आयुक्त ने की बेगमपुल फलाई ओवर के निर्माण कार्यो की समीक्षा

0
622

मेरठ प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश व जनपद मंे आमजन की सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए अनेकांे  विकास कार्य कराये जा रहे हैं। विकास कार्यो को समयबद्धता, पारदर्शिता व गुणवत्तापरक ढंग से पूर्ण कराने के आदेश समय समय पर दिये जाते रहे हैं। जनपद में बेगमपुल पर 700 मीटर लम्बा, 19 मीटर चैड़ा व करीब साढ़े पांच मीटर ऊंचा फलाई ओवर करीब 70 करोड़ रूपये की लागत से बनाया जाएगा। निर्माण का कार्य सेतु निगम द्वारा किया जाएगा। मेरठ प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश व जनपद मंे आमजन की सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए अनेकांे  विकास कार्य कराये जा रहे हैं। विकास कार्यो को समयबद्धता, पारदर्शिता व गुणवत्तापरक ढंग से पूर्ण कराने के आदेश समय समय पर दिये जाते रहे हैं। जनपद में बेगमपुल पर 700 मीटर लम्बा, 19 मीटर चैड़ा व करीब साढ़े पांच मीटर ऊंचा फलाई ओवर करीब 70 करोड़ रूपये की लागत से बनाया जाएगा। निर्माण का कार्य सेतु निगम द्वारा किया जाएगा। आयुक्त कार्यालय में बेगमपुल पर बनाये जाने वाले फलाई ओवर के सम्बंध में आहुत एक आवश्यक बैठक की अध्यक्षता करते हुए आयुक्त डा0 प्रभात कुमार ने सेतु निगम के अधकारियों को काॅस्ट इफेक्टिव डिजाइन बनाने व कम से कम समय में प्रोजेक्ट को पूर्ण करानें के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि फलाई ओवर की लागत कम हो ऐसी  काॅस्ट इफेक्टिव डिजाइन बनाये तथा यह भी ध्यान रखें कि उसकी गुणवत्ता व मजबूती से कोई समझौता न किया जाए। आयुक्त डा0 प्रभात कुमार ने सेतु निगम के अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह फलाई ओवर की डिजाइन बनाकर एनसीआरटीसी के अधिकारियों कों दे ताकि वह आरआरटीएस प्रोजेक्ट से उसका बेहतर समन्वय बनाते हुए अपनी आख्या इस सम्बंध में दें।  उन्होंने कहा  कि आरआरटीएस प्रोजेक्ट भी बेगमपुल से होकर जायेंगा इसलिए एनसीआरटीसी के अधिकारियों फलाईओवर के डिजाइन को अपने आरआरटीएस के डिजाइन से मेल कर उसकी सुगमता जाचें।  सेतु निगम के महाप्रबंधक डीके शर्मा ने बताया कि बेगमपुल पर बनाये जाने वाला फलाई ओवर हापुड़ रोड से बेगमपुल होते हुए रूड़की रोड की ओर जाएगा।  उन्होंने बताया कि फलाई ओवर चार लेन होगा तथा जिसकी अनुमानित लम्बाई 700 मीटर लम्बा, चैड़ाई 19 मीटर व ऊंचाई करीब साढ़े पांच मीटर होगी। उन्होंने बताया कि इस पर करीब 70 करोड़ रूपये का व्यय आने का अनुमान है।  सेतु निगम के महाप्रबंधक डीके शर्मा ने बताया कि फलाई ओवर का आंगडन कर उसको मुख्यालय स्वीकृति के लिये भेजा जाएगा तथा उसकी तकनीकि स्वीकृति लेने के उपरान्त ही उस पर कार्य प्रारम्भ किया जाएगा। इस अवसर पर उपाध्यक्ष एमडीए सीताराम यादव, सचिव राजकुमार, मुख्य अभियंता दुर्गेष यादव, चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर जे0एन0 रेडडी, एनसीआरटीसी के चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर आर0के0 हस्तू, टीपीएईसी दिल्ली के राजीव राॅय, गौतम गर्ग, यूपी एसबीसी के प्रोजेक्ट मैनेजर के0बी सेतु निगम के एई वी0के0 सिंह, सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here