Wednesday, May 22

बैंक के चैक बॉक्स से चैक चोरी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, 3 गिरफ्तार

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मुजफ्फरनगर 11 नवंबर। पुलिस ने एक ऐसे गिरोह का भंडाफोड किया है, जो बैंकों के चैक बॉक्स से चैक चोरी कर फर्जी, क्लोन चैक तैयार कर दूसरी शाखाओं से कैश कराते थे। पुलिस ने इस गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया है, जिनके कब्जे से ढाई लाख की नकदी, एक कार, मोबाइल, लेपटॉप व विभिन्न बैंकों की पासबुक व चैकबुक भी बरामद की गई है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संजीव सुमन ने पुलिस लाइन के सभागार में पत्रकारों से वार्ता करते हुए बताया कि पिछले कुछ दिनोंं से ऐसी शिकायतें सामने आ रही थी, जिसमें बैंक के चैक बॉक्स से चैक चोरी कर उक्त नम्बर के फर्जी चैक तैयार कर दूसरी शाखाओं से कैश कराये जा रहे थे। इस मामले में नईमंडी कोतवाली में भी एक मामला दर्ज हुआ, जिसमें वादी रोबिन वर्मा शाखा प्रबंधक बैंक ऑफ बडौदा गांधी कालोनी द्वारा बताया गया था कि अज्ञात व्यक्ति ने उनकी शाखा के चैक बॉक्स से चैक चोरी कर लिया और उसे दूसरी शाखा से कैश करा लिया।

इस गंभीर मामले के खुलासे के लिये पुलिस टीम तैयार की गई, जिसमें नई मंडी कोतवाली प्रभारी बबलू सिंह व अन्य पुलिसकर्मी शामिल किये गये। पुलिस टीम ने इस घटना के खुलासे के लिये भागदौड की और तीन लोगों को पचेंडा रोड पर नसीरपुर जाने वाले रास्ते गिरफ्तार किया, जिन्होंने पूछताछ में अपने नाम दीपक सैनी पुत्र राजेन्द्र सैनी निवासी चावला कालोनी थाना बल्लभगढ, जिला फरीदाबाद हरियाणा, हरिओम यादव पुत्र रायसिंह यादव निवासी नगंला खिन्नी, थाना पटियाली जनपद कासगंज व अंकित पुत्र कल्याण सिंह निवासी परतापुर थाना पटियाली जनपद कासगंज बताया है। पकडे गये तीनों बदमाशों में दीपक सैनी गैंग लीडर है।

बदमाशों के कब्जे से एक गाडी हुंडई एसेंट, ढाई लाख की नकदी, दो मोबाइल फोन, एक प्रिंटर, एक लेपटॉप, एक पिटठू बैग, दो ताले, 47 चाबी, अलग-अलग व्यक्तियों के आधार कार्ड, अलग-अलग बैंकों की चैकबुक व पासबुक बरामद की गई है।

पुलिस पूछताछ में गैंग लीडर दीपक सैनी ने बताया कि उसके गैंग में 6 सदस्य है, जो गाडी से अलग-अलग शहरों में जाते हैं और वहां के बैंकों से चैक बॉक्स खोलकर चैक चोरी करते हैं, इसके लिये डुप्लीकेट चाबियां प्रयोग में लाई जाती है। इसके बाद लेपटॉप व प्रिंटर से फर्जी, क्लोन चैक तैयार कर दूसरी शाखाओं से चैक को कैश करा लिया जाता है। अभी तक देहरादून, सहारनपुर, शामली, हरिद्वार, मुरादाबाद, रामपुर, हापुड, अमरोहा जैसे शहरों मेंं जालसाजी कर चैक कैश कराये गये हैं और एटीएम के माध्यम से भी फर्जी तरीके से खुलवाये गये बैंक खातों से कैश निकाला गया है।

Share.

About Author

Leave A Reply