वैश्य बाल सदन में घपले का मामला 2009 का वर्तमान नहीं, पत्रावलियां निकलवाकर और पदाधिकारियों से जानकारी प्राप्त कर की जाएगी उचित कार्रवाईः मंत्री

0
1111

मेरठ 22 मई। लाला रामानुज दयाल वैश्य बाल सदन के संदर्भ मंें आज समाचार पत्रों में छपी खबर 2 लाख का घपला के संदर्भ में वर्तमान मंत्री श्री हर्ष वर्धन राजवंशी एडवोकेट, ने पूछने पर बताया कि यह मामला उनके सामने का नहीं है 2009 का है।
मुझे जैसे ही इस प्रकरण के बारे में खबर लगी तो तुरंत उस समय के मंत्री योगेंद्र जैन को पत्र लिखकर सारी जानकारी मांगी गई है। और उन्हे बुलाकर इस संबंध में पूरे विवरण पर भी जानकारी प्राप्त की जाएगी। बताते चले कि संस्था फिलहाल किसी भी प्रकार की कोई सरकारी सहायता नहीं ले रही हैं 2009 में उस समय के मंत्री योगेंद्र जैन ने सहायता क्यों ली। यह तो वही बता सकते हैं। बताया जा रहा है कि इस पूरे प्रकरण के दौरान संस्था के अध्यक्ष पद पर अभय गुप्ता, दयाल फर्टीलाईजर , मंत्री पद पर योगेंद्र जैन, कार्यालय अधीक्षक पद पर जेएस गुप्ता विराजमान थे। उनसे पूर्ण जानकारी करने का प्रयास किया जा रहा है। हर्षवर्धन बिटटन का कहना है की कोई भी शासन या प्रशासन से उपर नही। अगर जांच में कोई बात सामने आयी है तो उसकी पूर्ण जानकारी कर इस संदर्भ में न्याय उचित कार्रवाई जो शासन और संस्था के हित मंे होगी वो की जाएगी।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here