जिनका अपराधिक इतिहास ना हो वो मुचलका नोटिस ने लें और न ही शस्त्र जमा करायें-डा. वाजपेयी एक गाडी वाले का वाहन न लिया जाए

0
298

मेरठ 20 मार्च। अगर किसी का आपराधिक या चुनाव के दौरान गडबडी का कोई इतिहास ना हो तो वो इस संदर्भ में किये गये मुचलकों के नोटिस रिसीव ना करें और पुलिस जबरजस्ती करे तो कोर्ट जाएं। उक्त शब्द प्रदेश भाजपा के पूर्व अध्यक्ष डा. लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने इस संदर्भ में पूछे गये एक प्रश्न के उत्तर में कहे गये।

एक होली मिलन के कार्यक्रम में शामिल होने पहंुचे लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने आॅन लाइन ताजा न्यूज चैनल खबर डाट काॅम और दैनिक केसर खुशबू टाईम्स के प्रतिनिधि को बताया कि चुनाव आचार संहिता के संदर्भ में जारी किताब में कहीं नहीं लिखा है कि जिन लोगों का चुूनाव में गडबडी या वैसे कोई अपराधिक इतिहास हो न तो उनके मुचलके किये जाए और न ही उनके शस्त्र जमा कराने का निर्देश दिया गया है। पुलिस राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं में आतंक पैदा करना और जनता में डर बनाने हेतु यह सब कर रही है। डा. लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने कहा कि अगर कहीं पुलिस गलत तरीके से शस्त्र जमा कराने या मुचलका नोटिस रसीव कराने का प्रयास करती है तो उसका विरोध शांतिपूर्ण तरीके से करते हुए उच्च अधिकारियों और राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से संपर्क करें और आवश्यकता हो तो लोग कोर्ट भी जा सकते है, तुरंत न्याय मिलेगा।

डा. लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने एक अन्य प्रश्न के उत्तर में कहा कि चुनाव कार्याें के लिए जिनके पास एक से ज्यादा गाड़ियां है उन्हीं से वाहन ली जा सकती है, वो भी घर जाकर आरटीओ आफिस में पूरा इतिहास है इसलिए आम आदमी को इस मामले में परेशान नहीं किया जाना चाहिए। डा. लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने कहा कि मैंने ऐसे ही कुछ मुद्दों को लेकर अधिकारियों से अपना विरोध जताया है और जरूरत पडी तो फिर अधिकारियों से मिलूंगा। मगर किसी भी रूप में नागरिकों का उत्पीडन नहीं होने दूंगा।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

six + 4 =