हिन्दू लड़की ने पाकिस्तान में लहराया परचम, बनी पहली महिला असिस्टेंट कमिश्नर

0
386

कराची. पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में हिन्दुओं की क्या हालत है इससे तो हम सब वाकिफ हैं. इसे लेकर दुनियाभर में चर्चाएं होती रहती हैं. कई बार तो ऐसे मामले सामने आते हैं, जिसके बारे में जानकर लोग हैरान रह जाते हैं. लेकिन, पाकिस्तान में हिन्दू समुदाय की एक लड़की ने ऐसा काम किया है, जिसकी चर्चाएं हर ओर हो रही है और लोग उसकी तारीफ करते हुए नहीं थक रहे. जानते हैं क्या है पूरा मामला?

इस लड़की का नाम है डॉक्टर सना रामचंद, जिन्होंने हाल ही मे सीएसएस 2020 का परीक्षण पास की है. सना पहली हिन्दू महिला हैं, जो असिस्टेंट कमिश्नर बनी हैं. सना का कहना है कि वह सफलता से काफी खुश हैं. हालांकि, वह आश्चर्यचकित नहीं है. क्योंकि, उन्हें भरोसा था कि वह जरूर कामयाब होगी. सना ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा कि वह बचपन से ही सफलता की आदी हैं. उन्होंने बताया कि वह हमेशा से पढ़ाई में अव्वल रही हैं. FCPS परीक्षा में भी वह अव्वल रही थी. लिहाजा, उन्हें भरोसा था कि वह CSS एग्जाम जरूर पास करेंगी.

सना की जमकर हो रही तारीफ
सना रामचंद ने बताया कि उन्होंने बिना किसी की मदद की यह तैयारी की. कराची की रहने वाली सना ने बताया कि केवल इंटरव्यू के लिए उन्होंने कोचिंग का सहारा लिया था. उनकी सफलता से जहां पूरे परिवार में खुशी का माहौल है. वहीं, हिन्दू समुदाय मे भी उनकी जमकर तारीफ हो रही है. क्योंकि, बहुत कम हिन्दू महिलाएं है, जिन्होंने पाकिस्तान में कोई मुकाम हासिल किया है. सोशल मीडिया पर भी लोग उनकी खूब तारीफ कर रहे हैं.

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × one =