बीएससी में फेल हुए छात्रों ने कुलपति कार्यालय के सामने किया धरना और प्रदर्शन

0
49

मेरठ 26 सितंबर (प्र)। मेरठ में आज बीएससी और अन्य विषयों में अधिकतर छात्रों के फेल होने पर विभिन्न कालेजों के छात्रों ने कुलपति कार्यालय के सामने धरना दिया और प्रदर्शन भी किया। कुलपति कार्यालय के सामने डेढ़ घंटे से बैठे साथ लगातार धरना प्रदर्शन व नारेबाजी कर रहते रहे। दोपहर तक कुलपति कार्यालय में कुलपति सहित तमाम अधिकारी बैठे हैं लेकिन अब तक एक भी अधिकारी कुलपति की ओर से छात्रों से न बातचीत करने पहुंचा और न ही उनके धरने का कारण जानने पहुंचा है। बीएससी में एक साथ अधिकतर छात्रों को फेल किए जाने के मामले में विश्वविद्यालय ने अपना डाटा निकालकर यह भी जानने की कोशिश नहीं की है कि कितने छात्र वाकई में फेल हुए हैं।

बताते चले कि सीसीएसयू नियमावली में किसी एक कक्षा के 75 प्रतिशत छात्र फेल होने पर ही निश्शुल्क मूल्यांकन दोबारा किया जाता है। पुनर्मूल्यांकन के लिए छात्रों को 3300 रुपये प्रति विषय कोड खर्च करने पड़ते हैं। 3000 रुपये मूल्यांकन शुल्क और 300 रुपये अनिवार्य रूप से छात्रों को आरटीआई में प्रति विषय कोड कॉपी लेकर देखना पड़ता है। आरटीआई में कॉपी देखे बिना कोई छात्र सीधे पुनर्मूल्यांकन के लिए आवेदन नहीं कर सकता है। छात्रों में इस बात की भी नाराजगी है कि बीएससी छात्रों को फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी में शून्य, एक, दो, पांच, सात नंबर मिले हैं।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here