आयुक्त ने की मण्डलीय कर करतेत्तर व राजस्व कार्यो व वसूली की समीक्षा बड़े रसूखदार व असली भूमाफियाओं को भेंजे जेल-आयुक्त कागजों से जमीनी स्तर पर दिखाई दें कार्य-डा0 प्रभात

0
735

अभियान चलाकर रोंके कर अपवंचन-आयुक्त ,श्रावस्ती माॅडल के आधार पर ग्रामों को बनायें विवाद रहित-डा0 प्रभात कुमार

मेरठ।आयुक्त सभागार में कर करेत्तर व राजस्व वसूली एवं राजस्व कार्यो की मण्डलीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए आयुक्त डा0 प्रभात कुमार ने अधिकारियों को 31 मार्च 2018 तक राजस्व प्राप्ति से सम्बंधित सभी कार्यालयों को अवकाशों के दिनों मे भी खोलकर पूरी कार्ययोजना के साथ राजस्व वसूली का लक्ष्य प्राप्त करने, न्यायालयों में लम्बित वादों का निस्तारण प्राथमिकता पर करने,फरियादियों से सभी अधिकारी व कर्मचारी अच्छा व्यवहार रखें यह सुनिश्चित करने, बड़े रसूखदार व असली भूमाफियाओं को जेल भेजने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि कार्य ऐसा होना चाहिए जो जमीनी स्तर पर दिखाई दें तथा इस बात का ध्यान रखें की किसी का शोषण न होने पायें।
आयुक्त ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि कर अपवंचन को रोकने के लिए पूरी कार्ययोजना बनाकर अभियान चलाकर उस पर कार्य करें। उन्होंने राजस्व वसूली के सम्बंध में लिये गये कदमों की सतत निगरानी व समीक्षा करने, जारी आरसी का मिलान करने, खनन के उल्लंधन पर उसको डिजीटल तरीके से नांपने,फरियादियों की समस्याओं का समाधान गुणवत्तापरक व समयबद्ध ढंग से करने, आॅडिट आपित्तयों का निस्तारण प्राथमिकता पर करने, श्रावस्ती माॅडल पर आधारित भूमि विवाद निस्तारण अभियान के अन्तर्गत ग्रामों को विवाद रहित बनाने के लिए निर्देशित किया।
आयुक्त ने अधिकारियों से कहा कि वह जिस माफिया के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराते है उस आरोपी को जेल भी भेंजे। उन्होंने निर्देशित किया कि सरकारी कार्यो में लगे अधिकारियों को आवश्यकता पर पुलिस बल उपलब्ध कराया जाए। आयुक्त ने विद्युत विभाग के मुख्य अभिंयता को निर्देशित किया कि 01 लाख से अधिक के बकायेंदारों के विरूद्ध विभागीय कार्यवाही अमल में लाये। उन्होंने 20 मार्च के बाद आईजीआरएस पोर्टल पर अपलोड शिकायतों के निस्तारण की रोज समीक्षा कर रैंकिंग सुधारने के लिए निर्देशित किया।
उन्होंने राजस्व संहिता 2006 की धारा 67 के वाद एक माह में निस्तारित करने केलिए निर्देशित किया तथा जमीदारी विनाश अधिनियम व भूराजस्व अधिनियम के एक वर्ष से पुराने वादों को एक माह में निस्तारित करने केलिए निर्देशित किया। उन्होंने संग्रह अमीनों के लिए प्रतिमाह के लक्ष्य निर्धारित करते हुए ग्रामीण क्षेत्र के लिए पांच लाख तथा शहरी क्षेत्र के लिए 10 लाख रूपये प्रति माह निर्धारित किया तथा जरूरत पड़ने पर स्थान के आधार पर पृथक-पृथक लक्ष्य देने के लिए भी कहा।
अपर आयुक्त जय शंकर दूबे ने बताया कि मण्डल के 554 ग्रामों को फरवरी तक भूमि विवाद रहित बनाया गया है तथा 3134 शिकायतों का निस्तारण किया गया। उन्होंने बताया कि इस वित्तीय वर्ष में फरवरी 2018 तक वार्षिक लक्ष्य के सापेक्ष कृमिक उलब्धि प्रतिशत भूराजस्व में 90 प्रतिशत के सापेक्ष उपलब्धि 154.98 प्रतिशत, स्टाॅप एवं पंजीकरण फीस में 90 प्रतिशत के सापेक्ष उपलब्धि 63.01 प्रतिशत, राज्य आबकारी शुल्क में 78 प्रतिशत के सापेक्ष उपलब्धि 64.63 प्रतिशत, वाणिज्य आदि कर में 83 प्रतिशत के सापेक्ष उपलब्धि 29.26 प्रतिशत, वाहन कर, माल तथा यात्री कर में 90 प्रतिशत के सापेक्ष उपलब्धि 107.37 प्रतिशत, विद्युत कर तथा शुल्क में 90 प्रतिशत के सापेक्ष उपलब्धि 77.09 प्रतिशत, वानिकी एवं वन्य जीव में 89 प्रतिशत के सापेक्ष उपलब्धि 93.01 प्रतिशत, अलोह खनन एवं धातु कर्म में 90 प्रतिशत के सापेक्ष उपलब्धि 97.64 प्रतिशत है।
उन्होंने बताया कि राजकीय देयों के वसूली में फरवरी 2018 तक स्टाॅप देय में 90 प्रतिशत के सापेक्ष 88.24 प्रतिशत, वाहन कर में 90 प्रतिशत के सापेक्ष 92.99. प्रतिशत, विद्युत देय में 90 प्रतिशत के सापेक्ष 92.87 प्रतिशत, मनोरंजन कर में 90 प्रतिशत के सापेक्ष 75.40 प्रतिशत, अलौह खनन में 90 प्रतिशत के सापेक्ष 94.34 प्रतिशत, बैक देय में 90 प्रतिशत के सापेक्ष 90.49 प्रतिशत, वाणिज्यकर में 90 प्रतिशत के सापेक्ष 42.81 प्रतिशत, अन्य देयों में 90 प्रतिशत के सापेक्ष 93.39 प्रतिशत, मुख्य देयों में 40 प्रतिशत के सापेक्ष 96.92 प्रतिशत, विविध देय में 90 के सापेक्ष 91.56 प्रतिशत है। उन्हांेने बताया कि मण्ंडल में राजस्व परिषद की 3037 आॅडिट आपत्तियां लम्बित है।
इस अवसर पर डीएम मेरठ अनिल ढंीगरा, गौतमबुद्धनगर बीएन सिंह, बुलन्दशहर डा0 रोशन जैकब, बागपत ऋषिरेन्द्र कुमार, गाजियाबाद रितु माहेश्वरी, एडीएम वित्त मेरठ आनन्द शुक्ला, हापुड़ रजनीश राॅय, गौतमबुद्धनगर केशव कुमार, गाजियाबाद सुनील कुमार सिंह, बुलन्दशहर ब्रजेश कुमार, जिला वन अधिकारी अदिति शर्मा, सहायक आयुक्त व्यापार कर वीएन सिन्हा, आरटीओ मेरठ ड0 विजय कुमार, गाजियाबाद ए0के0 त्रिपाठी आदि सम्बंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here