राज्यपाल ने किया दिल्ली की बुलबुल पुस्तक का विमोचन

0
1243

मेरठ 10 मई। विद्या प्रकाशन मन्दिर के स्वर्णिम सफर में एक और गर्वपूर्ण क्षण जुड़ा गया गत दिवस लखनऊ रजभवन में विद्या प्रकाशन मन्दिर द्वारा प्रकाशित ‘दिल्ली की बुलबुल’ नामक पुस्तक का विमोचन राज्यपाल श्री
राम नाईक द्वारा किया गया। राज्यपाल राजभवन में वरिष्ठ आईएएस अफसर डाॅ. अनिता भटनागर जैन द्वारा लिखित व विद्या प्रकाशन मन्दिर द्वारा प्रकाशित किताब ‘दिल्ली की बुलबुल’ के विमोचन पर बोल रहे थे। राज्यपाल ने कहा कि ‘बहुत दिन बाद एक अच्छी किताब देखने को मिली है। उन्होंने कहा कि काम कैसे होना है और कैसे नहीं होना है, यह आईएएस अफसरों से अच्छा कोई नहंी जानता। हाँ, फाईल पर लिखना और बात है, पर किसी विषय पर लिखना अलग बात है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण बचाने के लिये पेट्रोलियम पदार्थो का विकल्प जरूरी है। डीजल-पेट्रोल के वाहनों से ही सबसे अधिक प्रदूषण होता है। उन्होंने कहा कि जब वे केंन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री थे उस समय पेट्रोल-डीजल के विकल्प के रूप में सीएनजी का इस्तेमाल शुरू करवाया था।पहले विरोध हुआ लेकिन बाद में सीएनजी सस्ती होने के कारण पैसे बचने लगे। डाॅ. अनिता भटनागर ने अपने अनुभव के आधार पर वास्तविकता के धरातल पर आकर लिखा है। ऐसी कहानी संग्रेह के माध्यम से बच्चे भी पर्यावरण के प्रति सचेत होंगे और दूसरों को भी प्रेरित करेंगे। मुख्य सचिव राजीव कुमार ने कहा कि ‘दिल्ली की बुलबुल’ में जो संदेश है वह पात्रों और पृष्ठभूमि की दृष्टि से महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि पुस्तक पढ़कर बचपन की याद ताजा हो गई। डाॅ. अनिता भटनागर जैन ने बताया कि ‘दिल्ली कुी बुलबुल’ मंे पशु, पक्षी ही पात्र है। कटते पेड़ों की वजह से पक्षियों की आवासीय समस्या को केन्द्र में रखकर यह पुस्तक लिखी गई है।
यह पृथ्वी हमारी आपकी ही नहीं बल्कि उन करोड़ों पशु-पक्षियों व जीव जंतुओं की भी है। अंत में डाॅ. अनिता भटनागर जैन ने पुस्तक की पूर्ण होने में आशीष भारद्वाज एवं कुलभूषण सिंह के सहयोग पर धन्यवाद प्रेषित किया। ‘दिल्ली की बुलबुल’ पुस्तक के विमोचन के समय विद्या प्रकाशन मंदिर के निदेशक विशाल जैन ने अतिथियों को धन्यवाद दिया। इस उपलब्धि पर विद्या प्रकाशन मन्दिर के श्री सुरेन्द्र कुमार जैन, श्री प्रदीप कुमार जैन व श्री सौरभ जैन ने हर्ष व्यक्त किया।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here