रेडक्रास सोसायटी जब बागपत में पदाधिकारी चुने जा सकते है तो मेरठ में क्यों नहीं?

0
209

मेरठ 10 जून (प्र)। अंर्तराष्ट्रीय संगठन रेडक्रास सोसायटी का विदेशों में जो मान सम्मान है वर्तमान समय में उसकी तो उम्मीद अपने यहां नहीं की जा सकती लेकिन जिस तरीके से इस कोरोना महामारी के काल में प्रदेश के कुछ जिलों में इस संगठन को नजरअंदाज किया जा रहा है वो समझ से बाहर है। क्योंकि धार्मिक सामाजिक और स्वतंत्रता के दृष्टिकोण से अत्यंत महत्वपूर्ण अपने जनपद में पिछले तीन साल से रेडक्रास सोसायटी के चुनाव नहीं कराये गये। इसके पीछे क्या कारण रहे यह तो जिम्मेदार ही जान सकते है मगर यह बात कही जा सकती है कि अगर इसके विधिवत चुनाव हुए होते तो इसके पदाधिकारी और सदस्यों द्वारा कोरोना महामारी के दौर में पीड़ितों की कई प्रकार से संगठित रूप में मदद की जा सकती थी।
बीते दिनों देश में कुछ विधानसभाओं के चुनाव संपन्न हुए तो अपने यूपी में त्रिस्तीय पंचायत चुनाव संपन्न हुए और अभी भी चुनावी माहौल बना हुआ है। बराबर के जनपद बागपत में र्निविरोध रेडक्रास सोसायटी के पदाधिकारी थोड़े से प्रयासों से पदाधिकारी चुन लिये गये तो फिर मेरठ में चुनाव होने में क्या कठिनाई है। बताते चले कि उप्र की महामहिम राज्यपाल एवं रेडक्रास सोसायटी की प्रदेश अध्यक्ष माननीय आनंदीबेन पटेल जी के निर्देश अनुसार बागपत के जिलाधिकारी राजकमल यादव के दिशा निर्देशों मे मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 राजकिशोर टंडन द्वारा पिछले दिनों चुनाव संपन्न कराये गये। जिसमें ईश्वर दयाल अग्रवाल हंसराज गुप्ता संरक्षक दीपक गोयल चेयरमैन अजय गोयल उपप्रबंधक अभिमन्यु गुप्ता सचिव पंकज गुप्ता कोषाध्यक्ष निर्वाचित हुए।
जब बागपत में चुनाव हो सकते है तो आखिर मेरठ में जिलाधिकारी के0 बालाजी रेडक्रास सोसायटी के चुनाव संपन्न कराकर चुने हुए प्रतिनिधियों जिनकी पैठ शहर से लेकर गांव देहातों के गली मौहल्लों तक होती है उनका सहयोग कई महत्वपूर्ण कार्यों में क्यों नहीं ले रहे। बागपत में हुए रेडक्रास सोसायटी के चुनाव में चुने गये पदाधिकारियों के नामों को देखकर सोसायटी से जुड़े कुछ लोगों द्वारा कहा जा रहा है कि शीघ्र डीएम साहब से मिलकर सोसायटी के सचिव का पद जो पिछले कुछ वर्षों में किन्हीं कारणों से सरकारी अधिकारी को दिया जाने लगा था उस पर भी पब्लिक में मौजूद किसी सदस्य को यह पद चुनाव में दिया जाना चाहिए की मांग की जाएगी।
अगर किसी कारणवंश चुनाव कराने में कोई कठिनाई आ रही है तो नागरिकों के प्रतिनिधियों का सम्मानजनक सहयोग लेने हेतु रेडक्रास सोसायटी के पूर्व चेयरमैन और अपने समय में महत्वपूर्ण कार्य कर चुके और अब भी हमेशा प्रशासन के सहयोग के लिए उपलब्ध रहने वाले अजय मित्तल और डा0 गलेन्द्र शर्मा सहित अन्य पदाधिकारी और सदस्यों को एक वर्ष या कुछ महीनों के लिए मनोनीत कर किया जा सकता है चुनाव होने तक।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × five =