Friday, July 19

शोभित विवि दीक्षांत समारोह कल, पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद होंगे मुख्य अतिथि

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 27 जून (प्र)। भारत के 14वें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 28 जून को मेरठ की शोभित यूनिवर्सिटी में होनहारों को सम्मानित करेंगे. इस मौके पर दुनिया भर में विख्यात वर्ल्ड टॉयलेट ऑर्गेनाइजेशन एवं रेस्टरूम संगठन, सिंगापुर के जैक सिम और ऑस्ट्रेलिया के चर्चित ब्रायन ओ’डोनिल को मानद उपाधि समेत प्रतिभाशाली स्टूडेंट्स को उनकी कार्यकुशलता और शोध के लिए सम्मानित किया जाएगा.

मेरठ स्थित शोभित विश्वविद्यालय 28 जून 2024 को अपने 15वें दीक्षांत समारोह का आयोजन करने जा रहा है. इस समारोह में भारत के 14वें राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करेंगे. इस कार्यक्रम में जहां स्टूडेंट्स को डिग्री प्रदान की जाएंगी वहीं, आयोजन में पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद स्टूडेंट्स को जीवन में आगे बढ़ने के लिए टिप्स भी देंगे. इस समारोह में देश के बाहर से भी गेस्ट पहुंच रहे हैं.

विश्वविद्यालय के कुलाधिपति कुंवर विजेंद्र शेखर ने बताया कि यह विश्वविद्यालय का पंद्रहवां दीक्षांत समारोह है, जिसमें विशिष्ट अतिथि के तौर पर जैक सिम मौजूद रहेंगे, जो कि वर्ल्ड टॉयलेट ऑर्गेनाइजेशन एवं रेस्टरूम संगठन, सिंगापुर के संस्थापक हैं और दुनिया भर में उनकी पहल के बावजूद ही कई बड़े निर्णय हुए हैं. इतना ही नहीं उन्हें सैनिटाइजेशन के क्षेत्र में विशिष्ट कार्यों के लिए “डॉक्टर ऑफ लिटरेचर” की मानद उपाधि भी राष्ट्रपति के तौर पर प्रदान की जाएगी.

कुलाधिपति कुंवर विजेंद्र शेखर ने बताया कि ऑस्ट्रेलिया से भी ख्याति प्राप्त ब्रायन ओ’डोनिल शोभित विश्वविद्यालय पहुंच रहे हैं. विश्वविद्यालय की तरफ से उन्हें भी मानद उपाधि के लिए चिन्हित किया है. ब्रायन ओ’डोनिल, वर्तमान में सेंटर फॉर पेवमेंट एक्सीलेंस एशिया पेसिफिक लिमिटेड, मेलबर्न, ऑस्ट्रेलिया को अपशिष्ट से ऊर्जा और सड़क स्थिरीकरण के क्षेत्र में किए गए विशिष्ट कार्यों के लिए “डॉक्टर ऑफ साइंस” की मानद उपाधि दी जाएगी. इस समारोह में मुख्य अतिथि रामनाथ कोविंद अपने समस्त परिवार के साथ कार्यक्रम में सम्मिलित होंगे.

उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय ने अनुसंधान एवं नवाचार के क्षेत्र में महत्वपूर्ण उपलब्धियां हासिल की हैं. विश्वविद्यालय ने सैकड़ों राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय कार्यशालाएं, सम्मेलन एवं गोष्ठियों का सफल आयोजन किया है. इसके अतिरिक्त, विश्वविद्यालय के छात्रों एवं शिक्षकों ने 960 पेटेंट अब तक फाइल किए हैं, जिनमें से 256 पेटेंट प्रकाशित हो चुके हैं. विश्वविद्यालय ने 2400 से अधिक अंतरराष्ट्रीय एवं राष्ट्रीय स्तर पर शोध पत्र प्रस्तुत एवं प्रकाशित अब तक किए हैं.

Share.

About Author

Leave A Reply