Saturday, July 20

स्वामी प्रसाद मौर्य की बेटी संघमित्रा को युवक ने बताया पत्नी, कोर्ट ने भेजा नोटिस

Pinterest LinkedIn Tumblr +

लखनऊ 18 नवंबर । समाजवादी पार्टी के नेता स्वामी प्रसाद मौर्य और उनकी बीजेपी सांसद बेटी संघमित्रा मौर्य नए विवाद में घिरते नजर आ रहे हैं। एमपी/एमएलए कोर्ट ने एक मामले में स्वामी प्रसाद मौर्य और संघमित्रा मौर्य सहित 5 लोगों को बतौर आरोपी तलब किया है। दरअसल एक युवक ने ख़ुद को संघमित्रा का पति बताते हुए कोर्ट में परिवाद दाखिल किया है। युवक का नाम दीपक कुमार स्वर्णकार बताया जा रहा है। परिवादी ने आरोपितों पर गुमराह करके संघमित्रा से शादी करवाने, जानलेवा हमला करवाने और लोकसभा चुनाव 2019 में चुनाव आयोग को दिए शपथ पत्र में विवाह के संबंध में गलत जानकारी देने का आरोप लगाया गया है। गवाहों और सबूतों के आधार पर एमपी/एमएलए कोर्ट ने संघमित्रा मौर्य को धोखाधड़ी और बगैर तलाक के दूसरी शादी के मामले तलब किया है। वहीं स्वामी प्रसाद मौर्य व अन्य पर मारपीट, जान से मारने की धमकी, आपराधिक साजिश की धाराओं के तहत तलब किया है। अगली सुनवाई 6 जनवरी 2024 को होगी।

युवक द्वारा कोर्ट में दिए परिवाद प्रार्थना पत्र के मुताबिक वह 2016 से संघमित्रा मौर्य के साथ लिव इन रिलेशनशिप में था। संघमित्रा और स्वामी प्रसाद ने बताया था कि संघमित्रा की पहली शादी से तलाक हो चुका है। इसके बाद उसने 3 जनवरी, 2019 को संघमित्रा मौर्य के साथ उसके ही घर पर शादी कर ली थी। उसने आरोप लगाया कि इसके बाद भी मई, 2019 के चुनावी शपथ पत्र में संघमित्रा ने खुद को अविवाहित बताया। बाद में पता चला की संघमित्रा का मई 2021 में तलाक हुआ था। जब उसने वर्ष 2021 में विधि-विधान से शादी करने के लिए कहा तो स्वामी प्रसाद मौर्य ने उसके ऊपर कई बार विभिन्न स्थानों पर जानलेवा हमला कराया। नवंबर 2021 को कुशीनगर में युवक के साथ मारपीट की गई थी।
इस दौरान युवक ने कोर्ट में अपना और अपने गवाह का बयान भी दर्ज कराया। जिसके बाद विशेष एसीजेएम अम्बरीश श्रीवास्तव ने स्वामी प्रसाद मौर्य, संघमित्रा समेत पांच को कोर्ट में पेश होने का आदेश देते हुए सुनवाई की अगली तारीख 6 जनवरी, 2024 की तय की है।

Share.

About Author

Leave A Reply