स्वास्थ्य सेवा का लाभ देने में लापरवाही न बरते चिकित्सक- महानिदेशक

0
659

मेरठ प्रदेश के महानिदेशक, राज्य प्रशासनिक एवं प्रबन्धक अकादमी उ0प्र0 शासन/जनपद के नोडल अधिकारी कुमार अरविन्द सिंह देव ने आज पुलिस लाईन में निर्माणाधीन पुलिस बैरक के निर्माण कार्यों की गुणवत्ता एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पचपेड़ा व थाना भावनपुर के निरीक्षण के दौरान वहां की कार्यप्रणाली तथा आमजन को दी जा रही शासकीय सुविधाओं का बारीकी से जायजा लिया। उन्होंने सम्बंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह आमजन की भलाई हेतु दी जा रही सुविधाओं का लाभ उन्हें समय से दें तथा उनको सुलभ न्याय की पूर्ण व्यवस्था सुनिश्चित करें, जिसके लिये शासन कटिबद्ध है। उन्होंने कहा कि सरकार के सख्त निर्देष हैं कि पुलिस अधिकारी दोषियों के साथ सख्ती से पेश आयें तथा निर्दोषों का उत्पीड़न किसी भी सूरत में न होने दें।मेरठ प्रदेश के महानिदेशक, राज्य प्रशासनिक एवं प्रबन्धक अकादमी उ0प्र0 शासन/जनपद के नोडल अधिकारी कुमार अरविन्द सिंह देव ने आज पुलिस लाईन में निर्माणाधीन पुलिस बैरक के निर्माण कार्यों की गुणवत्ता एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पचपेड़ा व थाना भावनपुर के निरीक्षण के दौरान वहां की कार्यप्रणाली तथा आमजन को दी जा रही शासकीय सुविधाओं का बारीकी से जायजा लिया। उन्होंने सम्बंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह आमजन की भलाई हेतु दी जा रही सुविधाओं का लाभ उन्हें समय से दें तथा उनको सुलभ न्याय की पूर्ण व्यवस्था सुनिश्चित करें, जिसके लिये शासन कटिबद्ध है। उन्होंने कहा कि सरकार के सख्त निर्देष हैं कि पुलिस अधिकारी दोषियों के साथ सख्ती से पेश आयें तथा निर्दोषों का उत्पीड़न किसी भी सूरत में न होने दें। महानिदेशक ने सबसे पहले पुलिस लाईन मे निमार्णाधीन पुलिस बैरिक का निरीक्षण करते हुए उसकी गुणवत्ता एवं कार्य की स्थिति का जायजा लेते हुए निर्माण करने वाली कार्यदायी संस्था को निर्देशित किया कि वे निर्माण को निर्धारित समय मंें अवश्य पूर्ण करें तथा निर्माण में उपयोग की जाने वाली सामग्री मानकों के अनुरूप ही हो। सम्बंधित कार्यदायी संस्था ने बताया कि बैरक का निर्माण माह अक्टूबर 2018 तक अवश्य पूर्ण कर लिया जायेगा।  महानिदेशक ने स्वास्थ्य सेवाओं को धरातल पर परखने हेतु सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पचपेड़ा का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने इमरजेन्सी कक्ष, पैथोलाॅजी लेब, बाल रोग कक्ष, दवा वितरण कक्ष व पूछताछ काउन्टर पर उपस्थित मरीजों से रूबरू होकर स्वास्थ्य केन्द्र पर  दी जा रही सुविधाओं की जानकारी ली। उन्होंने दवाओं की उपलब्धता व कमी की भी जानकारी ली जिसपर प्रभारी चिकित्साधिकारी ने सभी आवश्यक दवायें उपलब्ध होने की जानकारी दी। उन्होंने निरीक्षण के दौरान स्वास्थ्य केन्द्र पर सफाई व्यवस्था को और बेहतर करने के प्रभारी चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये। उन्होेने आॅपरेशन थियेटर चालू करने के भी