरठ रोड रहेगा। एक्सप्रेसवे पर एक तरफ डाक कांवड़ चलेंगी और दूसरी तरफ पैदल कांवड़िया। इससे दोनों को सहूलियत होगी।

■ बिजली के खंभों का भी डर नहीं
डाक कांवड़ में कांवड़िये ट्रक में डीजे लगाकर चलते हैं। ऐसे में मेरठ रोड पर बिजली के तारों, खंभों ट्रक से टकराने का खतरा है। वहीं, पैदल जाने वाले कांवड़ियों को भी परेशानी होती है।

■ पिलखुवा या कन्नौजा से होकर जा सकेंगे
मेरठ की ओर भारी वाहनों का आवागमन पूर्ण रूप से बंद रहेगा। मोदीनगर व आसपास के क्षेत्र में जाने वाले हल्के वाहन 27 जुलाई से मसूरी के पास से गांव कन्नौजा होते हुए ओर्डिनेंस फैक्टरी मुरादनगर की ओर जा सकेंगे। इसके अलावा पिलखुवा से भोजपुर होकर मोदीनगर जा सकेंगे।

Share.

About Author

Leave A Reply