Saturday, April 13

दूध में कास्टिक सोडा मिलने पर डीएमएस का लाईसेंस किया रद्द, आपूर्ति की बंद

Pinterest LinkedIn Tumblr +

नई दिल्ली 16 अक्टूबर। दिल्ली दूध योजना (डीएमएस) शनिवार से दूध की आपूर्ति नहीं कर पाएगी। दूध में कास्टिक सोडा पाए जाने के बाद भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) की क्षेत्रीय इकाई ने दिल्ली दूध योजना का लाइसेंस तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।
शुक्रवार सुबह आदेश जारी किए गए, जिसमें कहा गया कि डीएमएस किसी भी तरह से दूध का उत्पादन और बिक्री नहीं कर सकेगा।

दो महीने पहले दिल्ली में डीएमएस के शादीपुर प्लांट में कास्टिक सोडा मिला था. उस दौरान बताया गया था कि उक्त दूध की आपूर्ति राजधानी में संचालित 400 बूथों और 800 दुकानों में की गयी थी. डीएमएस ने अनियमितता को स्वीकार किया था और सभी आधे लीटर के पैकेट वापस लेने का लिखित आदेश जारी किया था।

सभी बूथ संचालकों को पीने योग्य नहीं रह गए दूध के सभी पैकेट एकत्र कर डीएमएस को भेजने को कहा गया। ये दूध के पैकेट 20 जुलाई को तैयार किए गए थे और इन्हें जुलाई तक इस्तेमाल किया जा सकता था

डीएमएस वर्तमान में दिल्ली में आधा लीटर, एक लीटर और पांच लीटर के पैक में दूध की आपूर्ति करता है। दूध की आपूर्ति संसद भवन, सांसदों के आवास, साउथ एवेन्यू, नॉर्थ एवेन्यू, बंगाली मार्केट और एम्स और आरएमएल अस्पतालों के बूथों पर भी मरीजों को की जाती है।

Share.

About Author

Leave A Reply