रूड़की रोड़ पर एमडीए की मेहरबानी से छठी वाहिनी पीएसी के सामने अवैध रूप से बने सील लगे भवन में खुल गया मनोचा सेल शोरूम

0
409

सरकार को लाखों के राजस्व का हुआ नुकसान
दुकान से ज्यादा सामान सड़क पर यातायात में कर रहा है बाधा उत्पन्न
मेरठ 24 अक्टूबर (विशेष संवाददाता)। मेरठ विकास प्राधिकरण के अवैध निर्माण रोकने से संबंध अधिकारियों की मेहरबानियों से किस प्रकार से यातायात अवरूद्ध व छठी वाहिनी के सामने कई बार जाम की स्थिति बन रही है। जिससे आवागमन में नागरिकों को होने लगी है परेशानी और प्राधिकरण के अधिकारी कारण कुछ भी हो सील लगे भवन में खुले मनोचा शोरूम की तरफ से आंख मीचे बैठे है।
स्मरण रहे कि जब यह शोरूम किसी ऐरन नामक व्यक्ति द्वारा उप्र सरकार की निर्माण नीति के विपरित बिना मानचित्र पास कराये बनाना शुरू किया गया था तभी दैनिक केसर खुशबू टाइम्स में इसके बारे में विस्तार से छपा तो हरकत में आये एमडीए के अधिकारियों द्वारा निर्माण में सील लगा दी गई उसके बाद जो दोनों में तालमेल बैठा तो सील लगे लगे अवैध निर्माण बनकर तैयार हो गया। और सील तोड़कर कई लाख रूपये महीने के किराये पर ऐरन ने मनोचा सेल शोरूम खुलवा दिया जो वर्तमान में निर्माण नीति का पालन करने वाले अधिकारियों को मुंह चिड़ाने के साथ साथ आवागमन में बाधा उत्पन्न कर रहा है क्योंकि शोरूम संचालक ने जरूरत से ज्यादा सामान सड़क पर रख दिया है। बताते चले कि पिछले कुछ माह पूर्व यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा प्रदेश भर में अवैध निर्माणों के खिलाफ कार्यवाही और कराने वालों को सजा देने के निर्देश दिये गये थे उसके बावजूद बताते है कि कई लोगों द्वारा मनोचा सेल और इसका निर्माण करने वाले ऐरन के खिलाफ एमडीए के जोन प्रभारी और एई जेई से शिकायत की। मगर इनके द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की गई। जानकारों का कहना है कि यह निर्माण हरित पट्टी या रोड़ बाईडिंग अथवा खेती की जमीन पर गलत तरीके से हुआ है। जोन प्रभारी शांत क्यों बैठे यह वो ही जान सकते है। लोगों का कहना है कि प्राधिकरण के संबंधित अफसरों की चुप्पी को देखकर यही लगता है कि अब तो कार्यवाही आदणीय मुख्यमंत्री जी के आदेशों और निर्देशों के बाद ही हो सकती है।
चर्चा है कि नियम से शोरूम बनता तो प्राधिकरण को लगभग बीस लाख रूपये का राजस्व कमर्शियल निर्माण होने से प्राप्त होता जो संबंधित अधिकारियों की सेटिंग के चलते विभाग को नहीं मिल पाया।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen + 10 =