लोकसभा की आश्वासन समिति के चेयरमेन, सांसद राजेन्द्र अग्रवाल ने की एसएमए की वेबसाईट लांचिग

0
296

संगठन ही शक्ति, लोकसभा की आश्वासन समिति के चेयरमेन, सांसद राजेन्द्र अग्रवाल ने की एसएमए की वेबसाईट लांचिग, रवि कुमार बिश्नोई ने कहां सोशल मीडिया मंच अपनी बात कहने का है अच्छा माध्यम
फेसबुक, इंस्टाग्राम, वाट्सऐप, ट्वीटर, ब्लाॅग, बेबसाईट आदि से जुड़े लोग सदस्य बने

नइ दिल्ली/मेरठ 30 जून। 11 अप्रैल 2014 को गठित सोशल मीडिया एसोसिएशन द्वारा आज सोशल मीडिया डे के मौके पर इस क्षेत्र से जुड़े लोगो में तालमेल बनाये रखने और इनके समक्ष आने वाली समस्याओ की ओर सरकार का ध्यान आकर्षित करने तथा संगठन ही शक्ति है की भावना को आत्मसाध कर बनायी गयी सोशल मीडिया एसोसिएशन एसएमए की वेबसाईट का विधिवत रूप से मेरठ हापुड़ लोकसभा क्षेत्र से तीसरी बार सांसद चुने गये, लोकसभा की आश्वासन समिति के चेयरमेन व लोकसभा स्पीकर पैनल के सदस्य श्री राजेन्द्र अग्रवाल द्वारा वर्चुअल रूप से वेबसाईट का शुभारंभ आॅनलाईन न्यूज चैनल ताजाखबर.काॅम के चेयरमेन, मजिठियां बोर्ड यूपी के पूर्व सदस्य श्री अंकित बिश्नोई व फिल्मीहलचल.काॅम के चेयरमेन यूपी सरकार से मान्यता प्राप्त पत्रकार श्री कबीर सिंह की मौजूदगी में किया गया। इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने वेबसाईट से जुड़े सभी लोगो को अंकित बिश्नोई, रवि कुमार बिश्नोई अराती बिश्नोई व कबीर सिंह आदि को बधाई दी और कहां की ऐसी वेबसाईट समय की मांग है मै हर समय आप लोगो के साथ हुं कोई भी काम हो मुझे बताइये।। एसएमए के संस्थापक वरिष्ठ पत्रकार मेरठरिपोर्ट.काॅम आदि से जुड़े रवि कुमार बिश्नोई ने अपने आॅनलाईन लाईव सम्बोधन में इस मौके पर कहा की।

विश्व सोशल मीडिया डे 30 जून पर सोशल मीडिया एसोसिएशन की बेवसाईट एसएमए की वर्चुअल लांचिग करते लोकसभा की आश्वासन समिति के चेयरमेन स्पीकर पैनल के सदस्य, सांसद श्री राजेन्द्र अग्रवाल साथ में सांसद प्रतिनिधि राजीव व रवि कुमार बिश्नोई तथा अंकित बिश्नोई लाईव वार्ता करते चित्र में नजर आ रहे है। दूसरे चित्र में एसएमए की वेबसाईट का अवलोकर्न करते दिखाई दे रहे है सांसद

