Thursday, June 13

सीआरपीएफ कॉन्स्टेबल ने पत्नी से तंग होकर की खुदकुशी

Pinterest LinkedIn Tumblr +

पलवल 23 सितंबर। हरियाणा के पलवल में एक व्यक्ति का शव सदर थाना क्षेत्र के अटोहा गांव के निकट एक पेड़ से लटका हुआ मिला। शव की पहचान होने पर मृतक के पिता ने उसकी पत्नी, पत्नी के प्रेमी सहित उसकी ससुराल वालों पर आत्महत्या के लिए मजबूर करने का केस दर्ज कराया है। आज शव को पोस्टमार्टम के बाद उसके परिजनों को सौंप दिया। मृतक सतीश अस्पताल में रेडियो ऑपरेटर था और उसकी पत्नी वंदना सीआरपीएफ में कॉन्स्टेबल है।

सदर थाना प्रभारी छत्रपाल के अनुसार, कानपुर (यूपी) के आशा नगर निवासी नयन सिह ने दी शिकायत में कहा है कि उसके बेटे सतीश को उसकी पत्नी वंदना कुशवाह प्रताड़ित करती थी। वंदना ने उनके खिलाफ दहेज का झूठा मुकदमा भी कानपुर में दर्ज कराया हुआ है।

आरोप है कि सतीश की पत्नी वंदना, वंदना के प्रेमी एसआई संदीप, पिता प्रकाश, माता ज्ञानवती, भाई कुलदीप व संदीप, जीजा नीरज, बहन अर्चना, मामा कामता व नाना उसके बेटे सतीश को प्रताड़ित करते थे। उससे पैसे मांगते थे। वंदना पति सतीश से कानपुर वाले प्लाट को अपने नाम कराने पर अड़ी हुई थी। आरोप है कि 25 अगस्त को वंदना कुशवाह उसके बेटे को समझौता करने का षडयंत्र रच कर दिल्ली ले गई।

आरोप है कि दिल्ली के मयूर होटल में ठहरे तो वंदना ने सतीश को नशीला पदार्थ खाने में खिला दिया। इसके बाद वंदना व उसके उक्त परिजन सतीश को मरा हुआ समझकर फेंक कर चले गए। उसके बेटे को जब होश आया तो उसने उन्हें (अपने पिता) फोन पर आपबीती सुनाई।
तब तक वंदना दिल्ली के आदर्श नगर थाने में मुकदमा दर्ज करा चुकी थी, जिसके कारण वे डर गए थे। इसी कारण वे वंदना व उसके परिजनों के खिलाफ कोई मुकदमा भी दर्ज नहीं करवा पाए।
अब पुलिस द्वारा सूचना प्राप्त हुई है कि सतीश का शव पलवल सदर थाना क्षेत्र में पाया गया है। पिता का आरोप है कि उक्त लोगों की प्रताड़ना से तंग आकर उसके बेटे ने आत्महत्या की है। नयन सिंह अन्य परिजनों के साथ 22 सितंबर को पलवल पहुंचा और सदर थाना में अपनी शिकायत दी।
सदर थाना पुलिस ने शिकायत पर उसके मृतक बेटे सतीश की पत्नी वंदना कुशवाह व प्रेमी एसआई संदीप सहित वंदना के परिजनों के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मुकदमा दर्ज कर शनिवार को शव को पोस्टमॉर्टम के बाद उसके परिजनों को सौंप दिया।

Share.

About Author

Leave A Reply