दिसंबर के पहले सप्ताह में जमीनों के मुआवजे की मांग को लेकर गंगानगर, लोहिया नगर व वेदव्यासपुरी के किसान करेंगे एतिहासिक आंदोलन

0
719

मेरठ 16 नवंबर। लोहिया नगर, गंगानगर, वेदव्यासपुरी के किसानों के मुआवजा संबंधित मामले अगर एक दिसंबर तक नहीं निपटे तो गंगानगर किसान संघर्ष समिति के द्वारा एतिहासिक आंदोलन अपना मुआवजा प्राप्त करने के लिये शांतिपूर्ण तरीके से किया जाएगा।
उक्त जानकारी आज गंगानगर किसान संघर्ष समिति के महामंत्री किसान नेता हरविंदर सिंह ने कचहरी में योगेंद्र शर्मा एडवोकेट के चैंबर पर देते हुए बताया कि पूर्व में दो बार एमडीए बोर्ड की बैठक में हमारे मुआवजे का मामला तय हो चुका है उसके बाद भी एमडीए के अधिकारी हमारा मानसिक और आर्थिक उत्पीड़न करने के साथ साथ समय की बर्बादी करा रहे हैं। इसलिये हमने तय किया है कि अगर मेरठ विकास प्राधिकरण के अधिकारी हमारी मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार कर मुआवजे से संबंध मामलों का निस्तारण नहीं करते हैं तो एक दिसंबर से आंदोलन शुरू हो जाएगा। बताते चले कि नवंबर 2015 में पहली बार बोर्ड के सदस्यों ने इन कालोनियों के किसानों की जमीनों के मुआवजे से संबंधित मामले का निस्तारण कर दिया था। उसके बाद भी एमडीए के कुछ अधिकारी जान बूझकर इस मामले में कोई न कोई बिंदु निकालकर अड़ंेगाबाजी कर रहे हैं। हरविंदर सिंह का कहना था कि मेरठ मंडलायुक्त न्याय प्रिय अधिकारी है और वो चाहते हैं कि हमारी समस्या का समाधान हो जाए मगर एमडीए के कुछ अधिकारी कागजों में कुछ न कुछ कमियां दर्शाकर क्या चाहते हैं यह तो वहीं जाने लेकिन अब हम रोज के आश्वासन से परेशान हो गए। हमारा आंदोलन शांतिपूर्ण होगा लेकिन जब तक समस्या का समाधान नही होगा चाहे हमें जेल भेजे या कुछ भी हो यह आंदोलन जारी रहेगा।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here