आयुक्त ने किया सरधना नाले व डेयरियों का निरीक्षण डेयरी संचालक व गत्ता फैक्ट्री मालिक सी.आर.पी.सी. में पाबन्द सरधना रोड की डेयरियां होगी षिफ्ट,मालिक होगें सी.आर.पी.सी0 में पाबन्ध-डा0प्रभात कुमार ,गन्दगी फैंलाने वालों व मानकों का पालन न करने वालों के विरुद्व होगी सख्त कार्रवाई-आयुक्त

0
972

मेरठ: जनपद के सरधना नाले के आस-पास स्थापित डेरियों को अन्यत्र षिफ्ट किया जाएगा।वातावरण को प्रदूशित करने व गोबर व फैक्ट्री की गन्दगी को नाले में फैंकने के चलते डेयरी संचालकों व गत्ता फैक्ट्री के मालिको पर सी0आर0पी0सी0 की धारा 133 के अन्तर्गत कार्यवाही की जाएगी । ऐसा निर्देष आयुक्त डा0प्रभात कुमार ने सरधना नाले व डेयरियों के निरीक्षण के दौरान आज अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि वातावरण को स्वच्छ व हरा भरा रखना सबकी जिम्मेदारी है व गन्दगी फैंलाने वालों व मानकों का पालन न करने वालों के विरुद्व सख्त कार्रवाई अमल में लायी जाएगी ।
आयुक्त ने नानू की नहर पार करते-करते पैदल ही सरधना नाले का तथा सेन्ट चाल्र्स इण्टर कालिज रोड,सरधना रोड व सरधना चर्च की रोड पर डेयरियों का निरीक्षण किया। इससे पूर्व तहसील सरधना में उप जिलाधिकारी कक्ष में अधिकारियों की बैठक लेते हुए आयुक्त ने जनता की षिकायतों का प्राथमिकता पर निस्तारण करने के निर्देष दिए। आयुक्त ने बताया कि पूर्व में डेयरी संचालकों द्वारा गोबर को नाले में बहाने व गत्ता फैक्ट्री द्वारा फैक्ट्री वेस्ट को नाले में गिराने की षिकायतें प्राप्त हो रही थी जिसपर कार्रवाई करते हुए आज निरीक्षण कर व्यवस्थाओं को ठीक करने ,दोशियों के विरुद्व कार्रवाई करने तथा डेयरियों को षिफ्ट करने के निर्देष अधिकारियों को दिए है ,जिसका षीघ्र अनुपालन सुनिष्चित कराया जाएगा ।
जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने बताया कि सरधना नाले के आस-पास करीब 15 डेयरियां स्थापित है,जिनको अन्यत्र षिफ्ट कराया जाएगा व डेयरी संचालकों को गोबर व अन्य वेस्ट नाले में बहाने तथा गत्ता फैक्ट्री के मालिकों को फैक्ट्री वेस्ट नाले में गिराने के चलते उनके विरुद्व भारतीय दण्ड संहिता (सी0आर0पी0सी0) की धारा 133 के अन्तर्गत कार्रवाई की जाएगी ।
इस अवसर पर उप जिलाधिकारी सरधना राकेष कुमार सिंह,तहसीलदार सरधना पवन कुमार जायसवाल, अधिषसी अभियन्ता सिंचाई विभाग,नीर फाउण्डेषन के रमन त्यागी,डी0वी0कपिल,सहित अन्य अधिकारी व कर्मचारीगण उपस्थित रहें ।

ढाबा,रेस्टोरेंन्ट व आचार बनाने का लें प्रषिक्षण , राजकीय फल संरक्षण केन्द्र करेगा पहले आओ-पहले पाओ पर आवेदन स्वीकृत
राजकीय फल संरक्षण केन्द्र के प्रभारी रामवीर सिंह ने बताया कि शासन के निर्देशों के अनुसार जनपद में 100 दिवसीय खाद्य प्रसंस्करण उद्यमिता विकास प्रशिक्षण तथा 14 दिवसीय ढाबा/फास्टफूड/रेस्टोरेंट का प्रशिक्षण दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि प्रशिक्षण हेतु आवेदक आवेदक को हाईस्कूल पास होना चाहिए तथा उसकी आयु 18 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए। उन्होंने बताया कि इच्छुक आवेदक आवेदन पत्र किसी भी कार्यदिवस में कार्यालय से प्राप्त कर सकते है। उन्होंने बताया कि अभ्यर्थियों का चयन पहले आओ-पहले पाओं के आधार पर किया जाएगा तथा अपूर्ण आवेदन स्वीकार नहीं किया जाएग, आवेदन प्राप्त करने की अन्तिम तिथि 30 जून 2018 है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here