डाॅ. सुबी चतुर्वेदी को राष्ट्र निर्माण हेतु प्रभावी भूमिका निभाने के लिए सम्मानित किया

0
391

मेरठ, 10 अगस्त (वि) डाॅ. सुबी चतुर्वेदी, चीफ काॅपोरेट एंड पब्लिक अफेयर्स आॅफिसर को सामाजिक उत्थान और राष्ट्र निर्माण में उनके योगदान के लिए इम्पैक्ट अवार्ड 2021 से सम्मानित किया गया द्य यह पुरस्कार उत्तर प्रदेश सरकार के एमएसएमई कैबिनेट मंत्री, सिद्धार्थ नाथ सिंह व राज्य ग्रामीण विकास मंत्री, आनंद स्वरुप शुक्ल द्वारा दिया गया द्य
इस अवार्ड समारोह मे समाज को सकारात्मक रूप से प्रभावित करने वाले हुए सामाजिक विकास में योगदान देने वाले प्रभावशाली लोगों को सम्मानित किया गया।

इस समारोह में उत्तर प्रदेश के राज्य सरकार, उद्योग जगत और नेशनल मीडिया की गणमान्य हस्तियों ने भाग लिया, डाॅ सुबी चतुर्वेदी को राष्ट्र निर्माणए इनोवेशन एंव सामाजिक विकास में उनके योगदान के लिए प्रदान किया गया यह दूसरा बड़ा पुरूस्कार है, उन्हें शिक्षा एंव कौशल के क्षेत्र में इनोवेशन के माध्यम से देश की श्रम शक्ति को भविष्य की नौकरियों के लिए तैयार करने पर विशेष ध्यान दिया है, जिसका वैश्विक और जमीनी स्तर पर उल्लेखनीय प्रभाव पड़ा है, न्यू नार्मल के इस दौर में समाज को बड़े पैमाने पर सहारा देने की जरूरत के बारे में अपने विचार व्यक्त करते हुए, डॉ. सुबी चतुर्वेदी ने कहा, महामारी की वजह से हम सभी को ऐसी चुनौतियों एवं कठिनाइयों का सामना करना पड़ा है, जिसकी कल्पना नहीं की जा सकती। इस महामारी ने जीवन को अस्त.व्यस्त कर दिया और हम सभी को प्रभावित किया।

लेकिन इसने इनोवेशन का अवसर भी प्रस्तुत किया है। हमारे लिए खुद को ष्न्यू नार्मल श् के अनुरूप ढालना और आगे बढ़ते रहना जरूरी था। इस दिशा में अपने योगदान के लिए पुरस्कार प्राप्त करके मैं सम्मानित महसूस कर रही हूँ, लेकिन मेरा काम तो अभी शुरू ही हुआ है। अगर हमें 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनना है और विकास के लिए सबको साथ लेकर चलना है, तो हम सभी को एकजुट होकर काम करना होगा

महामारी का हर क्षेत्र पर बुरा असर पड़ा है, लेकिन इन सभी में शिक्षा एवं कौशल निर्माण तथा समाज के कमजोर तबके के लोगों को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है। पिछले दो सालों की अवधि में पढ़ाई करने वाले लगभग 1.6 बिलियन छात्र प्रभावित हुए हैं। इस विषय में, डॉ. सुबी चतुर्वेदी ने आगे कहा कि हमें अपने देश में मौजूद अपरिमित संभावनाओं एवं आर्थिक विकास की क्षमता को बेकार होने से रोकने, और पिछले दशक की प्रगति को आगे बढ़ाने के लिए सीखने और कौशल में तत्काल सुधार की आवश्यकता है। इस संदर्भ में माननीय प्रधानमंत्री महोदय के हालिया वक्तव्यों को याद करते हुए, उन्होंने भविष्य के कार्यबल को तैयार करने में मदद करने के लिए गेमिंग कंपनियों से जूपी में किए जाने वाले इनोवेशन की तरह ही लर्निंग एवं कौशल.निर्माण को गेम्स की तरह सरल बनाने पर काम करने का आह्वान किया।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here