मेरठ सपा विधायक शाहिद मंजूर के घर देर रात पहुंची पुलिस, बेटे नवाजिश को ले गई लखनऊ

0
19

मेरठ, 25 जनवरी। लखनऊ में गत दिवस हुए अलाया अपार्टमेंट हादसे में अखिलेश यादव की सरकार में श्रम राज्य मंत्री रहे शाहिद मंजूर का परिवार फंस गया है। शाहिद मंजूर के बेटे नवाजिश और भतीजे को हादसे का जिम्मेदार बताया जा रहा है। हादसे का शिकार हुई महिला ने शाहिद मंजूर उसके बेटे का नाम लिया। वहीं लखनऊ से इनपुट के बाद मेरठ में देर रात पुलिस शाहिद मंजूर के जलीकोठी स्थित घर पर पहुंची। वहां शाहिद और नवाजिश से काफी देर पूछताछ की गई। पूछताछ के बाद पुलिस नवाजिश को देर रात ही लखनऊ ले गई है। जहां आज उससे पूछताछ होगी। वहीं पुलिस ने विधायक के परिवार को शहर न छोड़ने का नोटिस भी दिया है।

चर्चा है कि जो अलाया अपार्टमेंट गिरा है वो सपा सरकार के पूर्व मंत्री शाहिद मंजूर के बेटे व भतीजे तारिक की जमीन पर खड़ा किया गया था। अपार्टमेंट बनाने का काम बदनाम बिल्डर याजदान को दिया गया था। इसका एग्रीमेंट पूर्व मंत्री के बेटे व भतीजे ने बिल्डर फहद यजदानी से किया था। इसके बाद दोनों में फ्लैट बांटे गए थे। लखनऊ से निर्देश के बाद मेरठ पुलिस देर रात विधायक के बेटे को उठा लाई। लेकिन उसका भतीजा तारिक अभी फरार है। तारिक को पकड़ने के लिए देर रात पुलिस ने किठौर और माछरा में छापेमारी की लेकिन वो नहीं मिला। शाहिद मंजूर ने पुलिस को आश्वासन दिया है कि वो भतीजे को सामने लाएंगे।

2003 में मंत्री के बेटे नवाजिश और भतीजे तारिक ने इस जमीन को खरीदा था। नवाजिश मंजूर की याजदानी बिल्डर के संचालक फहद याजदानी ने खासी दोस्ती है। इसके चलते मंत्री के बेटे और भतीजे ने याजदान बिल्डन से एग्रीमेंट कर लिया। एग्रीमेंट के बाद याजदान बिल्डर ने इमारत बनवाई। इमारत में पेंटा हाउस और चौथी मंजिल का फ्लैट शाहिद मंजूर का था। नवाजिश ने अपनी बेटी के नाम पर इस बिल्डिंग का नाम अलाया रखा था।

बेसमेंट में पाइप डलवाने के कारण हादसा :
युवती का आरोप है कि मेरठ के शाहिद मंजूर ने ही ये पेंटाहाउस बनवाया था। इतना ही नहीं ये भी बताया कि शाहिद मंजूर इमारत के बेसमेंट में पाइप डलवाने का काम करा रहे थे। पिछले तीन दिनों से ये काम चल रहा था। युवती ने इस बात का विरोध भी किया था। विरोध करने पर एक दिन पहले हंगामा भी हुआ।

शाहिद मंजूर से भी पूछताछ :
लखनऊ से इनपुट मिलने के बाद मामले में पूछताछ के लिए मेरठ पुलिस भी देर रात शाहिद मंजूर के घर पहुंची। उनके बेटे नवाजिश मंजूर से पुलिस ने पूछताछ की। फिर उन्हें लखनऊ ले जाया गया। पूछताछ में सामने आया कि जिस अलाया अपार्टमेंट में हादसा हुआ वो बिल्डिंग याजदान बिल्डर ने बनाई थी।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here