Thursday, June 13

व्यापारी एवं राजनेता रमेश ढींगरा हुए पंचतत्व में विलीन

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 05 जनवरी (प्र)। अपने समय के सबसे प्रतिष्ठित होटलों में शुमार आबूलेन स्थित राजमहल होटल के संस्थापक मालिक राजनेता पंजाबी संगठन उप्र के पूर्व चेयरमैन पंजाबी अकाडमी उप्र के पूर्व अध्यक्ष तथा मेरठ कैन्ट विधान सभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़े वरिष्ठ राजनेता व व्यापारी नेता रमेश धींगरा का अंतिम संस्कार आज दिन में लगभग 1 बजे स्थानीय सूरजकुंड पर धार्मिक रीति रिवाजों के अनुसार उनके बड़े पुत्र हिमांशु ढींगरा द्वारा मुखाग्नि देकर किया गया।

बताते चले कि गत दिवस बीमारी के चलते रमेश ढींगरा जी का निधन हो गया था। आज दिन में 12.30 बजे निजी निवास स्थान देवपुरी से चलकर सूरजकुंड पहुंची अंतिम यात्रा जहां सैकड़ो की तादाद में अपनों के साथ मौजूद सभी दलों के राजनेताओं व्यापारियों और पूर्व प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों सहित समाज के सभी वर्गों ने स्वर्गीय ढींगरा को अपने चरणों में स्थान देने की परम पिता परमात्मा से प्रार्थना की। तथा हिमांशु दिपांशु ईशान साक्षी पूर्वर्शी हीर व वीराज ढींगरा आदि को सांत्वना देते हुए हर सुख दुख में साथ रहने का विश्वास दिलाया। बताते चले कि अगर रमेश ढींगरा मेरठ में होते तो वो प्रतिदिन काली पलटन मंदिर दर्शनों के लिए जरूर जाते थे जो इस बात का प्रतीक है कि भगवान में उनकी कितनी आस्था थी। एक समय था जब होटल राजमहल बना तो उसमें भोजन करने जाने और रमेश ढीगरा से बात करने में लोग अपनी शान समझा करते थे।

Share.

About Author

Leave A Reply