Monday, December 4

दिल्ली में एक नवंबर से केवल सीएनजी इलेक्ट्रिक और बीएस-6 बसों को ही एंट्री

Pinterest LinkedIn Tumblr +

नई दिल्ली, 30 अक्टूबर। दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने गत दिवस कहा कि एक नवंबर से दिल्ली में सिर्फ इलेक्ट्रिक, सीएनजी एवं भारत स्टेज (बीएस)- 6 बसें ही एंट्री ले सकेंगी। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान के एनसीआर क्षेत्रों में संचालित होने वाली बीएस-3 और बीएस-4 बसों का दिल्ली में प्रवेश प्रतिबंधित करे। एक नवंबर से सभी एंट्री प्वाइंट पर परिवहन विभाग द्वारा एक चेकिंग अभियान भी चलाया जाएगा।
गोपाल राय वाहन प्रदूषण की रोकथाम की दिशा में कश्मीरी गेट आइएसबीटी का निरीक्षण किया। उन्होंने एनसीआर से आने वाली डीजल बसों के चालकों को इस बारे में जानकारी भी दी।

पर्यावरण मंत्री ने बताया कि अभी के समय में गाड़ियों से प्रदूषण कहीं ज्यादा हो रहा है। दिल्ली में सभी बसें सीएनजी पर चल रही हैं। 800 से ज्यादा इलेक्ट्रिक बसें भी चल रही हैं। लेकिन उत्तर प्रदेश, हरियाणा एवं राजस्थान के एनसीआर जिलों से चलने वाली बीएस-3 और बीएस-4 डीजल बसों के कारण दिल्ली में प्रदूषण बढ़ रहा है।

आइएसबीटी में निरीक्षण के दौरान उन्होंने पाया गया कि यूपी और हरियाणा से जो भी बसें यहां आई हैं, वो सब बीएस-3 और बीएस- 4 हैं। वहां से कोई भी बसें अभी इलेक्ट्रिक और सीएनजी की नहीं आई है। इसीलिए हम मांग करते हैं कि केंद्र हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान के एनसीआर क्षेत्रों में संचालित होने वाली बीएस 3 और बीएस 4 बसों पर प्रतिबंध लागू करे।

राय ने आगे कहा कि एनसीआर के प्रदूषण का प्रभाव भी दिल्ली पर पड़ता है। अतः एनसीआर में इलेक्ट्रिक, सीएनजी एवं बीएस-6 बसों को ही अनुमति दी जाए। वहां बीएस-3 एवं बीएस-4 बसों पर पूर्णतया प्रतिबंध लागू की जाए।

Share.

About Author

Leave A Reply