विश्वविद्यालय में आयोजित किशोरी दिवस पर 300 किशोरियों को हुआ पोषण पोटली का वितरण

0
60

मेरठ, 9 सितम्बर।      सृष्टि का सृजन है बेटी, घर का आंगन है बेटी।। खुले आसमान की उडान है बेटी, हर मां बाप का सम्मान है बेटी।। चैधरी चरण सिंह वि0वि0 के बृहस्पति भवन में राष्ट्रीय पोषण मिषन अन्तर्गत आयोजित किषोरी दिवस का षुंभारम्भ मुख्य अतिथि मा0 सांसद राजेन्द्र अग्रवाल ने मां सरस्वती केे चित्र के सम्मुख दीप प्रज्जवलन कर व माल्यार्पण कर किया। उन्होने कहा कि देष के बच्चे देष का भविष्य है। कुपोषण को देष व प्रदेष से अलविदा करने के लिए जनसहभागिता जरूरी है। उन्होने लगाए गए स्टालों का निरीक्षण किया व सभी को स्वच्छता की शपथ दिलाई। कार्यक्रम में कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय की छात्राओं द्वारा मनमोहक प्रस्तुतियां दी गई व 300 किषोरियों को पोषण पोटली भेट की गई।

मा0 सांसद ने कहा कि कुपोषण को प्रदेष से अलविदा कहने तथा प्रदेष के हर बच्चे, महिला व किषोरियों को पोषण आहार के प्रति जागरुक करने व स्वस्थ रखने के उददेष्य से माननीय मुख्यमंत्री उत्त्र प्रदेष की पहल पर प्रदेष में पोषण मिषन के अन्तर्गत सितम्बर माह को राष्ट्रीय पोषण माह के रुप में मनाया जा रहा है। उन्होने कहा कि कुपोषण को दूर कर स्वस्थ भारत का निर्माण करना पोषण मिषन का उददेष्य है।

उन्होने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति के स्वास्थय के दृष्टिगत मा0 प्रधानमंत्री, भारत सरकार द्वारा फिट इंडिया मूवमेंट प्रारम्भ किया गया है।उन्होने कहा कि देष के विकास के लिए सरकार द्वारा अनेकों योजनाएं चलाई जा रही है। उन्होने कहा कि विकास करने के लिए प्रत्येक व्यक्ति का स्वस्थ रहना आवष्यक है क्योकि स्वास्थय ही व्यक्ति को सक्षम बनाता है। उन्होने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति स्व्चछता का ध्यान रखे तथा पुष्टाहार के बारे में जानकारी लेकर उनका उसका सेवन करें ।
जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने कहा कि मा0 मुख्यमंत्री जी बच्चों, किषोरियों व महिलाओं के स्वास्थ्य के प्रति बेहद चिंतित व गंभीर हैं इसलिए उनकी पहल पर यह अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक किषोरी व महिला को पोषण आहार की जानकारी होनी चाहिए ताकि वह पोषण आहार लेकर स्वस्थ व खुषहाल रह सके व परिवार को भी स्वस्थ रख सके। उन्होने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति स्वच्छता का ध्यान रखे तथा पुष्टाहार को ग्रहण करें। उन्होने कहा कि सरकारी योजनाओं की जानकारी लेकर उसका लाभ लेना चाहिए तथा पुष्टाहार की जानकारी लेकर उसका सेवन करना चाहिए।

मुख्य विकास अधिकारी ईशा दुहन ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति का सुपोषण व स्वच्छता का विशेष ध्यान देना चाहिए, जिससे हम कुपोषण को दूर भगा सकते हैै। उन्होने बताया कि आज 300 किषोरियों को पोषण पोटली दी गई है। एक पोषण पोटली में केला, सेब, अमरूद, मटठा, चना व आयरन की गोली है। उन्होने कहा कि किषोरियां इन चीजों में व्याप्त पोषक तत्वो की जानकारी रखे तथा अपने भोजन में फल को शामिल करते हुए उसका सेवन भी करें। उन्होने बताया कि प्रत्येक बच्चे के लिए मां के गर्भधारण से एक हजार दिन उसके स्वास्थ के लिए महत्वपूर्ण होते हैं।
मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ. राजकुमार ने बताया कि 19 वर्ष तक आयु की लडकियां किषोरियां होती है। उन्होने किषोरियों से कहा कि उनके शरीर में जो बदलाव आते है वह प्राकृतिक है उससे घबराऐं नही तथा स्वच्छता, टीकाकरण व हाइजीन का विषेष ध्यान दे। इस अवसर पर जिला बेसिक षिक्षा अधिकारी, जिला प्रोबेजन अधिकारी ने अपने विभाग की योजनाओं की जानकारी दी।

इस अवसर पर कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय की छात्राओं द्वारा स्वागत गीत प्रस्तुत किया गया तािा बेटी बचाओं,बेटी पढाओं योजना पर नाटक का सफल मंचन किया गया तथा बालिका सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम को सुरक्षित व असुरक्षित स्पर्ष की जागरूकता हेतु वीडियो का प्रदर्शन किया गया तथा किशोरियों को स्वास्थ विभाग की ओर से सैनेटरी नैपकिन भी वितरित किए गए। इस अवसर पर सभी ने एक स्वर में कहा कि सृष्टि का सृजन है बेटी, घर का आंगन है बेटी।। खुले आसमान की उडान है बेटी, हर मां बाप का सम्मान है बेटी।।
इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 राज कुमार, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी सतेन्द्र कुमार ढाका, जिला कार्यक्रम अधिकारी विनीत सिंह, जिला प्रोबेजन अधिकारी शत्रुघ्न कन्नौजिया, सीडीपीओ सुषील कुमार, सहित अन्य अधिकारी विभिन्न स्कूलो से आई किषोरियां आदि उपस्थित रहें।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen − twelve =