निर्देश दिये। प्रभारी स्वास्थ्य केन्द्र ने बताया कि यहां 30 बैड की सुविधा उपलब्ध है तथा यहां पर एचबी, एचआईवी, मलेरिया, ब्ल्ड व बलगम की जांच की सुविधा उपलब्ध है तथा डेंगू, स्वाईन फ्लू आदि टैस्ट जिला मुख्यालय पर भेजकर कराये जाते हैं। प्रभारी नोडल अधिकारी ने स्वास्थ्य केन्द्र पर कोई सर्जन चिकित्सक न होने के सम्बंध सीएमओ को सर्जन की व्यवस्था एवं ओटी की सुविधा करने हेतु निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि रोगी कल्याण समिति से प्राप्त धनराशि रू0 05 लाख से स्वास्थ्य केन्द्र पर जरूरत की सभी आवश्यक जनउपयोगी व्यवस्थाओं की उपलब्धता सुनिश्ति कराने के लिये सम्बंधित को निदेश दिये। उन्होंने मरीजों से स्वास्थ्य केन्द्र पर पर्चा बनाने हेतु निर्धारित धनराशि के अतिरिक्त धनराशि लेने एवं बाहर से दवा लिखने के सम्ंबंध में जानकारी प्राप्त की और मरीजों द्वारा मना करने पर संतोष व्यक्त किया। उन्होंने चिकित्सकों को निर्देशित किया कि वे आमजन की स्वास्थ्य सेवा देने में किसी प्रकार की लापरवाही न बरते बल्कि मरीजों के साथ बेहतर व्यवहार कर उन्हें उचित चिकित्सा उपलब्ध करायें।  इसके बाद महानिदेशक,राज्य प्रशासनिक एवं प्रबन्धक अकादमी उ0प्र0शासन/जनपद के नोडल अधिकारी कुमार अरविन्द सिंह देव ने थाना भावनपुर का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने थाने में माल खाने, कैद खाना, सहित प्रत्येक कक्ष को देखा। उन्होंने थाने के क्राइम रजिस्टर, थाना समाधान दिवस पंजिका, नम्बर आठ रजिस्ट्रर, कम्प्यूटर कक्ष, मौहल्लावार क्राइम रजिस्टर एवं एच.एस रजिस्टर को जांचा। उन्होंने थानाध्यक्ष को निर्देशित किया कि वह एचएस रजिस्टर के अनुसार दर्ज लोगो पर पैनी नजर रखें।  निरीक्षण के दौरान उन्होंने उसकी सफाई व्यवस्था को और अधिक दुरूस्त करने के निर्देश दिये। उन्होंने थानान्र्तगत कार्य करने वाले चैकीदारों के मानदेय व उनकी उपलधता आदि की जानकारी लेते हुए थानाध्यक्ष को निर्देशित किया कि वह उन्हे उनके कार्यो के प्रति समय समय पर प्रशिक्षण भी दें।  उन्होंने पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे थानों का वार्षिक निरीक्षण भी नियमित कर उसकी आख्या उच्च अधिकारी को प्रेषित करें। कुमार अरविन्द सिंह देव ने कहा कि अधिकारी यह सुनिश्चित करें अधिक से अधिक समस्याओं का निस्तारण थाना समाधान दिवस में ही हो, इसके लिये सभी थानाध्यक्षों को निर्देशित किया जाये कि वे अपने सूचना तंत्रों को सक्र्रिय रखें और यदि कोई भी असामाजिक तत्व क्षेत्र का माहौल खराब करने की कोशिश करता है तो उसके विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही अमल में लाये। इस अवसर पर जिलाधिकारी समीर वर्मा, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मंजिल सैनी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 राजकुमार, पुलिस अधीक्षक देहात राजेश कुमार, पीडीडीआरडीए भानू प्रताप सिंह, जिला अर्थ एंव संख्या अधिकारी सहित सम्बंधित स्वास्थ्य व पुलिस अधिकारी उपस्थित रहे।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here