पल्लवपुम ‌‌फेस-1 में एक लाख 90 हजार रुपये मीटर में बिका एमडीए का प्लाट

0
4697

मेरठ 23 जुलाई (प्र)। एमडीए में एक ‘0 ने तहलका मचा दिया है। पल्लवपुम ‌‌फेस-1 के एक प्लाट को ई-नीलामी में लगाया गया था। दो जुलाई को आवासीय प्लाट की नीलामी हुई। गुरुवार को ई-नीलामी का ब्योरा वेबसाइट पर डाला गया। पल्लवपुरम फेस-1 के जी-86 प्लाट की नीलामी का रेट देखकर अधिकारी आश्चर्यचकित रह गए। 19 हजार रुपये प्रति वर्ग मीटर के प्लाट का रेट एक आवेदक ने एक लाख 90 हजार 100 रुपये प्रति मीटर का दिया। आवेदक का रेट मानकर उसे एमडीए अधिकारियों ने फाइनल कर दिया। उधर, आवेदक का कहना है कि उससे भूल हो गई है। वैसे यह मामला चर्चा में है।

पल्लवपुरम ‌फेस-1 में जी-86 प्लाट की ई-नीलामी हुई। 19 हजार रुपये प्रति मीटर का न्यूनतम रेट था। एमडीए के आवासीय प्लॉट की ई-नीलामी दो जुलाई को हुई थी। नीलामी का निजल्ट गुरुवार को घोषित किया गया। रिजल्ट में कुल छह संपत्तियों की नीलामी हुई है। आवासीय संपत्तियों की नीलामी में सबसे अधिक रिकॉर्ड रेट पल्लवपुरम फेस-1 के प्लॉट नंबर-जी-86 का देख अधिकारी सकते में आ गए। 168 वर्ग मीटर का प्लॉट है, जिसका न्यूनतम रेट 19 हजार था, आवेदक विपिन पाल ने एक लाख 90 हजार 100 रुपये मीटर का रेट डाला है। यह एमडीए की किसी भी आवासीय योजना में अब तक का अधिकतम रेट है। एमडीए के अधिकारी भी आश्चर्यचकित हैं। उधर, आवेदक का कहना है कि उससे लिखने में भूल हो गई है। 19 हजार 100 लिखना था, लिखा गया एक लाख 90 हजार 100, अब चाहे जो हो, लेकिन निगम के रिकार्ड में उच्चतम रेट दर्ज हो गया। वैसे दो जुलाई को हुई नीलामी में कुल छह संपत्तियों की बिक्री हुई है, जिसमें दो लोहियानगर, दो गंगानगर, एक पल्लवपुरम और एक सैनिक विहार का है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

17 + sixteen =