स्मार्ट कैंटः तोपखाना से अतिक्रमण और गंदगी के खिलाफ शुरू हुई जंग

0
608

मेरठ 7 जून। कैंट को स्मार्ट बनाने के लिए सीईओ ने 100 दिन का एक्शन प्लान बना इस पर काम करने के लिए एक टीम को हरी झंडी दी है। इन सौ दिनों में कैंट में पाॅलिथीन इस्तेमाल करने वालों, नालों के अंदर और खत्तों के बाहर कचरा डालने वालों पर जुर्माना होगा। सड़कों पर वाहन खड़े करने वाले गैराजों का चालान होगा और सड़कों पर चलते कार बार बंद होंगे। इसके अलावा बंदर भगाने को लंगूर भी लगाए गए तथा आवारा पशु कांजी हाउस में बंद किए जाने की मुहिम भी अब छीड़ गई है। इसके अलावा स्वच्छ छावनी, स्वस्थ छावनी नाम से शुरू किए जा रहे इस सौ दिन के महाअभियान के लिए सीईओ प्रसाद चव्हाण ने सीईई अनुज सिंह, सफाई अधीक्षक वीके त्यागी, राजस्व अधीक्षक जयपाल तोमर और राजकुमार शर्मा की एक टीम गठित की है।
इस टीम ने आज सुबह नौ बजे तोपखाना से अभियान का आगाज कर दिया। नियम तोड़ने वालों पर कानून का शिकंजा कसने के साथ यह टीम गंदगी के खिलाफ सीधा जंग लड़ेगी। कैंट में जर्जर हो चुके घरों का सर्वे किया जाएगा तथा पुरानी सामग्री और स्क्रैप से तिकोने पार्कों का सौन्दर्यीकरण भी इस टीम के द्वारा किया जाएगा।
अतिक्रमण करने वालों के खिलाफ कार्रवाई के लिए बाजारों और घरों की छतों पर ड्रोन से तस्वीरें ली जाएंगी। यह दस्ता हर रोज पूरे अमले के साथ सुबह आठ बजे निकलेगा और शाम छह बजे तक काम करेगा। इसके साथ ही आवारा कुत्ते, गाय-भैंस को पकड़ने के लिए भी अभियान छेड़ा जाएगा।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here