21 जुलाई को रिलीज होने वाली फिल्म ‘मुहम्मद द मेसेंजर ऑफ गॉड’ का ​विरोध शुरू

0
274

मेरठ 20 जुलाई (प्र) पैगंबर पर बनी फिल्म मुहम्मद द मैसेंजर ऑफ गॉड का रिलीज होने से पहले ही विरोध शुरू हो गया है। मेरठ में भी उलेमा अब इसके विरोध में उतर आए हैं। डिजिटल प्लैटफॉर्म पर फिल्म के रिलीज से पहले कई मौलानाओं ने इसे बैन किए जाने की मांग की है। मोहम्मद साहब के जीवन पर आधारित ईरान के विख्यात फिल्मकार माजिद माजिदी की फिल्म ‘मोहम्मद: मैसेंजर ऑफ गॉड’ पर यह कोई पहली बार विवाद नहीं हो रहा है। फिल्म के डायरेक्टर माजिद मजीदी और म्यूजिक कम्पोजिशन देने वाले एआर रहमान के खिलाफ एक फतवा जारी हुआ था। मुस्लिम धर्मगुरुओं ने 21 जुलाई को डिजिटल प्लैटफॉर्म पर होने वाले रिलीज को रोकने की अपील की है।

कारी अफ्फान ने कहा कि इस फिल्म में पैगंबर का मजाक बनाया गया है। हम किसी भी धर्म और मजहब पर बनने वाली ऐसी फिल्मों का विरोध करते हैं। इस फिल्म पर पूरी तरह से रोक लगानी चाहिए। उन्होंने कहा कि एआर रहमान और माजिद माजिदी ने मजहब का अपमान किया है। मौलाना शाहिन ने फिल्म के बारे में कहा कि हालांकि उन्हें अभी यह नहीं पता है कि फिल्म में है क्या, लेकिन अगर इसमें पैगम्बर के बारे में कुछ भी अपमानजनक है तो इस पर पूरी तरह से रोक लगाई जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि पूरे मुस्लिम समाज को इसका विरोध करना चाहिए।

वहीं मेरठ में जमीयत उलेमा ने भी फिल्म का विरोध करते हुए इसके रिलीज करने पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। जमीयत उलेमा के मौलाना सलमान ने कहा कि किसी भी धर्म या मजहब के पूज्य पर आपत्तिजनक फिल्म बनाना उनका अपमान करना है। हम इसका विरोध करते हैं।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen − 5 =