महिलाओं के अधिकारों की रक्षा हेतु हुआ महिला आयोग का गठन-राखी त्यागी ,मा0 सदस्या ने की जन सुनवाई, प्राप्त प्रकरणों पर दिये समयबद्ध निस्तारण के निर्देश

0
135

मेरठ : भारतीय संविधान ने समानता की दृष्टि से महिला और पुरूष को समान मौलिक अधिकार दिये गये है। महिलाओं के मौलिक अधिकारों की रक्षा हेतु महिला आयोग का गठन किया गया है जो समय समय पर सभी जनपदों में पहुंचकर महिलाओं के हितों की रक्षा करता है, यह उदगार आज उ0 प्र0 राज्य महिला आयोग की मा.सदस्या श्रीमती राखी त्यागी ने जनपद में महिला प्रकरणों की जनसुनवाई के दौरान व्यक्त किये। उन्होंने पुलिस अधिकारियों से कहा कि आयोग एवं सरकार के सख्त निर्देश है कि महिलाओं के उत्पीड़न सम्बंधी मामलों को गम्भीरता से लेकर उसका समयबद्ध निस्तारण किया जाए इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही अक्ष्मय होगी। जनसुनवाई के दौरान मा0 सदस्या के समक्ष महिला उत्पीडन के 10 प्रकरण प्रस्तुत किये गये, जिसके निस्तारण हेतु सम्बंधित को निर्देश दियेे।
सर्किट हाउस सभागार में जनसुनवाई करते हुए मा0 सदस्या श्रीमती राखी त्यागी ने कहा कि महिलाओं को भी समाज में पुरूषों के समान अधिकर प्राप्त है इसलिए वह अपने अधिकारों के प्रति जागरूक रहंे और भावनात्मक रूप से मजबूत बनें। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि महिलाओं का शोषण किसी भी स्तर पर बर्दाशस्त नहीं होगा, जिसके लिये पुलिस अधिकारी उनके साथ घटित घटना की प्राथमिकता पर एफआईआर दर्ज कर, ससमय समुचित कार्यवाही अमल में लाये। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वह महिला उत्पीड़न सम्बंधी घटनाओं से महिला आयोग को भी ससमय अवगत करायें।
मा0 सदस्या ने महिलाओं से अपील करते हुए कहा कि वह अपने उत्पीड़न को कतई भी बर्दाश्त न करें, बल्कि उसका डटकर सामना करें। उन्होंने बताया कि महिलाओं की सहायता हेतु आयोग द्वारा व्हाटस ऐप नम्बर 06306511708 जारी किया गया है, जिस पर कोई भी पीड़ित महिला अपनी आईडी सहित अपनी समस्या को शनिवार व रविवार को छोड़कर किसी भी कार्यदिवस में प्रातः 10 बजे से 05 बजे तक भेज सकती है। जनसुनवाई में मा0 सदस्या ने महिला उत्पीड़न सम्बंधी 10 प्रकरणों को गम्भीरता से सुना और संबंधित अधिकारी से मौके पर प्रकरण की जानकारी लेकर आवश्यक कार्रवाई हेतु निर्देशित किया।
इसके बाद मा0 सदस्या ने पूर्वाशेखलाल स्थित कस्तूरबा गांधी विद्यालय का निरीक्षण कर यहंा की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने खाने की गुणवत्ता का जायजा लिया तथा समय-समय चिकित्सा विशेषज्ञो की टीम द्वारा उनका स्वास्थ्य परीक्षण कराने के लिए भी संबंधित को निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि यहंा पर जो भी बालिकायें निवासरत है उनके लिए खानपीन ,स्वास्थय, शिक्षा सुरक्षा आदि का विशेष ध्यान रखें और बालिकाओं को उनकी रूची के अनुसार कौशल प्रशिक्षण भी अवश्य दिलवायें।
इस अवसर पर उपमुख्य परिवीक्षा अधिकारी मेरठ मण्डल श्रवण कुमार गुप्ता, प्रभारी जिला कार्यक्रम अधिकारी, प्रभारी महिला थाना रघुवीर कौर सहित आशा ज्योति केन्द्र की काउंसलर, व सदस्या सहित सम्बंधित पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित रहे।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

9 − five =