सहायक उपकरण व यंत्र पाकर खिले दिव्यांगजनों के चेहरे दिव्यांगों को सरकार की योजना का लाभ दिलाना प्रथम दायित्व- ओमप्रकाश राजभर

0
943

मा0 मंत्री ने 313 दिव्यांगों को प्रदान किये सहायक उपकरण,दिव्यांगों को मिलेगी बैट्री चालित ट्राईसाईकिल-मा0 मंत्री दिव्यांगजन

मेरठ : प्रदेश को विकास के पथ पर आगे बढाने हेतु सभी दिव्यांगों की सहभागिता परम आवश्यक है, इसलिए दिव्यांगों को प्रदेश सरकार की हर योजना का लाभ दिलाना मेरा प्रथम दायित्व है यह विचार आज प्रदेश के मा0 मंत्री पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं दिव्यांगजन सशक्तिकरण ओमप्रकाश राजभर ने रखे। उन्होंने कहा कि मेरा सौभाग्य है कि मुझे अपने कार्यभार में दिव्यांगजनों की सेवा का मौका मिला जिसको ग्रहण करने के बाद विकलंाग विभाग का नाम परिवर्तित कर दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग किया। उन्होंने कहा कि मेरा प्रथम दायित्व प्रदेश के सभी दिव्यांगों को सभी लाभपरक योजनाओं का लाभ व निःशुल्क सहायक उपकरण उपलब्ध कराकर उन्हें उनके पैरों पर खड़ा करना है। इस अवसर पर मा0 मंत्री द्वारा 313 दिव्यांगजनों को निःशुल्क सहायक उपकरण वितरित किये गये।
स्पर्श दृष्टिबाधित बालक इण्टर कालेज परतापुर मेरठ मे आयोजित निःशुल्क सहायक उपकरण वितरण हेतु मेगा शिविर का शुभारम्भ करते हुए मा0 मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि दिव्यांगों को प्रदेश सरकार द्वारा प्रदत्त पेंशन को अब 300 रूपये से बढाकर 500 रूपये किया गया जिसे अन्य प्रदेशों की भांति बढाने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने बताया कि दिव्यांगों के लिए शल्य चिकित्सा की धनराशि को 8 हजार से बढाकर 10 हजार किया गया है। उन्हांेंने बताया कि प्रदेश के 08 मण्डलों में संचालित बचपन डे केयर सेटरों की भांति अब प्रदेश के सभी मण्डलों में सचांलित किया गया तथा बच्चों के लिए मिड-डे मिल योजना भी लागू की गयी है तथा मंद बुद्धि के बच्चों में काॅक्लियर इम्पलांइट सर्जरी के लिए अनुदान की राशि को 10 हजार रूपये से अब 06 लाख रूपये किया गया है।
मा0 मंत्री ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा दिव्यांगों को यूपी रोडवेज की बस में भारत के किसी भी स्थान पर जाने के लिए निशुल्क यात्रा की सुविधा प्रदत्त है। दिव्यांग स्कूलों के छात्रों के भोजन हेतु मिलने वाली राशि को 1200 के स्थान पर 2000 रूपये किया गया है। उन्होंने बताया कि ट्रेनों में भी दिव्यांग जनों के लियो एसी-थर्ड में सफर करने हेतु व्यवस्था की गयी है। उन्होंने कहा कि वह प्रयास करेंगे कि प्रदेश के हर जनपद में दिव्यांगों के लिए बेहतर सुविधा वाले स्कूल विकसित हों।
उन्होंने बताया कि दिव्यांगजनों को और अधिक सशक्त एवं उनके लिए स्वरोजगार की व्यवस्था करने हेतु केन्द्रीय मंत्री के समक्ष सुझाव प्रस्तुत किया है जिस पर केन्द्र सरकार द्वारा 08 हजार बैट्री चलित ट्राईसाइिकल प्रदान की जा रही है। उन्होंने बताया कि बैट्री चालित ट्राईसाईकिल में एक छोटी ट्राॅली होगी जिसके माध्यम से वह रोजमर्रा की आवश्यता की चीजों के साथ चलित दुकान लगाकर आत्मनिर्भर बन सकंेगे। उन्होंने बताया कि भविष्य में इसकों 08 हजार के स्थान पर 08 लाख कराने का प्रयास किया जाएगा।
उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह सुनिश्चित करें कि सरकार की लाभपरक योजनाओं के लाभ एवं सहायक उपकरणों से कोई भी दिव्यांगजन वंचित न रहें। मा0 मंत्री ने कहा कि दिव्यांगजनों को बेहतर जीवन जीने के लिये और क्या किया जा सकता है इसके लिये उनका प्रयास होगा।
जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने मा0 मंत्री को आश्वस्त किया कि उनकी मंशा के अनुरूप जनपद के हर दिव्यांगों को सरकार द्वारा संचालित लाभपरक योजनाओं एवं सहायक उपकरणों का लाभ दिया जायेगा ताकि वह और अधिक सशक्त होकर समाज की मुख्य धारा में शामिल हो सके। उन्होंने कहा कि जनपद के जो दिव्यांग योजना के लाभ व सहायक उपकरणों से अभी वंचित है इसके सम्बंध में व्यापक प्रचार प्रसार कराकर अवशेष दिव्यांगों का चिन्हीकरण कराकर उन्हें निःशुल्क सहायक उपकरण व पेंशन, शादी-विवाह, दुकान निर्माण, दिव्यांग व्यक्तियों से विवाह करने पर प्रोत्साहन पुरस्कार, दिव्यांग निवारण हेतु शल्य चिकित्सा अनुदान, यूनिक आईडी आदि सुविधायें प्रदान करायी जायेंगी। उन्होंने दिव्यांगजनों से अपील की कि वे शासन द्वारा योजनाओं के अन्तर्गत दिये जा रहे लाभ को अन्य वंचित दिव्यांगजनों को जानकारी देकर उन्हें लाभ दिलवाने में सहयोग करें। उन्होंने कहा कि जिन दिव्यांगों को पेंशन नहीं मिली है वे अपना आॅनलाईन फार्म भरकर पेंशन प्राप्त कर सकते हैं।
उन्होंने बताया कि शिविर में 150 ट्राईसाईकिल, 42 व्हीलचेयर, 102 श्रवण यन्त्र, 88 बैसाखी, सहायक उपकरणों के सापेक्ष 313 उपस्थित लाभार्थियों को लाभान्वित किया गया।
मुख्य विकास अधिकारी आर्यका अखौरी ने दिव्यांगजनों को दी जा रही सुविधाओं की विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि जनपद के दिव्यांगजनों को शासन की मंशा के अनुरूप कैम्प लगाकर उनके जीवन को सुगम बनाने हेतु प्रयास किये जा रहे हैं जो आगे भी जारी रहेंगे। उन्होंने बताया कि इससे पूर्व भी दो शिविर लगाकर दिव्यांगजनों को निःशुल्क सहायक उपकरण वितरित किये गये हैं। उन्होंने बताया कि प्रत्येक दिव्यांगजन को भारत सरकार की योजनान्तर्गत यूनिक आईडी आॅनलाइन प्रदान कराने पर कार्य चल रहा है। उन्होंने कहा कि दिव्यंाग पेंशन प्राप्त कर रहे सभी दिव्यांगजन अपना आधार कार्ड एवं बैंक पासबुक अवश्य रूप से विभाग में जमा करायें।
जिला दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी अनिल कुमार ने सरकार द्वारा दिव्यांगजनों के उत्थान हेतु चलायी जा रही विभिन्न योजनाओं पर प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि इस स्पर्श स्कूल में कुल 90 बच्चे शिक्षारत हैं।
इस अवसर पर स्पर्ष विद्यालय के मूकबधिर छात्रों द्वारा मा0 मंत्री का स्वागत गीत गाकर मनमोहक प्रस्तुति दी।
इस अवसर पर उपनिदेशक दिव्यांगजन दीपक शुक्ला, स्पर्ष विद्यालय के प्रधानाचार्य ओमकारनाथ शुक्ला, उपनिदेशक पिछड़ा वर्ग श्री कांड पाल सहित स्वयंसेवी संस्थाओं के पदाधिकारी उपस्थित रहे।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here