चिंतन धारा आश्रम में मनाई स्वामी विवेकानंद की जयंती

0
442

मेरठ, 12 जनवरी।  डॉ गगन के अनुसार आज पावन चिंतन धारा आश्रम में गत दस वर्षों से प्रेरणास्रोत स्वामी विवेकानंद जी के अवतरण दिवस को ‘आत्म निर्माण दिवस’ के रूप में मना रहा है जिससे देश के युवा उनके जीवन से प्रेरित होकर स्वयं का निर्माण कर सकें। आज इस शुभ अवसर पर आश्रम द्वारा संचालित ऋषिकुलशाला प्रकल्प के अंतर्गत देशभर में शिक्षा प्राप्त कर रहे लगभग 600 बच्चों के लिये निःशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण सेवा कार्यक्रम का आयोजन विभिन्न शहरों गाज़ियाबाद,  मेरठ,  दिल्ली,  लखनऊ,  रायपुर,  कानपुर और मुंबई आदि के 14 केन्द्रों सहित हमारे शहर में जागृति विहार, व शास्त्री नगर में  किया गया। जिसमें डॉक्टरों द्वारा बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें आवश्यक निर्देश दिए गए तथा उन्हें खाद्य सामग्री भी वितरित की गई।

हमारे शहरवासियों के लिए सौभाग्य की बात है कि इस अवसर पर आश्रम के संस्थापक एवं प्रसिद्ध आध्यात्मिक चिंतक श्रीगुरु पवन सिन्हा जी, आदरणीय गुरु माँ डॉ कविता अस्थाना जी एवं आश्रम सदस्य उपस्थित रहे तथा डॉक्टर् गगन जी एवं उनकी टीम ने विशेष सहयोग दिया।
ज्ञातव्य हो कि पावन चिंतन धारा आश्रम ऋषिकुलशाला प्रकल्प का संचालन करता है जिसके अंतर्गत हाशिये पर अपना जीवन व्यतीत करने वाले बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा निःशुल्क उपलब्ध कराई जाती है| बच्चों को ब्रेन-बिहेवियर ट्रेनिंग दी जाती है जिससे बच्चों का मस्तिष्क प्रखर बने, उनकी एकाग्रता बढ़े और वे भी प्रेम, करुणा आदि गुणों को आत्मसात कर सकें। श्रीगुरु पवन सिन्हा जी का कहना है कि ऋषिकुलशाला – एजुकेट इंडिया,रीबिल्ड इंडिया, राष्ट्र-निर्माण का कार्य है जिसमें योगदान कर हम देश की अमूल्य सम्पत्ति, इन बच्चों को विकास की मुख्यधारा से जोड़ने का पुण्य कार्य करते हैं।
आश्रम के सदस्य देश भर में इसका विस्तार कर रहे हैं । आज पुणे शहर में भी ऋषिकुलशाला प्रकल्प के एक केंद्र का उदघाटन हुआ जिसमें लगभग 30 बच्चों को निरन्तर शिक्षित किया जाएगा।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × four =