संगठन आदमी को मजबूती और आत्मविश्वास भरा समर्थन देते है जब कोई सदस्य किसी संगठन से जुड़ता है तो वो अकेला नही रहता उसके साथ कई हाथ और आवाजें जुड़ जाती है और इसी के माध्यम से संस्था के सदस्य स्पष्ट और मजबूती के साथ अपना पक्ष रखते है।
11 अप्रैल 2014 को सोशल मीडिया के विभिन्न मंचों से जुड़े लोगो को संगठित करने के लिए एक संगठन बनाने पर चर्चा हुई 15 मई को सोशल मीडिया एसोसिएशन का नाम तय हुआ 28 जून 2014 को पदाधिकारी चुने गये। 20 जुलाई को अधिकारिक रूप से रजिस्ट्रेशन कराने पर चर्चा हुई फिर फेसबुक के माध्यम से इसका संचालन शुरू हो गया ओर आज सोशल मीडिया डे पर एसएमए की वेबसाईट की लांचिग हुई।
साथियों आप हमसे जुड़े सदस्य बने सहयोग करे अपनी ओर हमारी बात मजबूती से कहने का माध्यम बने।
श्री बिश्नोई ने कहा की दुनिया में सोशल मीडिया से फेसबुक वेवसाईट, ट्वीटर, वाट्सऐप, इंसटाग्राम
लिंकडिइन, पिनट्रेस्ट जैसे आदि माध्यम छोटी से छोटी बात को दुनियाभर में कुछ संेकिन्डों में पहुंचाने मे सक्षम है। एक जानकरी अनुसार 5.8 बिलियन इसके यूजर और 321 मिलियन यूजर इस
रोज व बढ़ते बताये जाते है।
पहला वेबपेज 1991 को सर्न नाम से बनाया गया। आज यह खुशी की बात है की देश की सरकार ने 59 चीनी ऐप पर रोक लगा दी है। अब पूरे विश्व में भारतीय ऐप के रूप में स्वदेशी को बढ़ावा मिलेगा।
श्री रवि कुमार बिश्नोई ने अपने लाईव में कहा की जब इसके गठन की भावना मन में आयी उस
समय एक योजनाबद्ध तरिके से कुछ लोग सोशल मीडिया को बदनाम करने का अभियान चलाये हुए थे। तो लगा की जो माध्यम किसी से दुर नही है सबको अपनी बात कहने और आगे बढ़ने का मौका देता है और जिसके माध्यम से पूरी दुनिया आज आपकी मुट्ठी मंे समायी है क्योकि उद्योगिक हो स्वास्थ्य व रोजगार पढ़ायी सबंधी हो कोई भी जानकरी आप इसके माध्यम से कुछ सेकेडों में प्राप्त कर सकते है और इसके लिए ना कही जाना पड़ता है और नही कुछ खर्च करना पड़ता है।
और रही बात अच्छे और बूरे पहलू की
वो हर विषय से जुड़े रहते है। दिये के तले अंधेरा होने के चलते जिस प्रकार हम रोशनी के लिए दीपक जलाना नही छोड़ते उसी प्रकार इसके अच्छे पक्ष को ध्यान में रखते हुए सोशल मीडिया का उपयोग छोड़ा जाना भी सम्भव नही है।
आप देखिये कल तक जो उनकी बुरायी करते थे आज वो इसे आगे बढ़कर अपना रहे है। उनके अतिरिक्त सरकार, जनप्रतिनिधि राजनैतिक दल, इससे जुड़कर अपने संगठनो ंकी मजबूती के लिए काम कर रहे है। इसके उदाहरण के रूप मे पिछले दिनों भारतीय जनता पार्टी द्वारा बूथ स्तर तक सवा करोड़ सदस्य बनाये जाने को देखा जा सकता है।
अपने लाईव सम्बोधन में श्री रवि कुमार बिश्नोई ने कहां की हमें सोशल मीडिया के माध्यम से हर तरह के प्रदुषण को रोकने और पर्यावरण संतुलन बनाये रखने के प्रयासो के तहत पानी पहाड़ जमीन के दोहन को रोकने तथा बेसकीमती तेल और हरियाली के प्रतीक पेड़ों केा बचाने का प्रयास भी करना है। जिससे कोरोना जैसी महामारियों का नागरिकों को सामना ना करना पड़े।
श्री बिश्नोई का कहना था की सन 105 में जानकरी अनुसार साईलुन नामक हिजड़ने ने कागज की खोज की तो 14 जनवरी 1863 को वोस्टर्न मे लकड़ी की लुगधी से बने कागज पर पहला अखबार छपा लेकिन अब जो टीआरपी और पृष्ठों की संख्या बढ़ाने की जो बार चल रही है। सोशल मीडिया उसे रोकने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभार रहा है क्योकि कागज की कम खपत होगी तो पेड़ों का कटान भी कम होगा।
मै एसएमए की बेवसाईट की लांचिग के मौके पर विद्या नाॅलिज पार्क के चेयरमेन श्री प्रदीप जैन, रिश्तों का संसार के संचालक श्री महेश शर्मा कौमी एकता संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष भाजपा व व्यापारी नेता संदीप गुप्ता ऐल्फा, न्यूज फस्र्ट.काॅम के चेयरमेन डाॅ. ललित भारद्वाज आदि के साथ ही वेबसाईट के अच्छे निर्माण के लिए वेबडिजाईनर शिवांग केसरी, ग्राफिक्स डिजाईनर नताशा वर्मा का भी आभार व उनके द्वारा दिये गये सहयोग के लिए उनका भी आभार व्यक्त करता हुं।
श्री बिश्नोई ने कहा की विश्वभर में निवास करने वाले भारतीय तथा भारत के संविधान में विश्वास रखने वाले और देश की उन्नति की सोचने वाला कोई भी व्यक्ति इसका सदस्य बन सकता है।

विश्व सोशल मीडिया डे 30 जून के मौके पर आज सोशल मीडिया एसोसिएशन एसएमए की बेवसाईट की लांचिग हुई। चित्र में लांचिग करते इसके संस्थापक रवि कुमार बिश्नोई, अंकित बिश्नोई व आईमा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री महेश शर्मा संचालक रिश्तों का संसार चित्र में नजर आ रहे है।
बताते चले की भारतीय संविधान में विश्वास और आस्था रखने वाला विश्व का कोई भी व्यक्ति जो किसी सोशल मीडिया मंच से जुड़ा हो इसका आॅनलाईन व आॅफलाईन फार्म भरकर सदस्य बन सकता है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × 1 =