थाने में काली पल्टन मंदिर के पुजारी का हुआ अपमान

0
364

मेरठ 13 मई। काली पल्टन औघड़नाथ मंदिर जैसे सिद्ध पीठ और विश्व प्रसिद्ध धार्मिक स्थान जिससे लाखों भक्तों की भावनाएं जुड़ी हो उसके पुजारी को बिना पूरी जांच पड़ताल के कही भी जाकर खड़ा हो जाना चाहिए ऐसा मानना श्रद्धालुओं का है।
आज कुछ भक्तों की बीच मंदिर पर हो रही चर्चा के अनुसार बीते 10 मई को थाना सदर बाजार में एक आयोजन हुआ जिसमें पुजारी श्रीधर त्रिपाठी भी गये और खाली स्थान देखकर बैठ गये। बताते है की तभी थाना प्रभारी आये और उन्होने पुजारी जी को उठाकर पीछे की सीट पर ले जाकर बैठा दिया जिसका महामंडलेश्वर बालाजी मंदिर के महंत 108 श्री महेन्द्र दास जी महाराज द्वारा वहां मौजूद लोगो के अनुसार विरोध किया गया और महंत जी वहां से चले गये मगर पुजारी जी जमें बैठे रहे। श्रद्धालुओ में इस खबर सें रोष तो है ही उनका यह भी मानना है की इतने प्रतिष्ठित धार्मिक स्थान से जुड़े सम्मानित पुजारी जी को बिना यह जाने की उन्हे जहां बुलाया जा रहा है वहां कहां बैठाया जायेगा सम्मान जनक रूप से उनकी व्यवस्था होगी या नही इसकी जानकारी किये बिना कही नही जाना चाहिए क्योकि इससे उनकी प्रतिष्ठा तो गिरती ही है मंदिर से जुड़े धार्मिक जनों की भावनाआंे को भी ठेस पहुंचती हैं।
स्मरण रहे की आयोजन में एडीजी साहब, आईजी साहब, एसएसपी साहब सहित तमाम बड़े अधिकारी मौजूद थे उसके बावजूद दागियों को व्यवस्था थमा देना वाकई में थाना पुलिस की हिम्मत का काम है। – दैनिक केसर खुशबू टाईम्स से सहभार

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen + fourteen =