अफसर गोद लेंगे पार्क..संवारेंगे सूरत, एमडीए के वीसी, सचिव समेत सभी अधिकारी व इंजीनियर गोद लेंगे एक-एक पार्क

0
744

मेरठ : खस्ताहाल पार्को की हालत सुधारने व इनकी नियमित देखभाल के लिए एमडीए नायाब कदम उठाने जा रहा है। प्राधिकरण अपने अधिकारियों व इंजीनियरों को एक-एक पार्क गोद देगा। एमडीए के अधीन आने वाले पार्को में 12 जोनल और 216 छोटे पार्क हैं। प्रस्ताव तैयार करने का निर्देश एमडीए के वीसी साहब सिंह ने टाउन प्लानर केके गौतम को इसका प्रस्ताव तैयार करने को कहा है। कहा कि एमडीए के अधिकारी, इंजीनियरों की लिस्ट तैयार कर ली जाए और इस तरह के पार्को की जिम्मेदारी उन्हें दे दें। उन्होंने यह भी कहा कि वीसी, सचिव भी पार्क गोद लेंगे, इसलिए गोद लेने वाली लिस्ट वरिष्ठता के हिसाब से तैयार करें। ऐसा न हो कर्मचारियों को पार्क सौंप दिया जाए और अधिकारियों को इस जिम्मेदारी से मुक्त कर दें। बड़े अफसरों को जोनल, कनिष्ठ को मिलेंगे छोटे पार्क 1एमडीए में वीसी, सचिव, वित्त नियंत्रक, ज्वाइंट सेक्रेटरी, चीफ इंजीनियर, मुख्य नगर नियोजक, एसई, टाउन प्लानर, एक्सईएन, तहसीलदार, वित्त एवं लेखाधिकारी व एई, जेई समेत 69 अधिकारी हैं। ऐसे में प्रमुख अधिकारियों के जिम्मे एक-एक जोनल पार्क आ सकता है। 12 पार्क जोनल हैं। छोटे अधिकारियों के जिम्मे तीन-तीन छोटे पार्क आ सकते हैं। बनाएंगे गैंग, चलाएंगे अभियान पार्क में साफ-सफाई के लिए कर्मचारी रखे जाते हैं, लेकिन वहां लापरवाही की शिकायत रहती है। ऐसे में एमडीए अब साफ-सफाई का तरीका बदल देगा। कर्मियों के कई गैंग तैयार किए जाएंगे। रोस्टर के हिसाब से हर हफ्ते पाकरें में अभियान चलाकर सफाई कराएंगे। देखरेख के अभाव में हो रही दुर्दशा एमडीए ने 12 पार्को को जोनल पार्क का दर्जा दिया है। ये पार्क ऐसे हैं जिनमें झूला, वॉकिंग ट्रैक, फव्वारा, बेंच, बच्चों के खेल मैदान आदि बनाए गए थे, लेकिन देखरेख के अभाव में ये दयनीय स्थिति में पहुंच गए। जोनल पार्को में रक्षापुरम में तीन, वेदव्यासपुरी में चार, शताब्दी नगर योजना सेक्टर 4ए व सैनिक विहार योजना में एक-एक पार्क हैं। 216 पार्क छोटे हैं, जिनकी सिर्फ बाउंड्री कराई गई है। यहां बेंच आदि की व्यवस्था नहीं है। कई पाकरें की दीवार भी टूट गई है और गंदगी व असामाजिक तत्वों का कब्जा है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here